OnePlus ने 7 और 7 प्रो स्मार्टफोन को बाजार में उतारा, जानिए क्या है इस फोन की किमत!

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 15, 2019   11:25
  • Like
OnePlus ने 7 और 7 प्रो स्मार्टफोन को बाजार में उतारा, जानिए क्या है इस फोन की किमत!

वनप्लस के सह-संस्थापक कार्ल पेई ने कहा कि इस साल, हम तीन नये एक्सपीरियंस स्टोर खोलने जा रहे हैं। हम एक पुणे में खोलेंगे। हैदराबाद में दुनिया का सबसे बड़ा वनप्लस स्टोर होगा। कंपनी के बेंगलुरू, दिल्ली और चेन्नई में पहले से एक्सपीरियंस सेंटर हैं।

बेंगलुरू। प्रीमियम स्मार्टफोन निर्माता वनप्लस ने मंगलवार को कहा कि वह भारत में अपनी खुदरा मौजूदगी का तेजी से विस्तार कर रही है और हैदराबाद में अपना सबसे बड़ा एक्सपीरियंस सेंटर खोलेगी। प्रीमियम स्मार्टफोन क्षेत्र में एप्पल तथा सैमसंग से प्रतिस्पर्धा कर रही चीनी कंपनी ने अपने स्मार्टफोन की नवीनतम श्रृंखला - वनप्लस 7 और वनप्लस 7 प्रो को भी बाजार में उतारा जिनकी कीमत 32,999 रुपये से शुरू होगी।

इसे भी पढ़ें: Samsung Galaxy फोल्डेबल स्मार्टफोन में है 12 जीबी रैम, अगले महीने होगा लॉन्च

वनप्लस के सह-संस्थापक कार्ल पेई ने कहा कि इस साल, हम तीन नये एक्सपीरियंस स्टोर खोलने जा रहे हैं। हम एक पुणे में खोलेंगे। हैदराबाद में दुनिया का सबसे बड़ा वनप्लस स्टोर होगा। कंपनी के बेंगलुरू, दिल्ली और चेन्नई में पहले से एक्सपीरियंस सेंटर हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




आगामी आम बजट से पहले बाजार में रहेगा उतार-चढ़ाव, इससे तय होगी शेयर बाजारों की दिशा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 17, 2021   12:45
  • Like
आगामी आम बजट से पहले बाजार में रहेगा उतार-चढ़ाव, इससे तय होगी शेयर बाजारों की दिशा

कोविड-19 टीकाकरण अभियान से शेयर बाजारों की दिशा तय होगी।बाजार विश्लेषकों का कहना है कि तिमाही नतीजों की वजह से बाजार में शेयर विशेष आधारित गतिविधियां देखने को मिल सकती हैं।

नयी दिल्ली। शेयर बाजारों की दिशा इस सप्ताह कंपनियों के तिमाही नतीजों और वैश्विक घटनाक्रमों से तय होगी। विश्लेषकों का कहना है कि आगामी आम बजट से पहले बाजार में उतार-चढ़ाव रह सकता है। इसके अलावा निवेशकों की निगाह कोविड-19 से जुड़े घटनाक्रमों, विशेषरूप से देश में टीकाकरण अभियान पर रहेगी। मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के खुदरा शोध प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा, ‘‘तिमाही नतीजों तथा कमजोर वैश्विक रुख से आगे चलकर बाजार में उतार-चढ़ाव रह सकता है। बजट से पहले उतार-चढ़ाव और बढ़ सकता है।’’ बाजार विश्लेषकों का कहना है कि तिमाही नतीजों की वजह से बाजार में शेयर विशेष आधारित गतिविधियां देखने को मिल सकती हैं।

इसे भी पढ़ें: सेंसेक्स की टॉप10 में से 6 कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन 1.13 लाख करोड़ बढ़ा

