सुशांत मामले में CBI ने दोस्त और घरेलू सहायक को पूछताछ के लिए फिर से बुलाया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 25, 2020   12:46
सुशांत मामले में CBI ने दोस्त और घरेलू सहायक को पूछताछ के लिए फिर से बुलाया

अधिकारी ने बताया कि मुंबई पुलिस की एक टीम भी सुबह में डीआरडीओ के गेस्ट हाउस पहुंची थी। उन्होंने बताया कि सीबीआई की टीम ने सुशांत के आर्थिक लेन-देन की जानकारी जुटाने के लिए उनके चार्टर्ड अकाउंटेंट और अकाउंटेंट को भी बुलाया था।

मुंबई। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में सीबीआई ने अभिनेता के फ्लैट में रहने वाले सिद्धार्थ पिठानी, रसोइये नीरज सिंह और घरेलू सहायक दीपक सावंत को मंगलवार को फिर से पूछताछ के लिए बुलाया। एक अधिकारी ने बताया कि पिठानी, नीरज और सावंत सांताक्रूज में कलिना स्थित डीआरडीओ के गेस्ट हाउस में पहुंचे, जहां मामले की जांच कर रहे केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के अधिकारी ठहरे हुए हैं। ये तीन व्यक्ति बांद्रा के मोंट ब्लांक अपार्टमेंट में स्थित राजपूत के घर में उस दिन मौजूद थे, जब 34 वर्षीय अभिनेता 14 जून को अपने कमरे में फंदे से लटके मिले थे। 

इसे भी पढ़ें: सुशांत सिंह राजपूत के बहनोई ने जारी किए दो वीडियो, बताया क्यों बनाई थी सुशांत से दूरी 

अधिकारी ने बताया कि मुंबई पुलिस की एक टीम भी सुबह में डीआरडीओ के गेस्ट हाउस पहुंची थी। उन्होंने बताया कि सीबीआई की टीम ने सुशांत के आर्थिक लेन-देन की जानकारी जुटाने के लिए उनके चार्टर्ड अकाउंटेंट और अकाउंटेंट को भी बुलाया था। सोमवार को, सीबीआई की टीम मुंबई स्थित रिजॉर्ट का दौरा किया जहां राजपूत ने कुछ महीने बिताए थे और पिठानी, नीरज और सावंत से पूछताछ भी की। 

इसे भी पढ़ें: सुशांत की एक्स मैनेजर दिशा सालियान की मौत के 10 दिन बाद तक एक्टिव था फोन, पुलिस ने नहीं भेजा फॉरेंसिक जांच के लिए 

सीबीआई अधिकारियों ने शुक्रवार को पिठानी और नीरज के बयानों को दर्ज किया था। शनिवार को, जांच टीम पिठानी, नीरज और सावंत को राजपूत के फ्लैट में ले गए और वहां घटनाओं को सिलसिलेवार ढंग से फिर से रचा। तीनों को रविवार को फिर से फ्लैट पर ले जाया गया और सीबीआई ने डीआरडीओ गेस्ट हाउस पर उनसे फिर से पूछताछ की। उच्चतम न्यायालय ने अभिनेता को आत्महत्या के लिए कथित तौर पर उकसाने के लिए अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती और अन्य के खिलाफ पटना में राजपूत के पिता द्वारा दर्ज कराई गई प्राथमिकी को सीबीआई को हस्तांतरित करने को बरकरार रखा था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।