ओलंपिक के लिये क्वालीफाई कर चुके चार मुक्केबाज हुए TOPS में शामिल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 30, 2020   16:31
  • Like
ओलंपिक के लिये क्वालीफाई कर चुके चार मुक्केबाज हुए TOPS में शामिल

ओलंपिक के लिये क्वालीफाई कर चुके चार मुक्केबाज टॉप्स में शामिल हुए है।पुरूष मुक्केबाजों में एशियाई रजत पदक विजेता आशीष कुमार (75 किलो) और एशियाई खेलों के कांस्य पदक विजेता सतीश कुमार (प्लस 91 किलो) शामिल किये गए हैं।

नयी दिल्ली। ओलंपिक के लिये क्वालीफाई कर चुके चार भारतीय मुक्केबाजों को खेल मंत्रालय की टारगेट ओलंपिक पोडियम (टॉप्स) योजना में शामिल किया गया है। भारतीय खेल प्राधिकरण ने यह जानकारी दी। इन मुक्केबाजों में विश्व चैम्पियनशिप कांस्य पदक विजेता सिमरनजीत कौर (60 किलो) और एशियाई पदक विजेता पूजा रानी (75 किलो) शामिल हैं। एम सी मेरीकॉम पहले ही से इस योजना का हिस्सा है।

इसे भी पढ़ें: विराट कोहली पर बरसे गंभीर! कहा- विश्व क्रिकेट में कोई भी कप्तान नहीं लेगा ऐसा फैसला...

पुरूष मुक्केबाजों में एशियाई रजत पदक विजेता आशीष कुमार (75 किलो) और एशियाई खेलों के कांस्य पदक विजेता सतीश कुमार (प्लस 91 किलो) शामिल किये गए हैं। इसमें अमित पंघाल (52 किलो), मनीष कौशिक (63 किलो) और विकास कृष्णन (69 किलो) पहले ही से शामिल हैं। लवलीना बोरगोहेन और कविंदर सिंह भी कोर समूह का हिस्सा हैं। साइ ने बताया ,‘‘ निकहत जरीन (51 किलो) , सोनिया चहल (57 किलो)और शिवा थापा (63 किलो) को टॉप्स डेवलपमेंटल ग्रुप से कोर ग्रुप में शामिल किया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




दक्षिण अफ्रीका में शिविर लगाने की योजना बना रहा है भारतीय तैराकी महासंघ

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   16:04
  • Like
दक्षिण अफ्रीका में शिविर लगाने की योजना बना रहा है भारतीय तैराकी महासंघ

भारतीय तैराकी महासंघ दक्षिण अफ्रीका में शिविर लगाने की योजना बना रहा है। एसएफआई महासचिव मोनल चोकसी ने कहा, ‘‘टीम मार्च में किसी समय जायेगी और अंतिम टूर्नामेंट 29 मई के करीब है इसलिये तैराक वहीं ट्रेनिंग करेंगे और प्रतियोगिता में भाग लेंगे। ’’

नयी दिल्ली। भारतीय तैराकी महासंघ (एसएफआई) अपने तैराकों के लिये मार्च में दक्षिण अफ्रीका में शिविर लगाने की योजना बना रहा है लेकिन यह देश में कोविड-19 हालात पर निर्भर करेगा। दस सीनियर और इतने ही जूनियर तैराकों का ग्रुप (20 तैराक) प्रिटोरिया या स्टेलेनबॉश के हाई परफोरमेंस सेंटर में ट्रेनिंग करेंगे और वे डरबन में होने वाली फिना क्वालीफाइंग प्रतियोगिता में हिस्सा लेंगे। एसएफआई महासचिव मोनल चोकसी ने कहा, ‘‘टीम मार्च में किसी समय जायेगी और अंतिम टूर्नामेंट 29 मई के करीब है इसलिये तैराक वहीं ट्रेनिंग करेंगे और प्रतियोगिता में भाग लेंगे। ’’

इसे भी पढ़ें: धोनी से तुलना किए जाने पर पंत ने कहा, 'खुद का बनाना चाहता हूँ नाम'

हालांकि कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए दक्षिण अफ्रीका में इस समय यात्रा संबंधित पाबंदियां लगी हुई हैं लेकिन एसएफआई को उम्मीद है कि मार्च तक हालात में सुधार होगा। चोकसी ने कहा, ‘‘दक्षिण अफ्रीका में नये म्यूटेंट स्ट्रेंट की मौजूदगी से अचानक हालात खराब हो गये हैं। वहां अब लॉकडाउन लग गया है लेकिन अभी तो जनवरी ही है और शिविर मार्च में हैं। इस प्रस्ताव को भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) द्वारा मंजूरी मिल चुकी है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




भारतीय जूनियर टीम ने चिली को 2-2 से ड्रॉ पर रोका, शनिवार को होंगे दो और मुकाबले

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   12:53
  • Like
भारतीय जूनियर टीम ने चिली को 2-2 से ड्रॉ पर रोका, शनिवार को होंगे दो और मुकाबले

भारत की जूनियर महिला हॉकी टीम ने चिली की सीनियर टीम को 2-2 से ड्रॉ पर रोक दिया है।भारत ने वापसी करते हुए मैच पर नियंत्रण बनाने का प्रयास किया लेकिन मेजबान टीम ने अपने मजबूत डिफेंस की बदौलत मध्यांतर तक 1-0 की बढ़त को बरकरार रखा।