इस सप्ताह बैंक ऑफ महाराष्ट्र, बजाज फाइनेंस, फेडरल बैंक, एशियन पेंट्स, बजाज ऑटो और रिलायंस इंडस्ट्रीज के तिमाही नतीजे आने हैं। इस बीच, देश के निजी क्षेत्र के सबसे बड़े एचडीएफसी बैंक का दिसंबर तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 14.36 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ 8,760 करोड़ रुपये रहा है। बैंक के तिमाही नतीजों की घोषणा शनिवार को हुई। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘वैश्विक बाजारों के कमजोर रुख के बीच इस सप्ताह घरेलू बाजारों की निगाह बैंकिंग और वित्तीय क्षेत्र पर रहेगी। सप्ताह के दौरान कई बड़े बैंकों और गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) के तिमाही नतीजे आने हैं। आम बजट कैसा होगा, इसको लेकर भी आगे बाजार में उतार-चढ़ाव रह सकता है।’’

इसे भी पढ़ें: विदेशी निवेशकों ने भारत में जनवरी में किया 14,866 करोड़ का निवेश

कारोबारियों ने कहा कि देश में टीकाकरण शुरू होने के बाद शेयर मूल्यों में काफी बदलाव देखने को मिल सकता है। चॉइस ब्रोकिंग के शोध विश्लेषक सतीश कुमार ने कहा, ‘‘निवेशकों की निगाह तिमाही नतीजों तथा देश में टीकाकरण अभियान पर रहेगी।’’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत की। कोविड-19 से बचाव का टीका शुरुआत में स्वास्थ्य और साफ-सफाई से जुड़े कर्मियों को लगाया जाएगा। देश में कोरोना वायरस महामारी से अबतक 1,52,093 लोगों की जान गई है। इसके अलावा ब्रेंट कच्चे तेल के रुख, रुपये के उतार-चढ़ाव और विदेशी संस्थागत निवेशकों के रुख से भी बाजार की दिशा तय होगी। बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 252.16 अंक या 0.51 प्रतिशत के लाभ में रहा। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 86.45 अंक या 0.60 प्रतिशत चढ़ गया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




18 जनवरी को खुल रहा है IRFC का IPO, यहां जानिए पूरी डिटेल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 17, 2021   11:34
  • Like
18 जनवरी को खुल रहा है IRFC का IPO, यहां जानिए पूरी डिटेल

इस सप्ताह दो आईपीओ आएंगे। 5,800 करोड़ रुपये जुटने की उम्मीद है। आईआरएफसी का आईपीओ 18 जनवरी को खुलकर 20 जनवरी को बंद होगा। वहीं इंडिगो पेंट्स का आईपीओ 20 जनवरी को खुलकर 22 जनवरी को बंद होगा।

नयी दिल्ली।भारतीय रेल वित्त निगम (आईआरएफसी) और सिकोया कैपिटल के समर्थन वाली इंडिगो पेंट्स के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) इस सप्ताह आएंगे। इन दोनों आईपीओ से 5,800 करोड़ रुपये से अधिक की राशि जुटने की उम्मीद है। शेयर बाजारों में इस समय तरलता की स्थिति काफी अच्छी है और नए खुदरा निवेशकों की संख्या में भी भारी बढ़ोतरी हुई है। ऐसे में दोनों कंपनियों को इसका फायदा मिलने की उम्मीद है। आईआरएफसी का आईपीओ 18 जनवरी को खुलकर 20 जनवरी को बंद होगा। वहीं इंडिगो पेंट्स का आईपीओ 20 जनवरी को खुलकर 22 जनवरी को बंद होगा। आईआरएफसी का आईपीओ 178.20 करोड़ शेयरों का है। इसमें 118.80 करोड़ नए शेयर जारी किए जाएंगे जबकि सरकार 59.40 करोड़ शेयरों की बिक्री पेशकश (ओएफएस) लाएगी।

इसे भी पढ़ें: सेंसेक्स की टॉप10 में से 6 कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन 1.13 लाख करोड़ बढ़ा

