तीन साल की कड़ी सजा से बड़े भाई कामरान परेशान, कहा- उमर ले तेंदुलकर, धोनी और कोहली से सीख

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 29, 2020   13:46
तीन साल की कड़ी सजा से बड़े भाई कामरान परेशान, कहा-  उमर ले तेंदुलकर, धोनी और कोहली से सीख

पाकिस्तानी टीम से बाहर चल रहे विकेटकीपर कामरान अकमल ने कहा, ‘‘मेरी उमर को सलाह है कि उसे सीख लेनी चाहिए। अगर उसने गलती की है तो उसे दूसरों से सीखना चाहिए। वह अभी युवा है। जिंदगी में कई विपरीत परिस्थितियां आती हैं। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन उसे विराट कोहली से जरूर सीख लेनी चाहिए।

नयी दिल्ली। पाकिस्तानी टीम से बाहर चल रहे विकेटकीपर कामरान अकमल को लगता है कि तीन साल का प्रतिबंध झेल रहे उनके छोटे भाई उमर अकमल को सचिन तेंदुलकर, महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली के मैदान के अंदर और बाहर के आचरण से सीख लेनी चाहिए। उमर पर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने पाकिस्तान सुपर लीग से पहले भ्रष्ट संपर्कों की जानकारी नहीं देने के लिये तीन साल का प्रतिबंध लगाया है। कामरान ने ‘काउ कार्नर क्रॉनिकल्स’ कार्यक्रम में कहा, ‘‘मेरी उमर को सलाह है कि उसे सीख लेनी चाहिए। अगर उसने गलती की है तो उसे दूसरों से सीखना चाहिए। वह अभी युवा है। जिंदगी में कई विपरीत परिस्थितियां आती हैं। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन उसे विराट कोहली से जरूर सीख लेनी चाहिए। आईपीएल (इंडियन प्रीमियर लीग) के शुरुआती दिनों में विराट अलग तरह का इंसान था और इसके बाद उसने अपना रवैया बदला। देखो वह कैसे विश्व का नंबर एक बल्लेबाज बना। ’’

इसे भी पढ़ें: माइक हसी ने बनाई सर्वश्रेष्‍ठ विरोधी एकादश, इन तीन भारतीय खिलाड़ियों को किया शामिल

कामरान ने कहा कि उनका छोटा भाई तेंदुलकर और धोनी के व्यवहार से भी सीख ले सकता है जो हमेशा विवादों से दूर रहे। उन्होंने कहा, ‘‘हमारा खुद का बाबर आजम है जो अभी दुनिया के शीर्ष तीन बल्लेबाजों में शामिल है। दूसरा उदाहरण धोनी का है। देखिये कि किस तरह से उसने अपनी टीम की अगुवाई की। सचिन पाजी हैं जो हमेशा विवादों से दूर रहे। हमारे सामने ये शानदार उदाहरण हैं।’’ कामरान ने कहा, ‘‘हमें उनके आचरण पर ध्यान देकर उनसे सीखना चाहिए। वे केवल खेल पर ध्यान देते हैं। मैदान के बाहर प्रशंसकों के साथ उनका व्यवहार बहुत अच्छा रहा है और वे खेल के शानदार दूत हैं। हम उनका अनुसरण करके फायदे में ही रहेंगे। ’’

इसे भी पढ़ें: भारत ने गंवाई वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप की मेजबानी, AIBA ने लगाया जुर्माना

कामरान ने कहा कि उनके छोटे भाई को कड़ी सजा दी गयी जबकि इसी तरह के अपराध के लिये दूसरों को कम सजा दी गयी थी। कामरान ने इसके साथ ही उन घटनाओं को याद किया जब वह एशिया कप 2010 में डांबुला में गौतम गंभीर से और फिर 2012-13 में टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान इशांत से भिड़ गये थे। उन्होंने कहा, ‘‘यह गलतफहमी और उस समय मैदान के माहौल की वजह से हुआ। गौतम और मैं अच्छे दोस्त हैं क्योंकि हमने ‘ए’ क्रिकेट काफी खेली है। हम नियमित तौर पर मिलते हैं और साथ में भोजन करते हैं। ’’ कामरान ने कहा, ‘‘यह सब इसलिए हुआ क्योंकि मैं नहीं समझ पाया कि उसने क्या कहा। बेंगलुरू में इशांत के साथ भी ऐसा ही हुआ। आप जानते हैं कि मैं मैदान पर ज्यादा बात नहीं करता। गौतम और इशांत दोनों बहुत अच्छे इंसान है। हम उनका सम्मान करते हैं और वे हमारा सम्मान करते हैं। मैदान पर जो कुछ हुआ वह वहीं तक सीमित है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।