मेस्सी को छेत्री ने छोड़ा पीछे, बोले- मेरे करियर का रहा ये सर्वश्रेष्ठ मैच

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jan 7 2019 5:36PM
मेस्सी को छेत्री ने छोड़ा पीछे, बोले- मेरे करियर का रहा ये सर्वश्रेष्ठ मैच

भारतीय फुटबाल कप्तान सुनील छेत्री ने अर्जेंटीना के सुपरस्टार मेस्सी को पीछे छोड़ा जिन्होंने 128 मैचों में 65 गोल किये हैं।

नयी दिल्ली। भारतीय फुटबाल कप्तान सुनील छेत्री ने सोमवार को कहा कि टीम की एएफसी एशिया कप में पांच से ज्यादा दशक में मिली जीत उनके शानदार अंतरराष्ट्रीय करियर का सर्वश्रेष्ठ मैच था जिसमें उन्होंने सुपरस्टार लियोनल मेस्सी को पछाड़ दिया था। भारत ने रविवार को ग्रुप के शुरूआती मैच में थाईलैंड को 4-1 से पस्त किया जिसमें छेत्री ने दो गोल दागे। टीम ने 1964 के बाद एशिया कप में पहली जीत दर्ज की। छेत्री ने अबुधाबी से ग्रुप ए मैच के बारे में पूछने पर कहा, ‘यह (थाईलैंड) मैच शिखर पर रहेगा। मैं भाग्यशाली हूं कि अपने देश के लिये अच्छे मैच खेल रहा हूं, लेकिन यह मैच इन सबमें शीर्ष पर रहेगा। यह उन मैचों में शामिल है जिसमें टीम सचमुच अच्छा खेली।’

इसे भी पढ़ें: बिना बोले एक दूसरे की बात समझ लेते हैं सुनील और जेजे

इस दौरान वह 105 मैचों में 67 गोल से सक्रिय खिलाड़ियों में सर्वाधिक अंतरराष्ट्रीय गोल करने वाले खिलाड़ियों की सूची में दूसरे नंबर पर पहुंच गये। उन्होंने अर्जेंटीना के सुपरस्टार मेस्सी को पीछे छोड़ा जिन्होंने 128 मैचों में 65 गोल किये हैं। पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो के 154 मैचों में 85 गोल से शीर्ष पर हैं। वर्ष 2005 में भारत के लिये पदार्पण करने वाले छेत्री ने कहा कि उनकी टीम ने थाईलैंड के खिलाफ इतने बड़े अंतर से जीत करने की उम्मीद नहीं की थी। उन्होंने कहा, ‘हमें अच्छे प्रदर्शन का भरोसा था लेकिन ईमानदारी से कहूं तो हमने नहीं सोचा था कि यह 4-1 होगा। थाईलैंड की टीम काफी अच्छी है, तकनीकी तौर पर काफी बेहतर है। हमने किसी ने भी नहीं सोचा था कि हमें 4-1 से जीत मिलेगी लेकिन हमें अच्छे प्रदर्शन का भरोसा था।’

छेत्री ने कहा कि मैं प्रदर्शन से काफी खुश हूं और यह हमारे लिये अच्छी शुरूआत है। मुझे लगता है कि टीम की एकजुटता, टीम की आपसी समझ और जज्बे ने इस जीत में अहम भूमिका अदा की। यह पूछने पर कि पहले हाफ के बाद मुख्य कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन और खिलाड़ियों के बीच में क्या बातचीत हुई जिससे टीम ने दूसरे हाफ में बेहतरीन खेल दिखाया। छेत्री ने कहा, ‘हमने यह सुनिश्चित किया कि हम उन्हें उनका नैसर्गिक खेल नहीं खेलने देंगे। पहले हाफ में, उन्होंने गेंद पर कब्जा बनाये रखा और वे काफी मजबूत थे। हम जानते थे कि यह उनका मजबूत पक्ष है।’ 

इसे भी पढ़ें: गोल दागने के बाद जश्न मनाते हुए छेत्री, बोले- तरीका एक ही रहेगा

उन्होंने कहा, ‘इसलिये हमें उन पर दबाव डालना था और उनका नैसर्गिक खेल नहीं खेलने देना था। हमने ऐसा ही किया। संदेश झिंगन और अनस इदाथोडिका ने काफी साहस दिखाया और हमें कहा कि आगे जाओ। यह आसान काम नहीं है, लेकिन यह उन कारणों में एक रहा जिसने हमें जीत दर्ज करने में मदद की।’ दिल्ली का यह स्ट्राइकर इस एशिया कप में पूर्व कप्तान बाईचुंग भूटिया (107) के भारत की ओर से सर्वाधिक मैच खेलने के रिकार्ड को भी अपने नाम कर लेगा।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप


Related Story