किशोर कुमार को भारत रत्न तथा उनके घर को विरासत स्थल घोषित करने की मांग ने पकड़ा जोर

Kishore Kumar
Prabhasakshi
बॉलीवुड के दिवंगत पार्श्व गायक किशोर कुमार की स्मृति में बनाए गए उनके प्रशंसकों के समूह ने मांग कि है कि उन्हें मरणोपरांत भारत रत्न दिया जाए और मध्य प्रदेश के खंडवा में स्थित उनके पुश्तैनी घर को ‘‘ विरासत स्थल ’’ घोषित किया जाए।

खंडवा (मध्यप्रदेश)। बॉलीवुड के दिवंगत पार्श्व गायक किशोर कुमार की स्मृति में बनाए गए उनके प्रशंसकों के समूह ने मांग कि है कि उन्हें मरणोपरांत भारत रत्न दिया जाए और मध्य प्रदेश के खंडवा में स्थित उनके पुश्तैनी घर को ‘‘ विरासत स्थल ’’ घोषित किया जाए। किशोर कुमार का जन्म चार अगस्त 1929 को खंडवा में हुआ था और मुंबई में उनकी मृत्यु के बाद 13 अक्टूबर 1987 को यहां खंडवा में उनका अंतिम संस्कार किया गया था।

इसे भी पढ़ें: शादी के 23 साल बाद भी अजय देवगन गर्लफ्रेंड की तरह ही करते हैं कजोल की चिंता, बर्थडे पर खास अंदाज में किया विश

यहां उनके स्मारक पर आने वाले बड़ी संख्या में उनके प्रशंसकों को गायक-अभिनेता का पसंदीदा नाश्ता दूध-जलेबी का प्रसाद दिया जाता है। किशोर प्रेरणा मंच के अध्यक्ष रणवीर सिंह चावला ने बृहस्पतिवार को ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) को दो हजार से अधिक पोस्टकार्ड भेजे गए हैं, जिनमें किशोर कुमार के घर को ‘‘ विरासत स्थल ’’ घोषित करने और उन्हें भारत रत्न देने की मांग की गई है। सिंह ने कहा, ‘‘ किशोर कुमार हमेशा कहते थे कि दूध-जलेबी खाएंगे, खंडवा में बस जायेंगे। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि यहां उनके पुश्तैनी मकान की हालत खस्ता है। दुनिया भर के उनके प्रशंसक चाहते हैं कि इसे विरासत स्थल घोषित किया जाए।’’

इसे भी पढ़ें: कमल हसन की INDIAN 2 का हिस्सा नहीं है काजल अग्रवाल? एक्ट्रेस ने अफवाहों का किया खंडन

सिंह ने कहा कि देवा किशोर के नेतृत्व में लखनऊ स्थित किशोर कुमार अखिल भारतीय समूह के साथ- साथ अहमदाबाद के पराग मेहता भी यही मांग करते हैं जबकि मुरादाबाद के तारिक किशोर और पटियाला के राकेश कोटिया जैसे प्रशंसक भी जागरूकता पैदा करने की दिशा में काम कर रहे हैं। सिंह ने कहा, ‘‘ मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्थानीय निकाय चुनावों के दौरान किशोर कुमार की जयंती पर खंडवा का दौरा करने का वादा किया था, लेकिन वह नहीं आ सके।’’ प्रेरणा मंच के प्रवक्ता सुनील जैन ने कहा, ‘‘ इस अवसर पर गौरव यात्रा भी निकाली जा रही है जिसमें लोक कलाकार पारंपरिक गीतों पर नृत्य करेंगे। ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग और दादा धूनीवाले के रथ की झांकी यात्रा के प्रमुख आकर्षण है।’’

शाम को आयोजित कार्यक्रम में गायक पामेला जैन और अमय दाते किशोर कुमार के गीत पेश करेंगे। खंडवा जिला कलेक्टर अनूप सिंह ने कहा कि कुमार के जन्म दिन को मनाने के लिए छह अगस्त तक तीन दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया है, जिसमें जुंबा नृत्य, मानव श्रृंखला, व्यंजन उत्सव आदि और अंतिम दिन निमाड़ी हिंदी कवि सम्मेलन किया जाएगा। उन्होंने सुझाव दिया कि अपने प्रिय गायक को श्रद्धांजलि के तौर पर लोगों को अपने घरों के सामने रंगोली बनानी चाहिए।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़