बहन के बचाव में वीडियो रिलीज़ कर फंस गयी कंगना, एफआईआर दर्ज!

बहन के बचाव में वीडियो रिलीज़ कर फंस गयी कंगना, एफआईआर दर्ज!

अपनी बहन रंगोली चंदेल का पक्ष लेते हुए कंगना ने एक वीडियो जारी किया था जिसमें उन्होंने कहा कि 'मेरी बहन ने किसी भी समुदाय पर निशाना नहीं साधा, उसने उन लोगों को गोली मारने की बात कही थी जिन्होंने डॉक्टर्स एवं पुलिस कर्मियों पर हमला किया।

देश भर में मौजूदा हालातों के चलते सब कुछ ठप्प पड़ा हुआ है। लेकिन इस लॉकडाउन के समय में भी एक चीज़ पर बिलकुल भी तालाबंदी नहीं हो रही है और वह है विवाद। देश भर में कोरोना वायरस की पकड़ इतनी मजबूत नहीं जितनी की विवादों की हो चली है। खासतौर पर अगर कहीं इन विवादों की चिंगारी बॉलीवुड से उठ रही हो तब तो इस पर लगाम लगाना लगभग नामुमकिन ही हो जाता है।

इसे भी पढ़ें: 2020 में रिलीज हुई सभी बॉलीवुड फिल्म देखें ऑनलाइन और एंजोय करें अपना लॉकडाउन

हम यहां बात कर रहे हैं बॉलीवुड के विवादों की 'क्वीन' बन चुकी रनौत बहनों की। जैसा कि सब जानते हैं कि बीते दिनों रंगोली ने अपने ट्वीटर पर एक ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने कोरोना वायरस को लेकर समुदाय विशेष पर निशाना साधा था। उन्होंने ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कदम उठाते हुए उन्हें गोली मारने के लिए कहा और खुद की तुलना नाजियों से की थी। उनके इस ट्वीट की वजह से लोग उनकी आलोचना करने लगे। इतना ही नहीं, इंडस्ट्री के कुछ लोगों ने तो ट्वीटर से उनके अकाउंट को सस्पेंड करने की मांग भी कर दी थी जिसके बाद रंगोली के ट्विटर अकाउंट को सस्पेंड कर दिया गया था।

उस घटना के बाद अपनी बहन रंगोली चंदेल का पक्ष लेते हुए कंगना ने एक वीडियो जारी किया था जिसमें उन्होंने कहा कि 'मेरी बहन ने किसी भी समुदाय पर निशाना नहीं साधा, उसने उन लोगों को गोली मारने की बात कही थी जिन्होंने डॉक्टर्स एवं पुलिस कर्मियों पर हमला किया। कंगना ने आगे कहा कि 'फराह अली खान और रीमा कागती जी मेरी बहन पर गलत इल्ज़ाम लगा रही हैं। अगर कोई मुझे उनके ट्वीट में कहीं भी किसी समुदाय के विरोध में लिखा हुआ कुछ बता दें तो मैं और रंगोली खुद ही सार्वजनिक रूप से सभी से माफ़ी मांगेंगे।

इसे भी पढ़ें: फिरोज खान को पाकिस्तान ने कर दिया था बैन, जानें कैसे दुश्मन देश को उसकी ही धरती पर जलील करके आये थे

अब इसी वीडियो के चलते कंगना पर मुंबई में शिकायत दर्ज कराई गई है। कंगना पर आरोप है कि उन्होंने रंगोली की नफरत फैलाने की कोशिश का समर्थन किया है और इस दौरान उन्होंने एक समुदाय विशेष को निशाना बनाया है और अपनी शोहरत का इस्तेमाल धार्मिक सौहार्द को बिगाड़ने में किया है।

मुंबई के एडवोकेट अली काशिफ खान देशमुख ने अपनी शिकायत में कंगना पर आईपीसी की धारा 153ए, 153बी, 295ए और 298 के तहत कार्रवाई की मांग की है। उनका कहना है, 'एक बहन ने एक तरफ नफरत फैलाई है तो वहीं दूसरी बहन ने उसका समर्थन किया है, यह जानते हुए भी कि दुनियाभर में रंगोली के दिए बयान की आलोचना हो रही है और उनके ट्विटर अकाउंट को भी सस्पेंड कर दिया गया है'।

इसे भी पढ़ें: उर्वशी रौतेला का हैक हुआ सोशल मीडिया अकाउंट, अब कहां शेयर करेंगी अपनी सेक्सी तस्वीरें?

वकील ने आरोप लगाया है कि कंगना ने सिर्फ अपने निजी स्वार्थ को देखते हुए शोहरत, पैसे, शक्ति का इस्तेमाल कर नफरत बढ़ाने की कोशिश की है। उन्होंने वीडियो संदेश में जानबूझकर आतंकवादी शब्द का इस्तेमाल किया ताकि एक विशेष समुदाय की बदनामी हो।

बता दें कि रंगोली के ट्वीट के बाद ट्वीटर ने भी उनके इस ट्वीट को नियमों का उल्लंघन बताते हुए उनके अकाउंट को सस्पेंड कर दिया। जिसके बाद रंगोली काफी गुस्से में आ गयी और उन्होंने ट्वीटर को एक पक्षपाती प्लेटफार्म बताते हुए भारत में ट्वीटर पर बैन लगाने की मांग की।

- श्वेता उपाध्याय