ओलंपिक पदक विजेता लवलीना असम पुलिस में डीएसपी नियुक्त, भावुक हुई खिलाड़ी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 12, 2022   16:21
ओलंपिक पदक विजेता लवलीना असम पुलिस में डीएसपी नियुक्त, भावुक हुई खिलाड़ी

ओलंपिक पदक विजेता लवलीना को असम पुलिस सेवा में शामिल किया गया है।इस मौके पर लवलीना ने भावुक होते हुए पुलिस विभाग का शुक्रिया अदा किया और कहा कि वह राज्य का सम्मान बढ़ाने के लिए हरसंभव प्रयास करेंगी।

गुवाहाटी। ओलंपिक कांस्य पदक विजेता लवलीना बोरगोहेन को बुधवार को असम पुलिस में प्रशिक्षु उपाधीक्षक (डीएसपी) के रूप में शामिल किया गया और मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने विश्वास जताया कि आने वाले समय में लवलीना भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) का हिस्सा होंगी। इस मौके पर लवलीना ने भावुक होते हुए पुलिस विभाग का शुक्रिया अदा किया और कहा कि वह राज्य का सम्मान बढ़ाने के लिए हरसंभव प्रयास करेंगी। सरमा ने लवलीना को राज्य पुलिस में शामिल करने के लिए आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले साल तोक्यो ओलंपिक में बॉक्सिंग में लवलीना का कांस्य पदक जीतना राज्य के खेल इतिहास में अब तक के सबसे गरिमामयी क्षणों में से एक था। उन्होंने कहा कि खिलाड़ी की मौजूदा आयु के मद्देनजर, वह एक दिन असम पुलिस सेवा (एपीएस) में किसी शीर्ष पद पर और बाद में आईपीएस कैडर में पहुंच सकती हैं। सरमा के अनुसार, ‘‘हम सबसे प्रतिभाशाली एपीएस अधिकारियों को आईपीएस कैडर दिये जाने की सिफारिश करते हैं।

इसे भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलियाई ओपन क्वालीफायर से बाहर हुए प्रजनेश गुणेश्वरन, जर्मनी के खिलाड़ी को दी थी कड़ी टक्कर

वह स्वत: ही इसके लिए अर्हता प्राप्त कर लेंगी, जिसके लिए उन्हें इस दरम्यान अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी करनी होगी।’’ उन्होंने कहा कि लवलीना को मासिक वेतन के अलावा अपने प्रशिक्षण खर्च के लिए एक लाख रुपये प्रतिमाह अतिरिक्त राशि दी जाएगी। सरमा ने कहा कि यदि लवलीना को पंजाब के पटियाला में प्रशिक्षण प्राप्त करते रहने में कठिनाई हुई तो राज्य सरकार उनके लिए किसी अंतरराष्ट्रीय स्तर के कोच को गुवाहाटी बुलाने पर विचार कर सकती है। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा, ‘‘हम जल्द ही गुवाहाटी में एक सड़क का नाम लवलीना के नाम पर रखेंगे।’’ राज्य की नयी नीति के तहत पिछले साल से अन्य खिलाड़ियों को भी असम पुलिस में शामिल किये जाने का जिक्र करते हुए सरमा ने कहा कि खेलों को अब पाठ्यक्रम की सहायक गतिविधि की तरह नहीं देखा जाना चाहिए। इस मौके पर लवलीना ने भावुक होते हुए अपने संक्षिप्त भाषण में कहा, ‘‘यह मेरे लिए यादगार दिन है, क्योंकि मैं असम पुलिस में शामिल हो रही हूं। मैं बॉक्सिंग रिंग में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करुंगी, वहीं अपने राज्य एवं उसकी जनता को और अधिक सम्मान दिलाऊंगी।’’ लवलीना ने ओलंपिक में पदक जीतने वाली असम की पहली खिलाड़ी बनने का इतिहास पिछले साल रच दिया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।