मीराबाई चानू का मेडल गोल्ड में हो सकता है तब्दील ! वेटलिफ्टिंग में चीनी एथलीट होउ पर डोपिंग का शक

मीराबाई चानू का मेडल गोल्ड में हो सकता है तब्दील ! वेटलिफ्टिंग में चीनी एथलीट होउ पर डोपिंग का शक

प्राप्त जानकारी के मुताबिक चीन की एथलीट होऊ झिऊई आज अपने देश लौटने वाली थीं लेकिन उन्हें रुकने के लिए कहा गया है। जिसके बाद अंदेशा जताया जाने लगा कि उनका डोप टेस्ट हो सकता है।

टोक्यो। टोक्यो ओलंपिक में भारत के लिए सिल्वर मेडल जीतने वाली मीराबाई चानू का मेडल गोल्ड में तब्दील हो सकता है। दरअसल, मणिपुर की मीराबाई ने महिलाओं के 49 किलोग्राम स्पर्धा में सिल्वर मेडल जीतकर टोक्यो ओलंपिक में देश का खाता खोला था। इस प्रतिस्पर्धा में चीन की होऊ झिऊई ने गोल्ड मेडल हासिल किया था लेकिन उन पर डोपिंग का शक है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक एंटी डोपिंग एजेंसी ने होऊ झिऊई को सैंपल-B टेस्टिंग के लिए बुलाया है। 

इसे भी पढ़ें: मीराबाई चानू ने ट्रेनिंग के दौरान पिज्जा से बना ली थी दूरी, मेडल जीतने के बाद अब ख्वाहिशें करेंगी पूरी! 

प्राप्त जानकारी के मुताबिक चीन की एथलीट होऊ झिऊई आज अपने देश लौटने वाली थीं लेकिन उन्हें रुकने के लिए कहा गया है। जिसके बाद अंदेशा जताया जाने लगा कि उनका डोप टेस्ट हो सकता है। आपको बता दें कि डोपिंग टेस्ट में एथलीट के फेल होने पर मेडल उनसे छीना जा सकता है और अगर ऐसा होता है तो मीराबाई चानू गोल्ड मेडल जीत जाएंगी।

इसे भी पढ़ें: ओलंपिक पदक विजेता मीराबाई चानू को आजीवन मुफ्त पिज्जा देगा डोमिनोज 

वेटलिफ्टिंग में चीन की होऊ झिऊई ने कुल 210 किग्रा वजन उठाकर गोल्ड मेडल जीता था। भारत की मीराबाई चानू ने 21 साल का इंतजार खत्म कर ओलंपिक में सिल्वर मेडल हासिल किया। जबकि इंडोनेशिया की ऐसाह विंडी कांटिका ने कुल 194 किग्रा का वजन उठाकर ब्रांज मेडल जीता था।