भारत के खिलाफ दिन-रात्रि टेस्ट खेलने को लेकर उत्सुक हैं स्टार्क

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 26, 2020   16:47
भारत के खिलाफ दिन-रात्रि टेस्ट खेलने को लेकर उत्सुक हैं स्टार्क

गुलाबी गेंद से शानदार प्रदर्शन करने वाले आस्ट्रेलिया के स्टार तेज गेंदबाज मिशेल स्टार्क भारत के खिलाफ दिन-रात्रि टेस्ट खेलने को लेकर उत्सुक हैं।स्टार्क ने आस्ट्रेलिया के सभी सात दिन-रात्रि टेस्ट में हिस्सा लिया है और इस दौरान 19.23 के औसत से 42 विकेट चटकाए।

मेलबर्न। गुलाबी गेंद से शानदार प्रदर्शन करने वाले आस्ट्रेलिया के स्टार तेज गेंदबाज मिशेल स्टार्क ने कहा कि वह गर्मियों के घरेलू सत्र के दौरान भारत के खिलाफ दिन-रात्रि में गेंदबाजी करने को लेकर उत्सुक हैं। भारत ने 2018-19 के आस्ट्रेलियाई दौरे के दौरान गुलाबी गेंद से टेस्ट खेलने का क्रिकेट आस्ट्रेलिया का प्रस्ताव ठुकरा दिया था। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने फरवरी में घोषणा की थी कि भारत आगामी दौरे पर एक दिन-रात्रि टेस्ट खेलने पर सहमत हो गया है। स्टार्क ने आनलाइन प्रेस कांफ्रेंस के दौरान संवाददाताओं से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि भारत के खिलाफ श्रृंखला में गुलाबी गेंद का टेस्ट शानदार रहेगा। प्रशंसक इसे पसंद करेंगे, मुझे लगता है कि यह मुकाबले में नया पहलू लेकर आएगा, इस मुकाबले में गेंद और बल्ले के बीच करीबी संघर्ष होगा।’’

इसे भी पढ़ें: ब्रेट ली ने स्टीव स्मिथ को बताया विराट कोहली से बेहतर बल्लेबाज

गुलाबी गेंद के क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करने वाले आस्ट्रेलिया ने इतिहास का पहला दिन-रात्रि टेस्ट न्यूजीलैंड के खिलाफ 2015 में खेला था। अब तक सात दिन-रात्रि टेस्ट खेल चुका आस्ट्रेलिया गुलाबी गेंद के टेस्ट में अजेय है। दूसरी तरफ भारत ने अपना पहला और एकमात्र दिन-रात्रि टेस्ट पिछले साल नवंबर में ईडन गार्डन्स में बांग्लादेश के खिलाफ खेला था और इस मैच में आसान जीत दर्ज की थी। स्टार्क ने कहा, ‘‘भारत ने भारत में गुलाबी गेंद से टेस्ट खेला था इसलिए ऐसा नहीं है कि वे इसके बारे में कुछ नहीं जानते। हां अगर फायदे की बात करें तो गुलाबी गेंद से स्वदेश में हमारा रिकॉर्ड काफी अच्छा है।’’ स्टार्क ने आस्ट्रेलिया के सभी सात दिन-रात्रि टेस्ट में हिस्सा लिया है और इस दौरान 19.23 के औसत से 42 विकेट चटकाए। इस 30 वर्षीय तेज गेंदबाज ने कहा, ‘‘घरेलू मैदान पर खेलने का फायदा हो सकता है लेकिन यह उससे अलग नहीं होगा जब हम भारत में जाएंगे और वे वहां फायदे की स्थिति में होंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘उस श्रृंखला में गुलाबी गेंद का मुकाबला होना शानदार होगा और जहां तक मैंने देखा और सुना है तो भारत इसके लिए तैयार हैं इसलिए यह बेहतरीन होगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

खेल

झरोखे से...