क्या आपने ऑनलाइन काम करने को गंभीरता से लेना शुरू कर दिया है?

क्या आपने ऑनलाइन काम करने को गंभीरता से लेना शुरू कर दिया है?

अब तक कई लोग इंटरनेट को सिर्फ मनोरंजन के लिए ही इस्तेमाल करते रहे हैं, लेकिन अब इस पर कार्य करने की जरूरत एक बड़ी संख्या में लोगों को महसूस होने लगी है। तो आइए जानते हैं कि इंटरनेट पर उपयोगी कार्य करने के लिए आपको किन बातों के प्रति सावधानी बरतनी चाहिए।

कोविड-19, यानी कोरोना वायरस ने तमाम कार्य करने वाले प्रोफेशनल लोगों की पद्धति बदल दी है। यूं तो ऑनलाइन से अनजान हो, ऐसा कोई व्यक्ति आधुनिक युग में मिलने की उम्मीद कम ही है और इसका वाजिब कारण भी है। भारत जैसे विकासशील देश में 4G के बड़े पैमाने पर पदार्पण से लोगों में इंटरनेट और ऑनलाइन को लेकर खासी जागृति बढ़ी है। 

हालांकि इंटरनेट का ठीक ढंग से उपयोग कैसे किया जाए, इस बात के प्रति कम लोग ही जागरूक हैं।

इसे भी पढ़ें: 108 MP कैमरे वाला Mi 10 हुआ लॉन्च, जानिए सभी फीचर्स और कीमत

चूंकि अब तक कई लोग इंटरनेट को सिर्फ मनोरंजन के लिए ही इस्तेमाल करते रहे हैं, लेकिन अब इस पर कार्य करने की जरूरत एक बड़ी संख्या में लोगों को महसूस होने लगी है। तो आइए जानते हैं कि इंटरनेट पर उपयोगी कार्य करने के लिए आपको किन बातों के प्रति सावधानी बरतनी चाहिए-

हर चीज का सलूशन है

इंटरनेट पर जो लोग सीरियस कार्य करने की शुरुआत कर रहे हैं, उनके मन में ऐसी कई बातें पूर्वाग्रह के कारण पड़ी होती हैं कि इंटरनेट पर यह नहीं हो सकता, वह नहीं हो सकता!

इसका सबसे बड़ा उदाहरण ऑनलाइन मीटिंग्स को हम मान सकते हैं। ज़ूम एप्लीकेशन का जिस तेजी से प्रसार हुआ, उसने कई लोगों को एकबारगी चौंका दिया कि इंटरनेट पर हम किसी बोर्डरूम की ही भांति किस प्रकार आसानी से मीटिंग कर सकते हैं। सैकड़ों लोगों ने एक साथ मीटिंग कर इस बात को सही साबित किया। सिर्फ ज़ूम ही क्यों, ऐसे तमाम एप्लीकेशन अवेलेबल हैं, जिसकी सहायता से आप आसानी से एक, दो, दर्जनों या सैकड़ों लोगों से उतनी ही आसानी से बात कर सकते हैं, ठीक उसी प्रकार जैसे आप आमने-सामने बैठे हों!

इसे भी पढ़ें: वीडियो कॉलिंग के लिए यह हैं बेस्ट पॉपुलर ऐप्स

इसके अतिरिक्त आपको किसी भी चीज की जानकारी चाहिए, उसके लिए गूगल और यूट्यूब जैसे समृद्ध माध्यम उपलब्ध हैं। आप एक बार ढूंढ कर तो देखिए। 

चाहे बॉस को खुश करना हो, चाहे वर्चुअली अपने समय का सदुपयोग करना हों, चाहे मीटिंग के लिए प्रेजेंटेशन तैयार करना हो, चाहे तमाम कस्टमर को रिमाइंडर भेजना हो या फिर अपने लिए ही रिमाइंडर क्यों ना लगाना हो, और भी बहुत कुछ और यह तमाम कार्य आप बड़ी ही आसानी से इंटरनेट के द्वारा संभव कर सकते हैं।

अगर आप तो यह सोच अपने दिमाग में नहीं बिठाते हैं तो इसका सबसे बड़ा नुकसान यह होता है कि आप इंटरनेट को सिर्फ टेलीविजन समझ बैठते हैं, जहां सिर्फ आप अपना मनोरंजन करते हैं और इंटरनेट की वास्तविक उपयोगिता के पास भी नहीं पहुंच पाते।

तो सबसे बड़ी बात है कि इंटरनेट का अगर आपके सदुपयोग करना चाहते हैं तो सबसे पहले यह दिमाग में रखें कि इसके माध्यम से सब कुछ संभव है। बस आपको इसके बारे में समझने और विचार करने भर की आवश्यकता है।

बहकें नहीं!

