टाटा करेगा महाराजा का स्वागत, गुरुवार को मिल सकता है एयर इंडिया का मालिकाना हक

टाटा करेगा महाराजा का स्वागत, गुरुवार को मिल सकता है एयर इंडिया का मालिकाना हक

सरकार ने प्रतिस्पर्धी बोली प्रक्रिया के बाद आठ अक्टूबर को 18,000 करोड़ रुपये में एयर इंडिया को टैलेस प्राइवेट लिमिटेड को बेच दिया था। यह टाटा समूह की होल्डिंग कंपनी की अनुषंगी इकाई है। अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि सभी औपचारिकताएं पूरी होने के करीब हैं। एयर इंडिया को बृहस्पतिवार को समूह को सौंप दिए जाने की संभावना है।

केंद्र सरकार गुरुवार यानी कि 27 जनवरी को विमानन कंपनी एयर इंडिया को टाटा समूह को सौंप सकती है। इसके साथ ही एक बार फिर एयर इंडिया पर टाटा समूह का मालिकाना हक हो जाएगा। मिल रही जानकारी के मुताबिक एयर इंडिया का मालिकाना हक टाटा को सौंपते ही इसके विनिवेश की प्रक्रिया भी पूरी हो जाएगी। करीब 69 साल पहले समूह से एयर इंडिया लेने के बाद उसे फिर से टाटा को सौंपा जा रहा है। एयर इंडिया के स्टाफ को एक मेल करके कंपनी के फाइनेंस डायरेक्टर विनोद हेजमादी ने कहा कि अब एयर इंडिया की बैलेंस शीट बंद कर दी गई है ताकि टाटा इसकी समीक्षा कर सके। जिसके बाद से यह माना जा रहा था कि जल्द ही एयर इंडिया का टाटा को सौंप दिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: 5G से होगा फ्लाइट को खतरा? एयर इंडिया ने की अमेरिका की कई उड़ानें रद्द, लैंडिंग-ब्रेक को लेकर ये अलर्ट जारी

दूसरी ओर यह भी जानकारी मिल रही थी कि एयर इंडिया के विनिवेश में देरी से प्रधानमंत्री कार्यालय नाराज है। यही कारण है कि अब विनिवेश को लेकर दोनों तरफ से तेजी दिखाई जा रही है। पहले कहा जा रहा था कि एयर इंडिया के अधिग्रहण से जुड़ी औपचारिकताओं को दिसंबर तक ही पूरा कर लिया जाएगा। हालांकि इसमें काफी देरी हुई। आपको बता दें कि सरकार ने प्रतिस्पर्धी बोली प्रक्रिया के बाद आठ अक्टूबर को 18,000 करोड़ रुपये में एयर इंडिया को टैलेस प्राइवेट लिमिटेड को बेच दिया था। यह टाटा समूह की होल्डिंग कंपनी की अनुषंगी इकाई है। अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि सभी औपचारिकताएं पूरी होने के करीब हैं। एयर इंडिया को बृहस्पतिवार को समूह को सौंप दिए जाने की संभावना है।

इसे भी पढ़ें: महाराजा की घर वापसी का आया समय, इस दिन टाटा समूह को सौंपी जाएगी एयर इंडिया की कमान

इस बीच दो एयरलाइन पायलट यूनियन, इंडियन पायलट गिल्ड (आईपीजी) और इंडियन कमर्शियल पायलट एसोसिएशन (आईसीपीए) ने एयर इंडिया के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक विक्रम देव दत्त को कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी है। इसका कारण पायलटों की बकाया राशि पर कई कटौतियों और वसूली का अनुमान लगाया गया है। इसके अलावा दो अन्य यूनियनों ने अपनी उड़ानों से ठीक पहले हवाई अड्डों पर चालक दल के सदस्यों के बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) मापने के लिए कंपनी के 20 जनवरी के आदेश का विरोध किया है। एयर इंडिया कर्मचारी संघ (एआईईयू) और ऑल इंडिया केबिन क्रू एसोसिएशन (एआईसीसीए) ने सोमवार को दत्त को पत्र लिखकर इस आदेश का विरोध करते हुए कहा कि यह अमानवीय होने के साथ नागर विमानन महानिदेशालय के निर्धारित नियमों का उल्लंघन है।