भारत में रक्षा विनिर्माण को लेकर दुनिया भर में दिलचस्पीः पीयूष गोयल

Piyush Goyal
ANI
गोयल ने कहा कि रक्षा क्षेत्र सरकार की नीतियों की वजह से भारत में निवेश का एक स्वभाविक अवसर मुहैया कराता है। उन्होंने कहा, रक्षा पर होने वाले भारी खर्च के अलावा भारत में आकर रक्षा विनिर्माण के लिए विदेशी कंपनियों के लिए दरवाजे खोलने से यहां निवेश की बहुत बड़ी संभावना होगी।
लंदन। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि भारत में रक्षा विनिर्माण को लेकर ब्रिटेन समेत दुनिया भर की कंपनियों में खासी दिलचस्पी देखी जा रही है। विश्व आर्थिक मंच की बैठक में हिस्सा लेने के बाद ब्रिटेन के दो-दिवसीय दौरे पर पहुंचे गोयल ने बृहस्पतिवार को कहा कि दुनिया भारत को न सिर्फ रक्षा उत्पादन के लिहाज से एक बड़े बाजार के रूप में देख रही है बल्कि यह काम के लिहाज से एक सुरक्षित जगह भी है। उन्होंने कहा, पूरी दुनिया को अहसास है कि भारत रक्षा उपकरणों के विनिर्माण के मामले में एक बड़ा बाजार होने के साथ काम के लिहाज से भी एक सुरक्षित जगह है। हम प्रौद्योगिकी अंतरण पर जोर नहीं देते हैं, यहां तक कि हम बेहद मांग वाली प्रौद्योगिकी का भी स्वामित्व विदेशी निवेशकों के पास ही रहने देते हैं। 

इसे भी पढ़ें: भारत के गेहूं निर्यात पर ‘अंकुश’ से वैश्विक बाजारों पर असर नहीं पड़ेगा: पीयूष गोयल

गोयल ने कहा कि रक्षा क्षेत्र सरकार की नीतियों की वजह से भारत में निवेश का एक स्वभाविक अवसर मुहैया कराता है। उन्होंने कहा, रक्षा पर होने वाले भारी खर्च के अलावा भारत में आकर रक्षा विनिर्माण के लिए विदेशी कंपनियों के लिए दरवाजे खोलने से यहां निवेश की बहुत बड़ी संभावना होगी। उन्होंने कहा कि ब्रिटेन की कुछ कंपनियों ने भी भारत आकर रक्षा क्षेत्र में निवेश करने में दिलचस्पी दिखाई है। उन्होंने कहा कि इस पर आगे बात करने को लेकर भारत उत्सुक है। गोयल ने कहा कि कोविड-19 महामारी और रूस-यूक्रेन युद्ध जैसी घटनाओं के बावजूद भारत के लोग भविष्य को लेकर आशावादी हैं। उन्होंने कहा कि भारत का युवा भविष्य की तरफ काफी उम्मीद एवं आकांक्षा के साथ देख रहा है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़