Tसेंटियागो। भारत की जूनियर महिला हॉकी टीम ने दो बार पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए यहां दौरे के अपने चौथे मैच में चिली की सीनियर टीम को 2-2 से बराबरी पर रोक दिया। चिली ने मारियाना डेल जीसस लागोस (21वें मिनट) और फर्नांडा विलाग्रेन (51वें मिनट) के गोल की बदौलत प्रिंस आफ वेल्स कंट्री क्लब में दो बार बढ़त बनाई लेकिन दीपिका (40वें मिनट) और गगनदीप कौर (55वें मिनट) ने भारत को वापसी दिलाते हुए मैच ड्रॉ करा दिया। दौरे के शुरुआती तीन मैचों में तीन जीत के साथ आत्मविश्वास के साथ भरी भारतीय टीम ने मैच में तेज शुरुआत की लेकिन पहले 15 मिनट में चिली के डिफेंस को भेदकर कोई बड़ा मौका बनाने में विफल रही। दूसरी तरफ चिली ने पलटवार की रणनीति अपनाई और उसे इसका फायदा दूसरे क्वार्टर में मिला।

इसे भी पढ़ें: 11 महीने बाद टेनिस में वापसी करेगी विश्व की नंबर एक टेनिस खिलाड़ी एश बार्टी

चिली की मारियाना को भारत के गोल के सामने करार शॉट खेलने का पर्याप्त समय मिला जिससे उन्होंने अपनी टीम को बढ़त दिला दी। भारत ने वापसी करते हुए मैच पर नियंत्रण बनाने का प्रयास किया लेकिन मेजबान टीम ने अपने मजबूत डिफेंस की बदौलत मध्यांतर तक 1-0 की बढ़त को बरकरार रखा। तीसरे क्वार्टर में भारतीय टीम ने कई मौके बनाए। पेनल्टी कॉर्नर पर कई मौके गंवाने के बाद भारत ने 40वें मिनट में दीपिका के मैदानी गोल की बदौलत बराबरी हासिल की। चिली को 51वें मिनट में पेनल्टी स्ट्रोक मिला जब भारतीय टीम ने फाउल किया। विलाग्रेन ने इसे गोल में बदलकर चिली को 2-1 से आगे किया। भारत ने हालांकि चार मिनट के भीतर की बराबरी हासिल कर ली जब उसे पेनल्टी स्ट्रोक मिला और गगनदीप ने चिली की गोलकीपर को छकाते हुए स्कोर 2-2 कर दिया। दोनों टीमों ने इसके बाद गोल करने में प्रयास किए लेकिन सफलता नहीं मिली। भारतीय टीम शनिवार और रविवार को चिली की सीनियर टीम के खिलाफ दो मुकाबले और खेलेगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




कोरोना महामारी के कारण तोक्यो ओलंपिक पर मंडरा रहा खतरा, रद्द होने की आशंका

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   11:19
  • Like
कोरोना महामारी के कारण तोक्यो ओलंपिक पर मंडरा रहा खतरा, रद्द होने की आशंका

द टाइम्स आफ लंदन ने सरकारी सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि खेलों को रद्द किया जाएगा। इसने सत्ताधारी गठबंधन के वरिष्ठ सदस्य के हवाले से यह खबर दी है।सूत्र ने कहा, ‘‘कोई भी सबसे पहले इस बात को नहीं कहना चाहता लेकिन सहमति यह है कि इसका आयोजन बेहद मुश्किल है।

तोक्यो। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) के अध्यक्ष थॉमस बाक और स्थानीय आयोजकों को इन खबरों से जूझना पड़ रहा है कि स्थगित हो चुके तोक्यो ओलंपिक को रद्द कर दिया जाएगा। कोरोना वायरस महामारी के फैलने पर 10 महीने पहले स्थगित किए गए तोक्यो खेलों का उद्घाटन समारोह 23 जुलाई को होना है लेकिन इन खेलों पर एक बार फिर खतरा मंडरा रहा है। द टाइम्स आफ लंदन ने सरकारी सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि खेलों को रद्द किया जाएगा। इसने सत्ताधारी गठबंधन के वरिष्ठ सदस्य के हवाले से यह खबर दी है।

इसे भी पढ़ें: 11 महीने बाद टेनिस में वापसी करेगी विश्व की नंबर एक टेनिस खिलाड़ी एश बार्टी

सूत्र ने कहा, ‘‘कोई भी सबसे पहले इस बात को नहीं कहना चाहता लेकिन सहमति यह है कि इसका आयोजन बेहद मुश्किल है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘निजी तौर पर मुझे नहीं लगता कि इसका आयोजन होगा।’’ शुक्रवार को हालांकि स्थानीय आयोजन समिति ने प्रत्यक्ष रूप से द टाइम्स की खबर का हवाला दिए बगैर कहा कि ओलंपिक के आयोजन की तैयारी आगे बढ़ रही है और उन्हें प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा का समर्थन हासिल है। बयान में कहा गया, ‘‘राष्ट्रीय सरकार, तोक्यो राज्य सरकार, तोक्यो 2020 आयोजन समिति, आईओसी और आईपीसी (अंतरराष्ट्रीय पैरालंपिक समिति) सहित हमारे सभी साझेदारों का ध्यान इन गर्मियों में खेलों की मेजबानी पर है।’’ इसके अनुसार, ‘‘हमें उम्मीद है कि जितना जल्दी संभव हो दैनिक जीवन सामान्य होगा और हम सुरक्षित खेलों के आयोजन के लिए प्रयास जारी रखेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept