पुरानी यादों के जाल में आज भी फंसे हैं अजमल, 2011 वर्ल्ड कप को भूल ही नहीं पा रहे

पुरानी यादों के जाल में आज भी फंसे हैं अजमल, 2011 वर्ल्ड कप को भूल ही नहीं पा रहे

एक किस्सा साल 2011 में खेले गए क्रिकेट वर्ल्ड कप से जुड़ा हुआ है। पाकिस्तानी गेंदबाज सईद अजमल वर्ल्ड कप में भारत के खिलाफ खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले को भूल गी नहीं पा रहे हैं।

कोरोना काल में खिलाड़ी हो, एक्टर हो या फिर आम आदमी सभी अपनी पुरानी यादें ताजा कर रहे हैं। कुछ तो मानो अपनी पुरानी यादों में इस कदर फंस गए हैं कि वह अब तक उससे उबर नहीं पाए। ठीक ऐसा ही एक किस्सा साल 2011 में खेले गए क्रिकेट वर्ल्ड कप से जुड़ा हुआ है। पाकिस्तानी गेंदबाज सईद अजमल वर्ल्ड कप में भारत के खिलाफ खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले को भूल गी नहीं पा रहे हैं।

मैच में क्या हुआ था ?

पूर्व ऑफ स्पिनर सईद अजमल को लगता है कि उन्होंने भारत के खिलाफ खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले में गॉड ऑफ क्रिकेट माने जाने वाले सचिन तेंदुलकर को ऑउट कर दिया था। उस घटना को याद करते हुए सईद अजमल ने कहा कि यह सीधी गेंद थी और विकेटों के आगे उनके पैड से टकराई थी। मुझे पूरा विश्वास था कि वह आउट है। शाहिद अफरीदी, कामरान अकमल, वहाब रियाज और बाकी खिलाड़ियों ने मुझसे पूछा था कि क्या वह आउट है और मैंने कहा कि हां, उसकी पारी समाप्त हो गई है। अंपायर इयान गाउल्ड आउट दे दिया लेकिन ‘रिव्यू’ के बाद फैसला पलट गया। 

इसे भी पढ़ें: तीन साल की कड़ी सजा से बड़े भाई कामरान परेशान, कहा- उमर ले तेंदुलकर, धोनी और कोहली से सीख 

अंपायर गाउल्ड ने दिया था आउट

इंग्लैंड के अंपायर इयान गाउल्ड ने हाल में खुलासा करते हुए कहा था कि सचिन तेंदुलकर उस वक्त आउट थे लेकिन थर्ड अंपायर ने उनका फैसला पलट दिया था।

मोहाली में खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले में सचिन तेंदुलकर ने 85 रन की पारी खेली थी। जिसकी बदौलत भारत ने यह मुकाबला पाकिस्तान से जीत लिया था। जब तेंदुलकर क्रीज पर 23 रन बनाकर खेल रहे थे उस वक्त गाउल्ड ने अजमल की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट दे दिया था। लेकिन थर्ड अंपायर बिली बोडेन ने ‘रिव्यू’ के बाद फैसला पलट दिया और सचिन को नॉटआउट करार दिया। जिसके बाद  सईद अजमल को काफी बुरा लगा था। इसके बाद सचिन तेंदुलकर ने धमाकेदार 85 रन की पारी खेली थी। आईसीसी एलीट पैनल के सदस्य रहे गाउल्ड ने हाल में कहा था कि वह तेंदुलकर को आउट देने के अपने फैसले पर कायम हैं।

अजमल को हुई थी काफी निराशा

एक टीवी चैनल को दिए गए बयान में सईद अजमल ने कहा कि सबसे अधिक निराशा यह रही कि हम सेमीफाइनल में हार गए और तेंदुलकर ने 85 रनों ने भी काफी अंतर पैदा कर दिया था।  पाकिस्तान की तरफ से 35 टेस्ट, 113 वनडे और 64 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले अजमल को आज भी थर्ड अंपायर का फैसला परेशान करता है। 

इसे भी पढ़ें: सचिन तेंदुलकर ने बताया, इस युवा खिलाड़ी से करते थे सबसे ज्यादा बातचीत 

वार्न को अपने इशारों पर नचाते थे तेंदुलकर

वहीं, तेंदुलकर को लेकर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने भी एक खुलासा किया है। स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम ‘क्रिकेट कनेक्टेड’में ब्रेट ली ने कहा कि तेंदुलकर वार्न को अपने इशारों पर नचाया करते थे। ली ने कहा कि वह (तेंदुलकर) कुछ मौकों पर विकेट से आगे आकर वार्न को शार्ट पिच गेंद करने के लिए मजबूर करते थे। कुछ मौकों पर वह बैकफुट पर जाकर गेंद का इंतजार करते और खूबसूरत शॉट खेलते थे। ली ने कहा कि शेन वार्न के साथ ऐसा बहुत कम ही बल्लेबाज कर सकते थे।