अनुराग-तापसी पर लगा 650 करोड़ के टैक्स चोरी का आरोप, छापेमारी के बाद एजेंसी का खुलासा

  •  रेनू तिवारी
  •  मार्च 5, 2021   12:46
  • Like
अनुराग-तापसी पर लगा 650 करोड़ के टैक्स चोरी का आरोप, छापेमारी के बाद एजेंसी का खुलासा

आयकर विभाग ने बुधवार को मुंबई और पुणे में 30 से अधिक स्थानों पर खोज की, जिसमें फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप, अभिनेत्री तासेन पन्नू, फिल्म निर्माता विकास बहल और मधु मंटेना शामिल थे। बॉलीवुड एक्ट्रे तापसी पन्नू और निर्देशक अनुराग कश्यप की मुसिबत बढ़ गयी है।

नयी दिल्ली। आयकर विभाग ने बुधवार को मुंबई और पुणे में 30 से अधिक स्थानों पर खोज की, जिसमें फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप, अभिनेत्री तासेन पन्नू, फिल्म निर्माता विकास बहल और मधु मंटेना शामिल थे। बॉलीवुड एक्ट्रे तापसी पन्नू और निर्देशक अनुराग कश्यप की मुसिबत बढ़ गयी है। तापसी पन्नू, विकास बहल, अनुराग कश्यप सहित कुछ निर्माताओं की फिल्म निर्माण कंपनी को लेकर 650 करोड़ रुपये का घपला सामने आये हैं। 3 मार्च की सुबह आयकर विभाग ने तापसी पन्नू, विकास बहल, अनुराग कश्यप सहित फिल्म निर्माण कंपनी से जुड़े लोगों के घर छापेमारी की जिसमें  650 करोड़ की घपलेबाजी का मामला सामने आया है। तापसी पन्नू और अनुराग कश्यप अकसर सोशल मीडिया और अपने बयानों में सरकार की नीतियों का विरोध करते हुए नजर आते हैं। सीएए, जेएनयू, किसान जैसे मुद्दों को लेकर स्वरा भास्कर, तापसी और अनुराग कश्यप को कड़ा विरोध करते देखा गया। घपले में नाम आने के बाद इन सितारों को बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत ने भी आड़े हाथ लिया है। उन्होंने ट्वीट करके अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मुझे पहले से ही शक था कि कुछ तो बात है। 

इसे भी पढ़ें: जहान्वी कपूर के 'नदियो पार' गाने से इंटरनेट पर लगाई आग! सैंड डांस को काफी किया गया पसंद 

 छापेमारी में सामने आया 650 करोड़ रुपये का घपला

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने बृहस्पतिवार को दावा किया कि आयकर विभाग द्वारा दो फिल्म निर्माण कंपनियों, दो प्रतिभा प्रबंधन कंपनी और एक मशहूर अभिनेत्री के ठिकानों पर की गई छापेमारी में 650 करोड़ रुपये से अधिक की वित्तीय अनियमित्ताओं का पता चला है। हालांकि, उसने किसी का नाम नहीं लिया। अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि आयकर विभाग ने बॉलीवुड अभिनेत्री तापसी पन्नू और फिल्मकार अनुराग कश्यप व उनके साझेदारों के घरों और कार्यालयों पर बुधवार को छापेमारी की थी।

इसे भी पढ़ें: परिणीति चोपड़ा की फिल्म 'साइना' पर लोग क्यों हुए नाराज? निर्देशक ने दी सफाई

फैंटम फिल्म्स से जुड़े 30 स्थानों पर मारे गये छापे 

उन्होंने बताया कि यह छापेमारी फैंटम फिल्म्स के खिलाफ कर चोरी की जांच का एक हिस्सा है। यह छापेमारी मुंबई, पुणे और हैदराबाद में 30 स्थानों पर की गई जिसमें सेलिब्रिटी और प्रतिभा प्रबंधन कंपनी केडब्ल्यूएएन और ऐक्सीड के कुछ अधिकारी भी शामिल हैं। छापेमारी की कार्रवाई के एक दिन बाद बिना किसी का नाम लिए सीबीडीटी ने कहा कि जिन कंपनियों के परिसरों की तलाशी ली गई, वे फिल्म, वेब सीरीज के निर्माण और अभिनय, निर्देशन एवं प्रतिभा प्रबंधन के क्षेत्र से जुड़े हुए हैं।

