वोल्वो भारत में पुरानी कारों के कारोबार का देशव्यापी नेटवर्क खड़ा करेगी

Volvo
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
उन्होंने कहा, ‘हमने भारत में हाल ही में दो डीलरों के साथ वोल्वो सेलेक्ट नाम से पुरानी कारों का कारोबार एक पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू किया है। हम इसे चरणबद्ध ढंग से बढ़ाना चाहते हैं और वर्ष 2023 तक या 2024 की शुरुआत में इसे देश भर में अपने नेटवर्क तक पहुंचाना चाहते हैं।’

स्वीडन की प्रीमियम कार विनिर्माता वोल्वो भारत में अपनी प्रमाणित पुरानी कारों के कारोबार का विस्तार वर्ष 2024 की शुरुआत तक समूचे देश में करना चाहती है और उसे अपने कुल कारोबार में इस खंड की हिस्सेदारी एक-तिहाई हो जाने की उम्मीद है। वोल्वो कार इंडिया के प्रबंध निदेशक ज्योति मल्होत्रा ने पीटीआई-के साथ बातचीत में इसकी जानकारी देते हुए कहा कि सेलेक्ट मंच के तहत पुरानी कारों का कारोबार भारत में हाल ही में शुरू हुआ है।

उन्होंने कहा, ‘‘हमने भारत में हाल ही में दो डीलरों के साथ वोल्वो सेलेक्ट नाम से पुरानी कारों का कारोबार एक पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू किया है। हम इसे चरणबद्ध ढंग से बढ़ाना चाहते हैं और वर्ष 2023 तक या 2024 की शुरुआत में इसे देश भर में अपने नेटवर्क तक पहुंचाना चाहते हैं।’’ मल्होत्रा ने कहा कि पुरानी कारों के बाजार में अगर वाहन विनिर्माता सक्रियता से शिरकत करते हैं तो संख्या बढ़ सकती है।

उन्होंने कहा कि इस तरह से उपभोक्ताओं को अच्छी गुणवत्ता एवं मूल्य मिल पाता है। भारत में पुरानी कारों का बाजार वर्ष 2027 तक 19.5 प्रतिशत की वार्षिक वृद्धि दर से बढ़ेगा और इस कारोबार में वाहनों की संख्या बढ़कर 80 लाख तक पहुंच जाएगी। इसके अलावा प्रीमियम श्रेणी के वाहनों की मांग इस बाजार में बहुत तेजी से बढ़ रही है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़