मीट खाने वाले पुरुष नहीं बना पाएंगे महिलाओं के साथ संबंध, PETA का यह फैसला है वजह

Baked Chicken
प्रतिरूप फोटो
Prabhasakshi
एकता । Sep 24, 2022 4:29PM
PETA ने अब लोगों को मांस खाने से रोकने का नया तरीका ढूंढ निकाला है, जिसमें सेक्स स्ट्राइक भी शामिल है। PETA ने जर्मनी की महिलाओं से मीट खाने वाले पुरुषों के साथ संबंध नहीं बनाने की मांग की है। PETA की इस मांग की दुनियाभर में चर्चा हो रही है।

पशु अधिकार संगठन PETA दशकों से जानवरों को बचाने की दिशा में काम कर रहे हैं और लोगों से शाकाहार या वीगन को बढ़ावा देने की मांग करते रहे हैं। इन सब के बीच PETA ने अब लोगों को मांस खाने से रोकने का नया तरीका ढूंढ निकाला है, जिसमें सेक्स स्ट्राइक भी शामिल है। PETA ने जर्मनी की महिलाओं से मीट खाने वाले पुरुषों के साथ संबंध नहीं बनाने की मांग की है। PETA की इस मांग की दुनियाभर में चर्चा हो रही है और लोग इसके बारे में सुनकर काफी हैरान हैं। इतना ही नहीं PETA ने अपनी इस मांग को सही साबित करने के लिए वैज्ञानिक शोध का हवाला भी दिया है।

इसे भी पढ़ें: दिनभर की थकान से कम हो गए हैं मजे, इन टिप्स की मदद से खुद को करें उत्तेजित

PETA की डॉ कैरीज़ बेनेट ने हाल ही में टाइम्स रेडियो को एक इंटरव्यू दिया है। इस इंटरव्यू में उन्होंने अपनी हाल ही में उठायी गयी मांग के बारे में बात की है, जिसमें उन्होंने जर्मनी की महिलाओं से अपील की थीं की वह अपने पति और बॉयफ्रेंड के साथ तब तक सेक्स न करें जब तक कि वे रेड मीट खाना बंद न कर दें। इसपर कैरीज़ बेनेट ने पीएलओएस वन पत्रिका में प्रकाशित एक अध्ययन का हवाला दिया, जिसमें कहा गया है कि महिलाओं की तुलना में पुरुष 41 प्रतिशत अधिक प्रदूषण का कारण बनते हैं क्योंकि वे अधिक मांस खाते हैं।

इसे भी पढ़ें: Relationship Advice: पार्टनर की छोटी-छोटी गलतियों पर भड़क जाते हैं आप? इन टिप्स से गुस्सा कंट्रोल करने में मिलेगी मदद

कैरीज़ ने कहा कि इस तरह की "विषाक्त मर्दानगी" दुनिया को खत्म कर रही है। इसलिए दुनिया को बचाने के लिए महिलाओं को 'सेक्स स्ट्राइक पर जाना' चाहिए क्योंकि पुरुष '40 प्रतिशत अधिक ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन के लिए जिम्मेदार हैं। उन्होंने आगे कहा कि पुरुषों को जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए। हम अभी भी हर साल एक अरब मुर्गियों, गायों और सूअरों को मार रहे हैं।

अन्य न्यूज़