भारतीय महिला तिकड़ी ने 10 मीटर एयर पिस्टल विश्व कप में जीता कांस्य पदक

Indian womens team win bronze in 10m air pistol event
भारतीय पुरूष टीम को तीसरे स्थान के मैच में सर्बिया की टीम से 14-16 से हार मिली जिसमें मिलेंको सेबिच, मिलुटिन स्टेफानोविच और लजर कोवासेविच शामिल थे। अंजुम मौदगिल, अपूर्वी चंदेला और इलावेनिल वलारिवान की महिला 10 मीटर एयर राइफल टीम का निराशाजनक प्रदर्शन जारी रहा जो क्वालीफिकेशन दौर में कुल 1867.7 अंक से 11वें स्थान पर रहीं।

ओसियेक (क्रोएशिया)। मनु भाकर, यशस्विनी सिंह देसवाल और राही सरनोबत की भारतीय तिकड़ी ने शुक्रवार को यहां आईएसएसएफ विश्व कप में 10 मीटर एयर पिस्टल महिला टीम स्पर्धा में कांस्य पदक हासिल किया। भारतीय महिला एयर पिस्टल टीम ने वेरोनिका मेजर, मिरियम जाको और सारा राहेल फैबियन को कांस्य पदक के मुकाबले में 16-12 से शिकस्त दी। तीनों भारतीयों ने 573 के स्कोर से तीसरे स्थान से फाइनल के लिये क्वालीफाई किया था। इससे पहले ऐश्वर्य प्रताप सिंह तोमर, दीपक कुमार और दिव्यांश सिंह पंवार की भारतीय पुरूष टीम को 10 मीटर एयर राइफल टीम स्पर्धा के कांस्य पदक के मैच में हार का सामना करना पड़ा जबकि महिला निशानेबाज क्वालीफाइंग दौर से आगे नहीं बढ़ सकीं।

इसे भी पढ़ें: महामारी के कारण ‘परेशानी’ के बावजूद तोक्यो के लिए तैयार है भारतीय हॉकी अंपायर

भारतीय पुरूष टीम को तीसरे स्थान के मैच में सर्बिया की टीम से 14-16 से हार मिली जिसमें मिलेंको सेबिच, मिलुटिन स्टेफानोविच और लजर कोवासेविच शामिल थे। अंजुम मौदगिल, अपूर्वी चंदेला और इलावेनिल वलारिवान की महिला 10 मीटर एयर राइफल टीम का निराशाजनक प्रदर्शन जारी रहा जो क्वालीफिकेशन दौर में कुल 1867.7 अंक से 11वें स्थान पर रहीं। ये तीनों निशानेबाज गुरूवार को महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा के फाइनल में भी पहुंचने में असफल रही थीं। हालांकि मनु, यशस्विनी और राही ने कुछ हद तक इस निराशा की भरपायी की। उन्होंने पहली 10 सीरीज में सात को अपने नाम कर 14-6 की बढ़त बना ली जिसमें प्रत्येक टीम की प्रत्येक सदस्य को तीन शाट लगाने को मिलते हैं। जिस टीम का तीनों शाट का सबसे ज्यादा स्कोर रहता है, उसे दो अंक मिलते हैं और सबसे पहले 16 अंक तक पहुंचने वाली टीम जीत जाती हैं हंगरी की टीम ने वापसी करते हुए स्कोर 14-12 कर दिया लेकिन भारतीय महिलाओं ने संयम बरतते हुए कांस्य पदक जीत लिया।

इसे भी पढ़ें: कोपा अमेरिका: उरूग्वे और पराग्वे ने ग्रुप ए का जीता मैच, बोलिविया को 2-0 से हराया

पुरूष स्कीट वर्ग में भारत की ओर से एकमात्र प्रतिस्पर्धी गुरजोत खांगुरा क्वालीफिकेशन में 115 के स्कोर से 56वें स्थान पर रहे। भारत की शुरूआत इस विश्व कप में इतनी अच्छी नहीं रही जिसमें कई निशानेबाज गुरूवार को अपनी स्पर्धाओं के फाइनल में जगह नहीं बना सके। सौरभ चौधरी शुरूआती दिन पदक जीतने वाले एकमात्र भारतीय रहे। 19 साल के इस निशानेबाज ने पुरूषों की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में कांस्य पदक अपने नाम किया। तोक्यो ओलंपिक से पहले यह भारतीय टीम का अंतिम प्रतिस्पर्धी टूर्नामेंट है। 10 मीटर एयर राइफल और एयर पिस्टल मिश्रित टीम स्पर्धाओं के पदक का फैसला शनिवार को होगा। ईरान दो स्वर्ण और एक कांस्य से पदक तालिका में शीर्ष पर चल रहा है। बुल्गारिया के भी दो स्वर्ण है जिससे वह दूसरे स्थान पर है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़