आईआरएफसी के आईपीओ के लिए मूल्य दायरा 25-26 रुपये प्रति शेयर तय किया गया है। मूल्य दायरे के ऊपरी स्तर पर आईपीओ से 4,633.4 करोड़ रुपये जुटने की उम्मीद है। कंपनी ने शुक्रवार को एंकर निवेशकों से 1,390 करोड़ रुपये जुटाए हैं। आईआरएफसी की स्थापना 1986 में हुई थी। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने अप्रैल, 2017 को रेलवे की पांच कंपनियों की सूचीबद्धता की मंजूरी दी थी। इनमें से चार कंपनियों...इरकॉन इंटरनेशनल लि., राइट्स लि., रेल विकास निगम लि. और रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्प.. सूचीबद्ध हो चुकी हैं। वहीं इंडिगो पेंट्स के आईपीओ के तहत 300 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे। निजी इक्विटी कंपनी सिकोया कैपिटल अपने दो कोषों....एससीआई इन्वेस्टमेंट्स चार और एससीआई इन्वेस्टमेंट्स पांच के जरिये तथा प्रवर्तक हेमंत जालान 58,40,000 इक्विटी शेयरों की बिक्री पेशकश (ओएफएस) लाएंगे। आईपीओ के लिए मूल्य दायरा 1,488-1,490 रुपये प्रति शेयर रखा गया है। मूल्य दायरे के ऊपरी स्तर पर इस आईपीओ से 1,170.16 करोड़ रुपये जुटने की उम्मीद है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




सेंसेक्स की टॉप10 में से 6 कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन 1.13 लाख करोड़ बढ़ा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 17, 2021   11:19
  • Like
सेंसेक्स की टॉप10 में से 6  कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन 1.13 लाख करोड़ बढ़ा

सेंसेक्स की शीर्ष 10 में से छह कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 1.13 लाख करोड़ रुपये बढ़ गया है।सप्ताह के दौरान टीसीएस का बाजार पूंजीकरण 42,495.76 करोड़ रुपये बढ़कर 12,13,371.12 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। भारती एयरटेल का बाजार मूल्यांकन 33,960.84 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी के साथ 3,28,697.33 करोड़ रुपये रहा।

नयी दिल्ली। सेंसेक्स की शीर्ष 10 में से छह कंपनियों के बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) में बीते सप्ताह 1,13,018.94 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हुई। सबसे अधिक लाभ में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) और भारती एयरटेल रहीं। रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी बैंक, इन्फोसिस और आईसीआईसीआई बैंक के बाजार पूंजीकरण में भी इजाफा हुआ। वहीं दूसरी ओर हिंदुस्तान यूनिलीवर, एचडीएफसी, कोटक महिंद्रा बैंक और बजाज फाइनेंस के बाजार मूल्यांकन में गिरावट आई। सप्ताह के दौरान टीसीएस का बाजार पूंजीकरण 42,495.76 करोड़ रुपये बढ़कर 12,13,371.12 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। भारती एयरटेल का बाजार मूल्यांकन 33,960.84 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी के साथ 3,28,697.33 करोड़ रुपये रहा।

इसे भी पढ़ें: विदेशी निवेशकों ने भारत में जनवरी में किया 14,866 करोड़ का निवेश

एचडीएफसी बैंक की बाजार हैसियत 19,001.41 करोड़ रुपये बढ़कर 8,07,615.27 करोड़ रुपये पर और इन्फोसिस की 14,184.43 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी के साथ 5,72,957.16 करोड़ रुपये रही। रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण 2,884.44 करोड़ रुपये बढ़कर 12,28,330.03 करोड़ रुपये पर और आईसीआईसीआई बैंक का 492.06 करोड़ रुपये की वृद्धि के साथ 3,74,745.94 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इस रुख के उलट कोटक महिंद्रा बैंक का बाजार मूल्यांकन 21,171.32 करोड़ रुपये घटकर 3,69,082.01 करोड़ रुपये पर और बजाज फाइनेंस का 12,000.53 करोड़ रुपये के नुकसान से 2,94,156.02 करोड़ रुपये पर आ गया।

इसे भी पढ़ें: ओडिशा को महामारी के दौरान मिले 1.25 लाख करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव : पटनायक

हिंदुस्तान यूनिलीवर का बाजार पूंजीकरण 9,034.04 करोड़ रुपये घटकर 5,52,592.14 करोड़ रुपये और एचडीएफसी का 3,861.42 करोड़ रुपये घटकर 4,73,801.61 करोड़ रुपये रह गया। शीर्ष 10 कंपनियों की सूची में रिलायंस इंडस्ट्रीज पहले स्थान पर रही। उसके बाद क्रमश: टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, इन्फोसिस, हिंदुस्तान यूनिलीवर, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, भारती एयरटेल और बजाज फाइनेंस का स्थान रहा। बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 252.16 अंक या 0.51 प्रतिशत के लाभ में रहा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept