हजारों मजदूरों की मदद के बाद सोनू सूद ने केरल से 177 लड़कियों को कराया एयरलिफ्ट

हजारों मजदूरों की मदद के बाद सोनू सूद ने केरल से 177 लड़कियों को कराया एयरलिफ्ट

अभिनेता सोनू सूद ने शुक्रवार को 177 लड़कियों को ओडिशा में उनके घर पहुंचाने में मदद की। कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण ये लड़कियां केरल में फंस गईं थी।

मुम्बई। बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद (Sonu Sood) इस मुश्किल समय में जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं। लॉकडाउन में अपने घर जाने के लिए सड़क पर पैदल चल रहे प्रवासी मजदूरों के लिए सोनू सूद ने अपने दम पर बसें चलवाई और उन्हें घर भेजा। लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों की स्थिति काफी दयनीय थी। अभी भी हैं लेकिन सोनू सूद प्रवासी मजदूरों को उसके घर पहुंचाने में मदद करके उनके लिए भगवान बन गये। वह लगातार लोगों की मदद कर रहे हैं। सोशल मीडिया या फोन पर लोग उनसे मदद मांगते हैं और सोनू और उनकी टीन लोगों  की मदद कर रही हैं। मजदूरों की मदद के बाद अभिनेता सोनू सूद ने शुक्रवार को 177 लड़कियों को ओडिशा में उनके घर पहुंचाने में मदद की। कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण ये लड़कियां केरल में फंस गईं थी।

इसे भी पढ़ें: जानिए क्या जवाब दिया सोनू सूद ने जब एक प्रवासी मजदूर ने कहा, 'आपकी मूर्ति बनवाने की तैयारी में हैं हम'!

अभिनेता के एक करीबी सूत्र ने बताया कि सूद को उनके, भुवनेश्वर के रहने वाले एक दोस्त ने इन लड़कियों के बारे में बताया था और उन्होंने इनकी मदद करने का निर्णय किया। सूत्र ने  कहा, ‘‘ कोच्चि और भुवनेश्वर हवाईअड्डे खुलवाने के लिए अभिनेता ने विभिन्न अनुमति लेने के साथ काम शुरू किया। कोच्चि से इन 177 लड़कियों को ले जाने के लिए बेंगलुरु से एक विशेष विमान मंगाया गया, जो इन्हें भुवनेश्वर ले जा कर इनके परिवार से मिलाएगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ गांव से भुवनेश्वर का रास्ता दो घंटे का है और वहां पहुंचने के बाद ही लड़कियां अपने घर के लिए रवाना हो जाएंगी।’’

इसे भी पढ़ें: सलमान के फैंस के लिए खुशखबरी, बच्चों के लिए ‘दबंग’ की आएगी एनिमेटेड सीरीज

राज्यसभा सांसद अमर पटनायक ने ट्विटर पर सूद का धन्यवाद करते हुए इसे एक ‘‘नेक प्रयास’’ करार दिया। पटनायक ने कहा, ‘‘ सूद जी, केरल से लड़कियों को ओडिशा लाने में मदद करना सराहनीय है। आपके नेक प्रयासों को सलाम। आपको और हिम्मत मिले।’’ अपनी मित्र नीति गोयल के साथ ‘‘घर भेजो’’ पहल चला रहे सोनू सूद अपने प्रयासों से लाखों दिल जीत चुके हैं। अभिनेता ने अभी तक मुम्बई से कई प्रवासी मजदूरों को कर्नाटक, बिहार,झारखंड और उत्तर प्रदेश भी भेजा है। उन्होंने हाल ही में प्रवासियों की मदद के लिए एक टोल-फ्री हेल्पलाइन नंबर भी शुरू किया था।

आपको बता दें कि देशभर में जब लॉकडाउन हो गया तो सबसे ज्यादा मुसीबत उन लोगों के लिए हुई जो डैली वर्कर्स थे। दिहाड़ी पर काम करके अपनी जिंदगी चलाने वालों के लिए मानों लॉकडाउन भूख का सैलाब लेकर आ गया हो। काम बंद हो जाने के करण पैसे नहीं थे ऐसे में सभी अपने गांव की ओर चल दिए। सब रेल, बस , हर तरह के वाहन बंद होने के कारण प्रवासी मजदूर अपने घर की तरफ पैदल ही चल पड़े। प्रवासी मजदूरों की इस हालत के कारण सरकार की चारों तरफ से अलोचना हो रही थी। बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद ने किसी की आलोचना नहीं की बस लोगों की मदद की वो भी बिना ढिंढोरा पीटे। सोनू सून रोज 45 हजार से ज्यादा गरीबों के लिए खाने का इंतजाम करते हैं और प्रवासी मजदूरों के लिए उन्होंने 10 बसें चलवायी और उन्हें उनके घर भेजा।