अमरिंदर सरकार को पंजाब में 2020 तक 30 अरब डॉलर निवेश की उम्मीद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 26, 2019   17:50
अमरिंदर सरकार को पंजाब में 2020 तक 30 अरब डॉलर निवेश की उम्मीद

इसी वर्ष तीसरा जर्मनी- पंजाब सम्मेलन भी होने जा रहा है। पंजाब सरकार अपने मजबूत कृषि क्षेत्र में उद्योगों को भी शामिल करने जा रहा है ताकि युवाओं के लिये नये रोजगार पैदा किये जा सकें।

सिंगापुर। पंजाब सरकार राज्य के औद्योगीकरण कार्यक्रम के तहत अगले वित्त वर्ष में 30 अरब डॉलर निवेश लक्ष्य लेकर आगे बढ़ रही है। राज्य ने अब तक 5.6 अरब डॉलर का निवेश हासिल करने में सफलता पाई है। पंजाब ब्यूरो आफ इन्वेस्टमेंट प्रमोशन के सलाहकार बी एस कोहली ने कहा कि चालू वित्त वर्ष के दौरान 10 अरब डॉलर के लक्ष्य को हासिल कर लिया जायेगा। इसके साथ ही उन्होंने 2020 के निवेश लक्ष्य के लिये भी अपनी उम्मीद जताई। उन्होंने कहा, ‘‘हम सहमति ज्ञापन की बात नहीं करते हैं। एक सरकार के नाते हम केवल उन्हीं परियोजनाओं की घोषणा करते हैं जिनके लिये समझौते पर हस्ताक्षर कर लिये गये हैं और निवेश जमीन पर दिखने लगा है।’’

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तानी हिंदू नाबालिग लड़कियों का निकाह करवाने वाला मौलवी गिरफ्तार

पिछले 23 माह के दौरान 5.6 अरब डॉलर जुटा लिये गये हैं। इसमें काफी बड़ा हिस्सा संयुक्त अरब अमीरात - पंजाब सम्मेलन के फलस्वरूप प्राप्त हुआ है। यह सम्मेलन हाल ही में हुआ था। अमीरात की नौ कंपनियों ने पंजाब में परियोजनायें लगाने की प्रतिबद्धता जताई है।इनमें से डीपी वर्ल्ड पठानकोट लाजिस्टिक्स केन्द्र योजना में आ रही है। कोहली ने बताया कि पंजाब सरकार दूसरे सिंगापुर- पंजाब सम्मेलन का आयोजन करने जा रही है। परियोजनाओं के बारे में प्रस्तुतीकरण के साथ ही यह निवेशकों के साथ एक से एक की बैठक होगी। यह सम्मेलन इस साल जून में होने की उम्मीद है। 

इसे भी पढ़ें: करतारपुर कॉरिडोर के मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान ने की तकनीकी वार्ता

इसी वर्ष तीसरा जर्मनी- पंजाब सम्मेलन भी होने जा रहा है। पंजाब सरकार अपने मजबूत कृषि क्षेत्र में उद्योगों को भी शामिल करने जा रहा है ताकि युवाओं के लिये नये रोजगार पैदा किये जा सकें। कोहली ने कहा कि हम दूसरे भारतीय राज्यों के साथ निवेश के मामले में प्रतिस्पर्धा नहीं कर रहे हैं हम दूसरी तरह की दौड में हैं।’’उन्होंने इस संबंध में एक के साथ एक की बैठक और आमने- सामने बातचीत वाले सम्मेलनों का जिक्र किया। इसमें एक देश के साथ दूसरे देश के निवेशकों की आमने सामने बातचीत कराई जाती है। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

बिज़नेस

झरोखे से...