घपले में  तापसी पन्नू, अनुराग सहित इन सितारों का नाम जुड़ा

वहीं, आधिकारिक सूत्रों ने इनकी पहचान पन्नू और फैंटम फिल्म्स के पूर्व प्रर्वतक कश्यप, निर्माता-निर्देशक विक्रमादित्य मोटवानी, निर्माता विकास बहल और निर्माता-वितरक मधु मंटेना के रूप में की है। सूत्रों ने सेलिब्रिटी और प्रतिभा प्रबंधन कंपनियों की पहचान केडब्ल्यूएएन और एक्सीड के रूप में की है। उन्होंने बताया कि फिल्म निर्माण से जुड़ी जिस दूसरी कंपनी पर छापेमारी की गई, वो अनुराग कश्यप से संबंधित है।

कैसे हुआ घपला 

सीबीडीटी ने एक बयान में कहा कि बॉक्स ऑफिस पर फिल्म की वास्तविक कमाई की तुलना में अग्रणी फिल्म निर्माण कंपनियों द्वारा आय को काफी कम करके दिखाने के साक्ष्य का पता लगाया गया है। इसमें आरोप लगाया गया, फिल्म निर्देशकों और साझेदारों के बीच फिल्म निर्माण कंपनियों के शेयर लेन-देन के हेरफेर और कम मूल्यांकन संबंधी साक्ष्य भी सामने आए हैं और करीब 350 करोड़ रुपये की कर पेचिदगियां पाई गई हैं। इनके बारे में आगे जांच की जा रही है। सीबीडीटी ने दावा किया, एक मशहूर अभिनेत्री द्वारा पांच करोड़ की रकम नकद प्राप्त करने के भी साक्ष्य मिले हैं और इस बारे में आगे की जांच जारी है। उन्होंने दावा किया कि इसी तरह की कई वित्तीय अनियमित्ताओं की जानकारी सामने आई है।

कंगना रनौत ने साधा तापसी- अनुराग पर निशाना 

गुरुवार को, एजेंसी ने एक बयान जारी किया, जिसमें लिखा था, "छापेमारी के दौरान, वास्तविक फिल्म बॉक्स कलेक्शन की तुलना में अग्रणी फिल्म प्रोडक्शन हाउस द्वारा आय के भारी दमन के सबूतों का पता लगाया गया है। कंपनी के अधिकारी विसंगति को स्पष्ट नहीं कर पाए हैं। फिल्म निर्देशकों और शेयरधारकों के बीच प्रोडक्शन हाउस के शेयर लेनदेन के हेरफेर और कम-मूल्यांकन से संबंधित साक्ष्य, जिसमें लगभग 350 करोड़ रुपये का कर निहितार्थ पाया गया है और आगे की जांच की जा रही है। नकदी के साक्ष्य और अभिनेत्री द्वारा 5 करोड़ रुपये की रसीदें बरामद की गई हैं। अब ट्विटर पर अपनी राय रखने को लेकर मुखर रहने वाली कंगना रनौत ने ट्वीट की एक श्रृंखला में इस खबर पर प्रतिक्रिया दी है। उसने लिखा, "उन्होंने सिर्फ टैक्स चोरी के काले धन का बहुत बड़ा लेन-देन ही नहीं किया है बल्कि इन पैसों का इस्तेमाल शाहीनबाग दंगे या गणतंत्र दिवस पर हुए दिल्ली के दंगे भड़काने में किया गया? ये कलाघन कहा से आया आखिर ये पैसा किसने दिया। इसके पीछे कौन जिम्मेदार है। इसके अलावा कंगना रनौत ने एक प्रेस रीलीज को शेयर करते हुए लिखा जो चोर होते हैं वो सिर्फ़ चोर होते हैं, जो मातृभूमि को बेचकर उसके टुकड़े करना चाहते हैं वो सिर्फ़ ग़द्दार होते हैं, और जो ग़द्दारों का साथ देते हैं वो भी चोर होते हैं... क्यूँकि चोर चोर मौसेरे भाई होते हैं। और जिससे चोरों को डर लगता है। वो साधारण मानव नहीं नरेंद्र मोदी होता है।







This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept