वापस पटरी पर लौटेगी ब्रिटेन की अर्थव्‍यवस्‍था, ऋषि सुनक ने दी ये जानकारी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 30, 2020   19:01
वापस पटरी पर लौटेगी ब्रिटेन की अर्थव्‍यवस्‍था, ऋषि सुनक ने दी ये जानकारी

भारतीय मूल के वित्त मंत्री ने शुक्रवार को कहा कि रोजगार संरक्षण योजना अक्टूबर में पूरी तरह से समाप्त होगी। उससे पहले नियोक्ताओं को कहा गया है कि वे अगस्त से लोगों को दिये जा रहे पैसे में कुछ योगदान करना शुरू कर दें।

लंदन। ब्रिटेन सरकार की लॉकडाउन के बाद अर्थव्यवस्था के धीरे-धीरे खुलते जाने के मद्देनजर कोविड-19 रोजगार संरक्षण योजना को अगस्त से समाप्त करने की ओर बढ़ेगी। ब्रिटेन के वित्त मंत्री ऋषि सुनक ने इसकी जानकारी दी। भारतीय मूल के वित्त मंत्री ने शुक्रवार को कहा कि रोजगार संरक्षण योजना अक्टूबर में पूरी तरह से समाप्त होगी। उससे पहले नियोक्ताओं को कहा गया है कि वे अगस्त से लोगों को दिये जा रहे पैसे में कुछ योगदान करना शुरू कर दें। कोविड-19 रोजगार संरक्षण योजना के तहत करीब 10 लाख लोगों की नौकरियां बचाने के लिये सरकार उनके वेतन के 80 प्रतिशत का भुगतान कर रही है। सुनक ने कहा कि ब्रिटेन के इतिहास में अभी तक किसी भी सरकार ने इतने बड़े स्तर पर ऐसी योजना कभी नहीं लागू की है। उन्होंने कहा, ‘‘निर्विवाद रूप से यह योजना जारी नहीं रह सकती है। नियोक्ताओं को अपने कर्मचारियों के वेतन का भुगतान करने के लिये योगदान करने को कहा जायेगा।” उन्होंने कहा, ‘‘एक जुलाई से योजना को लचीला बनाया जायेगा।

इसे भी पढ़ें: एनटीपीसी और पीएफसी ने उत्तराखंड सरकार को दी 10 हजार पीपीई किट

नियोक्ताओं को अपने कर्मचारियों के वेतन में हर सप्ताह कुछ तय दिन के एवज में अधिकतम योगदान देना होगा।’’ उन्होंने कहा कि बदली योजना के तहत जून और जुलाई में सरकार पहले की तरह 2,500 पाउंड तक 80 प्रतिशत हिस्से का योगदान देती रहेगी। इन दो महीने में नियोक्ताओं को कोई भुगतान नहीं करना होगा। इसके बाद अगस्त में सरकार 80 प्रतिशत हिस्से का भुगतान करेगी, लेकिन नियोक्ताओं को राष्ट्रीय बीमा एवं कर्मचारी पेंशन योगदान के पांच प्रतिशत हिस्से का बोझ उठाना पड़ेगा। सितंबर में सरकार का योगदान 10 प्रतिशत कम होकर 70 प्रतिशत पर आ जायेगा। नियोक्ताओं को इस महीने 10 प्रतिशत अतिरिक्त योगदान करना पड़ेगा। अक्टूबर में सरकार का योगदान और कम होकर 60 प्रतिशत रह जायेगा और नियोक्ताओं के हिस्से में 10 प्रतिशत और बढ़ जायेगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।