हमेशा से तमन्ना थी कि ऑर्टिकल 15 जैसी फिल्में करूं: आयुष्मान खुराना

always-wanted-to-do-films-like-artical-15-ayushman-khurana
आयुष्मान ने कहा कि पिछले दो साल मेरे लिये काफी भाग्यशाली रहे क्योंकि इस दौरान मेरी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर सफल रहीं और यही वजह है कि मैं आर्टिकल 15 जैसी फिल्म करने का साहस जुटा पाया।

मुंबई। अभिनेता आयुष्मान खुराना का मानना है कि अंधाधुन और बधाई हो समेत उनकी फिल्मों को मिली एक के बाद एक सफलता ने उनके भीतर आर्टिकल 15 जैसी मुश्किल फिल्म करने का भरोसा पैदा किया। फिल्म मुल्क से प्रसिद्ध हुए निर्देशक अनुभव सिन्हा ने आर्टिकल 15 के जरिये जातिवाद जैसे संवेदनशील मुद्दे को उठाया है।

इसे भी पढ़ें: ‘कबीर सिंह’ एक असाधारण प्रेम कहानी है: संदीप रेड्डी वंगा

फिल्म अभिनेता आयुष्मान ने कहा कि वह हमेशा से आर्टिकल 15 जैसी मुश्किल और सामाजिक रूप से प्रासंगिक फिल्म का हिस्सा बनना चाहते थे। आयुष्मान ने कहा कि पिछले दो साल मेरे लिये काफी भाग्यशाली रहे क्योंकि इस दौरान मेरी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर सफल रहीं और यही वजह है कि मैं आर्टिकल 15 जैसी फिल्म करने का साहस जुटा पाया। 

इसे भी पढ़ें: कबीर की कियारा ने खोला अपने रिलेशनशिप का राज, बताया कौन है उनका प्यार?

इस तरह की फिल्म करना मेरी ख्वाहिश थी क्योंकि मैं हमेशा से सामाजिक मुद्दे पर कुछ करना चाहता था। फिल्म भारतीय संविधान के अनुच्छेद 15 के इर्द-गिर्द घूमती है, जिसमें धर्म, जाति, नस्ल, लिंग या जन्म स्थान के आधार पर भेदभाव पर रोक है। फिल्म 28 जून को पर्दे पर आनी है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़