वर्ल्ड कप की करो तैयारी यहां भी आ रहे भगवाधारी !

bcci-launch-saffron-jersey-for-team-india
बीसीसीआई द्वारा आधिकारिक जर्सी जारी किए जाने के बाद से सोशल मीडिया में इसकी काफी ज्यादा तारीफ और आलोचना दोनों ही देखने को मिल रही है।

नई दिल्ली। विश्व कप 2019 अभियान को भारतीय टीम ने जीत के साथ आगे बढ़ाया है और इसी क्रम को वह 30 जून को इंग्लैंड के खिलाफ भी दोहराना चाहेगी। इस मुकाबले में टीम इंडिया अपनी पारम्परिक जर्सी की जगह पर भगवा रंग की वैकल्पिक जर्सी के साथ मैदान पर उतरेगी। जिसकी तस्वीरें बीसीसीआई ने आधिकारिक तौर पर जारी कर दी हैं। इस जर्सी के सामने आने के बाद से सोशल मीडिया में इसकी काफी ज्यादा तारीफ और आलोचना दोनों ही देखने को मिल रही है।

इसे भी पढ़ें: भगवा जर्सी पहनकर टीम इंडिया करेगी इंग्लैंड का सामना, जानिए इसके पीछे का पूरा सच

फोटो पर कमेंट करते हुए एक यूजर ने लिखा कि वर्ल्डकप की करो तैयारी यहां भी आ रहे भगवाधारी। इतना ही नहीं एक यूजर ने फोटो पर एडिट करके लिखा कि तेल लगा लो डाबर का, नाम मिटा दो बाबर का... इस यूजर ने इसे पाकिस्तानी खिलाड़ी बाबार आजम से जोड़ा। जिसने हाल ही में भारतीय कप्तान विराट कोहली को पीछे छोड़ते हुए सबसे तेज 3,000 रन बना लिए।

इतना ही नहीं कई यूजर्स ने तो इसे संघ से भी जोड़ दिया तो कुछ ने लिखा कि अब भगवाधारी इंग्लैंड में भी फतह करेंगे। एक यूजर ने तो फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग के फोटो को एडिट करके उसमें लिखा कि मंदिर वहीं बनाएंगे इस तरह से काफी पोस्ट सोशल मीडिया में वायरल हो रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: प्रबल दावेदार मानी जा रही इंग्लैंड पर लग सकता है विराम

आखिर क्यों भारतीय टीम को पहननी पड़ रही है वैकल्पिक जर्सी

आईसीसी का नियम कहता है कि जिस मैच का प्रसारण टीवी में हो रहा हो उस मैच में दोनों टीमें एक ही तरह दिखने वाली जर्सी का इस्तेमाल नहीं कर सकती हैं। यह नियम आईसीसी ने फुटबॉल के 'होम और अवे' मुकाबलों में पहनी जाने वाली जर्सी से प्रेरित होकर बनाया था।

आईसीसी का नियम यह भी कहता है कि जो भी देश विश्व कप की मेजबानी कर रहा हो उसे अपनी जर्सी पहनने की छूट होती है और इस बार के विश्व कप की मेजबानी इंग्लैंड कर रहा है। ऐसे में मेजबानी टीम अपनी पूर्व निर्धारित जर्सी का इस्तेमाल करेगी। जिसकी वजह से टीम इंडिया को अपनी वैकल्पिक जर्सी पहननी पड़ेगी।

अन्य न्यूज़