महिला उद्यमियों को अपने व्यवसाय शुरू करने के लिए प्लेटफार्म देगा सेफएजूकेट

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 22, 2019   17:52
महिला उद्यमियों को अपने व्यवसाय शुरू करने के लिए प्लेटफार्म देगा सेफएजूकेट

इस प्रोग्राम के लिए न्यूनतम जरूरी पात्रता यह है कि प्रतिभागी को वाहन चलाने में सक्षम होना चाहिए, उसके पास वैध लाइसेंस होना चाहिए और संबंधित इलाके की स्थानीय भाषा की जानकारी होनी चाहिए।

नई दिल्ली। सप्लाई चेन मैनेजमेंट एवं लॉजिस्टिक्स के क्षेत्रों में दक्षता रखने वाली भारत की सबसे बड़ी प्रशिक्षण, कौशल और कंसल्टिंग फर्म सेफएजूकेट ने ‘सेफप्रेन्योर्स’ के लॉन्च की घोषणा की है। ‘सेफप्रेन्योर्स’ महिला उद्यमियों को बढ़ावा देने वाली एक पहल है। कंपनी ने लॉजिस्टिक एंड सप्लाई चेन सेक्टर में उद्यमिता की इच्छा रखने वाली पांच महिला चालकों की पहचान की है। कंपनी ने इन महिला चालकों को जरूरी प्रशिक्षण मुहैया कराकर उनकी उद्यमिता यात्रा को आसान बनाने और प्रशिक्षण पूरा होने के बाद उन्हें वाहन मुहैया कराने का लक्ष्य रखा है।

इसे भी पढ़ें: कानून के मुताबिक हुई पायलट की रिहाई, रक्षामंत्री बोलीं- पाक ने नहीं किया कोई एहसान

सेफप्रेन्योर्स एक ऐसा रिवाड्र्स प्रोग्राम है जिसमें प्रत्येक चुनी गई महिला चालक को सेफएजूकेट के साथ जुडऩे और उनके उद्यमिता लक्ष्यों को पूरा करने का अवसर दिया जाएगा। इस प्रोग्राम के लिए न्यूनतम जरूरी पात्रता यह है कि प्रतिभागी को वाहन चलाने में सक्षम होना चाहिए, उसके पास वैध लाइसेंस होना चाहिए और संबंधित इलाके की स्थानीय भाषा की जानकारी होनी चाहिए।

सेफप्रेन्योर्स पहल के तहत सेफएजूकेट इन पांच महिलाओं को न्यूनतम सिक्योरिटी डिपोजिट के साथ ट्रक या सामान ढोने वाला वाहन मुहैया कराएगी। कंपनी उन्हें वाहन चलाने का प्रशिक्षण मुहैया कराने के लिए जिम्मेदार होगी और नए एप्लीकेशनों के जरिये व्यावसायिक सहायता भी मुहैया कराएगी और खास लक्ष्य हासिल होने पर उन्हें कमीशन देगी। पांच साल की अवधि के बाद, ये ट्रक इन महिलाओं के नाम कर दिए जाएंगे और फिर वे अपनी इच्छा के साथ अपना स्वयं का व्यवसाय कर सकेंगी। सेफएजूकेट कंपनी के साथ पांच साल की भागीदारी पूरी होने के बाद महिलाओं को नया ट्रक भी मुहैया कराएगी।

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की आय तीन साल में तीन करोड़ रुपये घटी

सेफएजूकेट की संस्थापक एवं मुख्य कार्याधिकारी दिव्या जैन ने महिलाओं के लिए इस मजबूत पहल के बारे में प्रकाश डालते हुए कहा, ‘भारतीय कामगारों को उनकी पूरी क्षमताओं के साथ आगे बढऩे में मदद करना हमारी लगातार कोशिश रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।