इंडस टावर्स ने कारोबार जारी रखने के लिए वोडाफोन आइडिया से बकाया चुकाने को कहा गया

Indus Towers
Google Free License
मोबाइल टावर सेवाप्रदाता इंडस टावर्स ने कर्ज में डूबी वोडाफोन आइडिया (वीआईएल) को नवंबर के बाद कारोबार जारी रखने के लिए बकाया रकम चुकाने और हर महीने समय पर भुगतान करने के लिए कहा है।

नयी दिल्ली। मोबाइल टावर सेवाप्रदाता इंडस टावर्स ने कर्ज में डूबी वोडाफोन आइडिया (वीआईएल) को नवंबर के बाद कारोबार जारी रखने के लिए बकाया रकम चुकाने और हर महीने समय पर भुगतान करने के लिए कहा है। इस घटनाक्रम से वाकिफ सूत्रों ने नाम न बताने की शर्त पर बताया कि वोडाफोन आइडिया के बढ़ते बकाया पर स्वतंत्र निदेशकों द्वारा चिंता व्यक्त करने के बाद कंपनी ने दूरसंचार संचालक से यह कहा है।

इसे भी पढ़ें: म्यांमार की सैन्य सत्ता ने सू ची को फिर दोषी ठहराया, ऑस्ट्रेलियाई अर्थशास्त्री को तीन साल की जेल

सूत्रों ने कहा, ‘‘इंडस टावर्स ने वीआईएल को जल्द से जल्द पिछले बकाया चुकाने को कहा है। कंपनी ने वीआईएल को चालू महीने के बकाया के 80 प्रतिशत का भुगतान करने और अगले महीने से पूरा भुगतान समय पर करने को कहा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘भुगतान न करने की सूरत में नवंबर के बाद इंडस टावर्स.....वोडाफोन आइडिया को सेवाएं देना बंद कर देंगे।’’

इसे भी पढ़ें: इमरान खान का ऑडियो लीक, अपने प्रधान सचिव के साथ विदेशी साजिश पर कर रहे हैं चर्चा

एक अन्य सूत्र ने कहा कि अमेरिकन टावर कॉरपोरेशन (एटीसी) भी अपने बकाये को सुरक्षित करने के लिए इसी तरह के कदमों पर विचार कर रही है। कंपनी के भारत में 75,000 मोबाइल टावर हैं। वोडाफोन आइडिया, इंडस टावर्स और एटीसी को भेजे गए ईमेल का खबर बनाये जाने तक कोई जवाब नहीं मिला। वर्तमान में वीआईएल पर इंडस टावर्स का लगभग 6,800 करोड़ रुपये और एटीसी का 2,400 करोड़ रुपये का बकाया होने का अनुमान है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़