एक एक्सीडेंट ने तबाह कर दी थी 'शोले के गब्बर' की ज़िंदगी, आखिरी वक्त में ऐसी हो गई थी हालत

amjad khan
youtube
अमजद खान शोले में गब्बर के रोल के लिए पहली पसंद नहीं थे। पहले यह रोल अभिनेता डैनी को ऑफर हुआ था। लेकिन डैनी ने फिल्म धर्मात्मा की शूटिंग शुरू कर दी थी इसलिए उन्होंने शोले छोड़ दी थी। बाद में यह रोल अमजद खान को ऑफर हुआ और यह फिल्म उनके करियर के लिए मील का पत्थर साबित हुई।

बॉलीवुड में गब्बर के नाम से मशहूर अभिनेता अमजद खान की आज डेथ एनिवर्सरी है। अमजद खान का जन्म 12 नवंबर 1940 को पेशावर में हुआ था। उनके प‍िता जयंत भी कई फ‍िल्‍मों में व‍िलेन रह चुके थे। उन्होंने 1951 में आई फिल्म 'नाजनीन' में बतौर बाल कलाकार फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा था। इसके बाद उन्होंने 17 साल की उम्र में फिल्म 'अब द‍िल्‍ली दूर नहीं' में काम किया था।  

इसे भी पढ़ें: वहीदा रहमान के इश्क़ में पड़कर इस सुपरस्टार ने तबाह कर ली थी अपनी ज़िंदगी, मौत पर आकर खत्म हुई प्रेम कहानी

कई सुपरहिट फिल्मों में किया काम 

अमजद ने साल 1973 में आई फिल्म ‘हिंदुस्तान की कसम’ में पहली बार बतौर हीरो काम किया था।  लेकिन उन्हें पहचान फिल्म 'शोले' से मिली थी। शायद बहुत कम लोग यह जानते हैं कि अमजद खान शोले में गब्बर के रोल के लिए पहली पसंद नहीं थे। पहले यह रोल अभिनेता डैनी को ऑफर हुआ था। लेकिन डैनी ने फिल्म धर्मात्मा की शूटिंग शुरू कर दी थी इसलिए उन्होंने शोले छोड़ दी थी। बाद में यह रोल अमजद खान को ऑफर हुआ और यह फिल्म उनके करियर के लिए मील का पत्थर साबित हुई। आज भी अमजद खान गब्बर के किरदार लिए जाने जाते हैं। अपने फिल्मी करियर में अमजद खान ने 'कुर्बानी', 'लव स्टोरी', 'चरस', 'हम किसी से कम नहीं, 'इनकार', 'परवरिश', 'शतरंज के खिलाड़ी', 'देस-परदेस” , “दादा”,  “गंगा की सौगंध ” “कसमे-वादे” “मुक्कदर का सिकन्दर” “लावारिस” 'हमारे तुम्हारे', 'मिस्टर नटवरलाल', 'सुहाग', 'कालिया” “लेडीस टेलर', 'नसीब', 'रॉकी', 'यातना','सम्राट', 'बगावत', 'सत्ते पे सत्ता', 'जोश', 'हिम्मतवाला' और 'याराना' जैसी शानदार फिल्मों में काम किया था।  

इसे भी पढ़ें: 47 साल की उम्र में भी यंग और फिट नज़र आती हैं रवीना टंडन, एक्ट्रेस ने शेयर की अपनी सीक्रेट डाइट

आखिरी वक्त में अमिताभ बच्चन ने दिया सहारा 

अमजद खान के आखिरी दिनों में उन्हें कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा था। अमजद उस वक्त अमिताभ बच्चन के साथ फिल्म 'द ग्रेट गैंबलर' में काम कर रहे थे। फिल्म की शूटिंग गोवा में होनी थी और उसी के लिए अमजद खान अपने परिवार के साथ गोवा के लिए रवाना हुए।  लेकिन रास्ते में ही अमजद खान की गाड़ी की भयानक एक्सीडेंट हुआ जिसमें अमजद खान को काफी चोट आई। अमजद की 13 पसलियां टूट गईं जबकि स्टेयरिंग उनके फेफड़ों में घुस गया। इलाज के दौरान जो दवाइयां अमजद को दी गईं, उनसे उनका वजन लगातार बढ़ता गया। इसकी वजह से उन्हें कई तरह के हेल्थ कॉम्प्लिकेशन्स हुए। मीडिया रिपोर्ट्स के मितबिक, अमजद के आखिरी दिनों में अमिताभ बच्चन ने उनकी काफी मदद की थी। बताया जाता है कि अमिताभ और अमजद की दोस्ती इतनी गहरी ही कि दोनों ने एक साथ 15 फिल्मों में काम किया था। एक्सीडेंट के बाद अमजद का चलना-फिरना भी बंद हो गया था। 27 जुलाई 1992 को 51 साल की उम्र में हार्ट अटैक से उनका निधन हो गया था।

अन्य न्यूज़