युद्ध आतंकवाद के खिलाफ होना चाहिए, देश के खिलाफ नहीं: जॉन अब्राहम

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 4 2019 4:49PM
युद्ध आतंकवाद के खिलाफ होना चाहिए, देश के खिलाफ नहीं: जॉन अब्राहम
Image Source: Google

उन्होंने कहा, ‘‘हम लोग एक खास रूढ़िवादी मानसिकता से बंधते जा रहे हैं जो संभवत: सबसे खतरनाक संकेत है। यह नहीं होना चाहिए। लेकिन आज दुनिया इसी तरह से काम कर रही है।’’

मुंबई। अभिनेता जॉन अब्राहम ने सोमवार को कहा कि आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए, किसी देश या धर्म के आधार पर युद्ध नहीं होना चाहिए क्योंकि इस तरह की मानसिकता विश्व के लिये खतरनाक है।46 वर्षीय अभिनेता यहां अपनी आगामी फिल्म ‘रोमियो अकबर वाल्टर (रॉ)’ के ट्रेलर लांच के मौके पर बोल रहे थे। पुलवामा हमले की घटना के बाद पाकिस्तान में आतंकवादियों के खिलाफ भारत की कार्रवाई को लेकर दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव पर अभिनेता से सवाल पूछा गया था। रॉबिन ग्रेवाल निर्देशित फिल्म में मौनी रॉय, जैकी श्रॉफ और सिकंदर खेर जैसे कलाकार हैं। फिल्म पांच अप्रैल को रिलीज होने वाली है।

भाजपा को जिताए

 
जॉन ने पत्रकारों को बताया, ‘‘आतंकवाद के खिलाफ युद्ध हो, किसी देश, धर्म या धर्मों के बीच युद्ध नहीं होना चाहिए। मेरी सोच बिल्कुल साफ है। हो सकता है इसके लिये मुझ पर आरोप लगाया जाये लेकिन मैं कोई धरने पर बैठने वाला नहीं हूं और न ही ये कहने वाला हूं कि ‘यह दर्शकों को पसंद आयेगा, ऐसा बिल्कुल नहीं है’।’’अभिनेता ने कहा कि जो सच है वह सच है, इसे कहने मैं कभी झिझकता नहीं। उन्होंने कहा, ‘‘आतंकवाद के खिलाफ युद्ध होना चाहिए। इसके खिलाफ कदम उठाया जाना चाहिए। लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि आप किसी देश के खिलाफ लड़ें। इसका यह कतई मतलब नहीं है कि आप ऐसी मानसिकता वाले लोग बनें।’’ उन्होंने कहा, लेकिन आज समस्या यह है कि विश्व का ध्रुवीकरण हो रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘हम लोग एक खास रूढ़िवादी मानसिकता से बंधते जा रहे हैं जो संभवत: सबसे खतरनाक संकेत है। यह नहीं होना चाहिए। लेकिन आज दुनिया इसी तरह से काम कर रही है।’’
 
 
अभिनेता ने यह भी कहा कि अगर कोई अभिनेता देश में राजनीतिक हालात से परिचित है तो निश्चित रूप से उन्हें अपना विचार रखना चाहिए लेकिन सिर्फ रस्मी तौर पर या प्रभाव दिखाने के लिये नहीं करना चाहिए। अभिनेता का यह बयान ऐसे समय में आया है जब एक दिन पहले ही कंगना रनौत ने रणवीर सिंह और आलिया भट्ट को राष्ट्रहित से जुड़े मुद्दों पर अपना राजनीतिक रुख नहीं रखने के लिये उन्हें ‘‘गैर जिम्मेदार’’ ठहराया था। अभिनेता ने कहा कि अगर किसी को इस देश के बारे में नहीं पता तो उसे राजनीति के बारे में कुछ भी कहने से बचना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन आपको एक मूर्ख प्रतिभावान भी नहीं होना चाहिए। आप एक मूर्ख नहीं हो सकते हैं जिसे यह भी नहीं पता कि हमारा देश आज कहां है। अगर आप यह नहीं जानते हैं कि बिहार से लेकर सीरिया में क्या हो रहा है तो आपको अपना मुंह बंद कर मुस्कुराना चाहिए और अपना मग दिखाकर यह जताना चाहिए आपने बहुत सारा काम किया है। कुछ मत कहिए।’’
 


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Video