अब यह ऊपर कही गयी बातों की एक तरह से बिल्कुल उल्टी बात है। 

इंटरनेट पर हर कार्य तो संभव है, लेकिन यह इतना बड़ा है कि आपके दिमाग ने जो सोचा है और जो सोच सकता है, वह सब कुछ इस पर मौजूद है। ऐसे में आपका दिमाग उत्सुकता से भर जाता है और कब आपके मिनट घंटों में बदलते हैं और फिर यह कई घंटे और पूरा दिन अनावश्यक रूप से खराब कर देते हैं, आपको पता भी नहीं चलता! 

इसे भी पढ़ें: 3 रियर कैमरे वाला ये स्मार्टफोन हुआ सस्ता, जानिए फीचर्स और नई कीमत

एक लिंक के बाद दूसरा लिंक, एक वीडियो के बाद दूसरी, तीसरी वीडियो आप देखते जाते हैं और अंततः जो आपका मुख्य उद्देश्य होता है, जो कार्य आपको करना होता है, पता चलता है उसके लिए टाइम ही नहीं बचता!

इसीलिए आपको इंटरनेट पर कार्य करते समय बेहद फोकस होने की जरूरत होती है। अगर आप फोकस नहीं होते हैं तो टाइम मैनेजमेंट की बड़ी समस्या आपके सामने खड़ी हो सकती है। 

इसके अलावा इंटरनेट पर मौजूद हर चीजें सच भी नहीं होती हैं। हर चीज मौजूद तो है, लेकिन क्या सही है, क्या गलत है, क्या आपके लिए उपयोगी है और कौन सी चीज मिसगाइड करने वाली है, इसके बारे में आपको सजग रहना होगा। ठीक तभी आप इसे अपने लिए उपयोगी बना सकते हैं। 

वस्तुतः यह एक समुद्र की तरह है, जिसके अंदर आपको मोती ढूंढना होता है, लेकिन अगर आप इस पर फोकस नहीं हैं, तो यह आपको भ्रमित ही नहीं, सम्पूर्ण रूप से दिग्भ्रमित करने की क्षमता रखा है।

प्रैक्टिस

इस पॉइंट को आप को बारीकी से समझना होगा। 

इंटरनेट पर हर चीज का सोल्यूशन तो अब मौजूद है, किंतु बिना प्रैक्टिस किए आप उसका लाभ नहीं ले सकते। उदाहरण दें तो, आप यूं समझिए कि अगर आप इंग्लिश सीखना चाहते हैं तो इंग्लिश सिखाने वाले तमाम एप्लीकेशन, तमाम वेबसाइट आपको मुफ्त में यह सुविधा देती हैं, लेकिन प्रैक्टिस तो आपको खुद करनी पड़ेगी! 

नहीं तो आप को इंग्लिश बोलने कभी नहीं आएगी। कई लोगों में यह भी देखा गया है कि इंटरनेट पर कोई चीज ढूंढ कर ही वह संतुष्ट हो जाते हैं और उसका अभ्यास नहीं करते। ऐसे में इंटरनेट पर समय बिताने का सुखद परिणाम आखिर कैसे निकलेगा?

इसे भी पढ़ें: Redmi Note 9 लॉन्च, इसमे हैं क्वाड कैमरा सेटअप और शानदार बैटरी

वस्तुतः दुनिया में ऐसी कोई चीज नहीं है, जो आप सीख ना पाएं, लेकिन प्रैक्टिस और प्रैक्टिकल आपको खुद करना पड़ेगा और उसमें जब प्रॉब्लम आती है तो हो सकता है एक लिंक, एक वीडियो आपकी मदद ना कर सके, लेकिन जब आप जवाब ढूंढते हैं तो आपको दूसरा वीडियो भी मिलता है। अगर कोई चीज उपलब्ध नहीं होती है तो आप संबंधित कम्युनिटी के माध्यम से अपनी प्रॉब्लम शेयर कर सकते हैं और क्योरा  जैसे तमाम प्लेटफार्म पर लोग आप की उस प्रॉब्लम को एड्रेस करते हैं, उसका उत्तर देने की कोशिश करते हैं।

लेकिन ध्यान रहे कि प्रेक्टिस आपको खुद करनी पड़ेगी और समय आपको खुद ही देना पड़ेगा। इंटरनेट निमित्त भर है, जिससे आप अपनी मंजिल तक पहुंच सकते हैं, लेकिन प्रयास आपके स्वयं का हो तब!

अगर आप ऊपर बतायी गयी इन 3 चीजों को ध्यान में रखते हैं तो ना केवल इंटरनेट का सदुपयोग कर पाएंगे, बल्कि इसका बेहतरीन यूटिलाइजेशन भी सुनिश्चित कर पाएंगे और इसका फायदा आपको अपनी प्रोफेशनल लाइफ में अवश्य ही मिलेगा।

- मिथिलेश कुमार सिंह