कोरोना वायरस से निपटने में प्रगति की उम्मीद से दुनियाभर के बाजारों में मजबूती

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 30, 2020   10:38
कोरोना वायरस से निपटने में प्रगति की उम्मीद से दुनियाभर के बाजारों में मजबूती

अमेरिका की फेडरल रिजर्व ने बुधवार को बाद में ब्याज दर नीति के बारे में एक वक्तव्य जारी किया। दुनियाभर के बाजारों में निवेशकों के बीच इस बात को लेकर उत्साह था कि कई सरकारें कोराना वायरस को लेकर लगाये गये नियंत्रणों में ढील देने की योजना बना रही हैं।

न्यूयार्क। कोरोना वायरस बीमारी का एक इलाज संभव होने के बारे में एक शुरुआती लेकिन उत्साहवर्धक रिपोर्ट मिलने से बुधवार को दुनिया भर के शेयर बाजारों में तेजी का रुख रहा। गिलीड साइंसिज कंपनी ने यह वक्तव्य जारी किया है कि कोराना वायर बीमारी पर उसकी दवा रेमडेसिवीर के परीक्षण के सकारात्मक आंकड़े प्राप्त हुये हैं।इस रपट से यूरोपीय बाजारों मेंशेयरों में तेजी दर्ज की गयी और एस एण्ड पी 500 सूचकांक भी 1.9 प्रतिशत चढ गया। यह रिपोर्ट ऐसे समय बाजार में पहुंची जब अमेरिका की सरकार ने इस साल के पहले तीन माह के दौरान देश की अर्थव्यवस्था में 4.8 प्रतिशत गिरावट आने की जानकारी दी। वर्ष 2008 के बाद अमेरिकी अर्थव्यवस्था में यह सबसे बड़ी गिरावट रही है। अमेरिका की फेडरल रिजर्व ने बुधवार को बाद में ब्याज दर नीति के बारे में एक वक्तव्य जारी किया। दुनियाभर के बाजारों में निवेशकों के बीच इस बात को लेकर उत्साह था कि कई सरकारें कोराना वायरस को लेकर लगाये गये नियंत्रणों में ढील देने की योजना बना रही हैं।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश सरकार को विश्वास, चीन से कारोबार समेटने वाली कंपनियां प्रदेश में करेंगी निवेश

वह व्यवसायों को फिर से खोलने के बारे में कार्ययोजना बना रहे हैं। यूरोपीय बाजारों में हल्की मजबूती रही जबकि चीन के शंघाई और हांग कांग बाजारों में तेजी का रुख रहा। जापान के बाजार अवकाश के कारण बंद रहे। फ्रांस और स्पेन की सरकारों ने मंगलवार को रेस्त्रां और दूसरे कारोबारों को धीरे धीरे खोलने की अनुमति देने की घोषणा की। इससे पहले इटली ने भी रविवार को इसी तरह की योजना की घोषणा की है। कारोबार के मध्यकाल में लंदन का एफटीएसई 0.9 प्रतिशत ऊंचा था। फ्रेंकफर्ट के डीएएक्स सूचकांक में इस दौरान 0.3 प्रतिशत की मजबूती रही जबकि फ्रांस के सीएसी में 0.2 प्रतिशत की गिरावट थी। अमेरिका के वॉल स्ट्रीट में एस एण्ड पी 500 और डाउ जोंस इंडस्ट्रियल एवरेज में भी शुरुआती तेजी के साथ हुई।

इसे भी पढ़ें: रिलायंस इंडस्ट्रीज पर कर्ज का भार घटेगा, खर्च अनुशासित है, लाभ भी ठीक है : एसएंडपी

एशिया के बाजारों में शंघाई कंपोजिट सूचकांक 0.4 प्रतिशत ऊंचा रहकर 2,822.44 अंक, हांगकांग का हैंग सेंग सूचकांक 0.3 प्रतिशत बढ़कर 24,643.59 अंक और सियोल का कास्पी 0.7 प्रतिशत बढ़कर 1,947.56 पर बंद हुआ। सिडनी का एएसएक्स- एस एण्ड पी 200 डेढ प्रतिशत बढ गया जबकि भारत में बीएसई सेंसेक्स 1.7 प्रतिशत बढ़कर 32,657.03 अंक पर पहुंच गया। सिंगापुर और जकार्ता के बाजारों में भी 0.4 प्रतिशत की मजबूती दर्ज की गई हालांकि न्यूजीलैंड का शेयर बाजार 0.9 प्रतिशत गिर गया। न्यूजीलैंड ने बुधवार को निर्माण स्थलों, रेस्त्रां और कुछ अन्य गतिविधियों को शुरू करने की अनुमति दे दी। दक्षिण कोरिया की सरकार ने कहा कि मार्च में उसका औद्योगिकी उत्पादन पिछले माह की तुलना में 4.6 प्रतिशत बढ़ा है। अमेरिका में कुछ राज्यों के गवर्नरों ने प्रतिबंधों को हटाना शुरू किया है हालांकि स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने इसमें जल्दबाजी करने को लेकर चेतावनी दी है। कोरोना वायरस के कारण लागू लॉकडाउन से अमेरिका में एक करोड से अधिक रोजगार के अवसर छिन गये हैं।डोनाल्ट ट्रंप फिर से चुनाव जीतना चाहते हैं इसलिये वह दूसरे गवर्नरों को भी लॉकडाउन उठाने के लिये दबाव डाल रहे हैं। ऊर्जा बाजार में अमेरिका के न्यूयार्क मर्केंटाइल एक्सचेंज में इलेक्ट्रानिक कारोबार में कच्चे तेल का जून डिलीवरी भाव 2.03 डालर बढ़कर 14.37 डालर प्रति बैरल पर पहुंच गया।वहीं लंदन में ब्रेंट क्रूड 89 सेंट बढ़कर 23.63 डालर प्रति बैरल पर बोला गया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।