UPTET की तैयारी और उसकी बेहतर सफलता के लिए क्या करें?

UPTET की तैयारी और उसकी बेहतर सफलता के लिए क्या करें?

यूपीटीईटी परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद उम्मीदवारों को यूपीटीईटी अर्हता प्रमाण पत्र प्राप्त होता है, जो 7 साल तक के लिए मान्य होता है। यह प्रमाण पत्र UPTET परिणाम की घोषणा के बाद ही जारी किया जाता है।

क्या आपकी शिक्षण में रुचि है और आप शिक्षक बनना चाहते हैं? यदि हाँ, तो आप इसके लिए तैयारी अभी से शुरू कर दीजिये। उत्तर प्रदेश बेसिक एजुकेशन बोर्ड (UPBEB) प्राथमिक और जूनियर शिक्षकों का चयन करने के लिए वर्ष में एक बार अपनी टीईटी परीक्षा (UPTET) आयोजित करता है। 

उत्तर प्रदेश के स्कूलों में प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक के रूप में भर्ती के लिए पात्र होने के लिए उम्मीदवारों को UPTET परीक्षा उत्तीर्ण करने की आवश्यकता होती है। यूपीटीईटी परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद उम्मीदवारों को यूपीटीईटी अर्हता प्रमाण पत्र प्राप्त होता है, जो 7 साल तक के लिए मान्य होता है। यह प्रमाण पत्र UPTET परिणाम की घोषणा के बाद ही जारी किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: पॉमोलॉजिस्ट बनकर संवारें दूसरों का और अपना भविष्य

UPTET लिखित परीक्षा में दो पेपर शामिल हैं:

पेपर I: प्राथमिक स्तर के शिक्षकों के लिए

पेपर II: जूनियर स्तर के शिक्षकों के लिए

UPTET पात्रता मानदंड

UPTET परीक्षा उत्तीर्ण करने के लिए उम्मीदवारों को पात्रता मानदंड को पूरा करना आवश्यक होता है। बोर्ड ने पात्रता के लिए शैक्षणिक योग्यता और आयु सीमा के दो मापदंड निर्धारित किए हैं। इस परीक्षा के लिए पात्र बनने के लिए आपको 18 से 35 वर्ष की आयु का होना चाहिए। हालांकि, कुछ ऊपरी आयु में छूट ओबीसी, एससी और एसटी उम्मीदवारों को दी जाती है। इसी तरह, प्राथमिक और उच्च प्राथमिक शिक्षकों के पद के लिए विभिन्न योग्यताएँ स्वीकार की जाती हैं। जैसे- 

आयु सीमा: यूपीटीईटी 2020 परीक्षा के लिए आवेदन करने के लिए न्यूनतम आयु सीमा 18 वर्ष और ऊपरी आयु सीमा 35 वर्ष है। हालांकि, विभिन्न श्रेणियों के लिए ऊपरी आयु सीमा में छूट दी गई है। ओबीसी श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए ऊपरी आयु सीमा 38 वर्ष, एससी / एसटी के लिए 40 वर्ष और विकलांग व्यक्तियों के लिए 45 वर्ष है।

शैक्षिक योग्यता

प्राथमिक शिक्षकों के लिए पात्रता:

नीचे दिए गए निम्न मानदंडों में से एक को पूरा करना होगा:

- न्यूनतम 50% अंकों के साथ स्नातक की डिग्री और एनसीटीई / भारतीय पुनर्वास परिषद (आरसीआई) से 2 साल का डिप्लोमा (डीएड)

- स्नातक की डिग्री और 2 साल B.T.C., C.T. (नर्सरी) / नर्सरी शिक्षक प्रशिक्षण (एनटीटी)

- स्नातक की डिग्री और विशेष B.T.C में प्रशिक्षण योग्यता

- 2 साल की स्नातक की डिग्री और उत्तर प्रदेश में BCT उर्दू विशेष प्रशिक्षण 

- अलीगढ़ मुस्लिम में स्नातक की डिग्री और डिप्लोमा इन टीचिंग

- विश्वविद्यालय या मोअल्लिम-ए-उर्दू डिग्री जो 11-08-1997 से पहले प्राप्त हुई थी

उच्च प्राथमिक शिक्षकों के लिए पात्रता

नीचे दिए गए निम्न मानदंडों में से एक को पूरा करना होगा:

- राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (NCTE) द्वारा अनुमोदित संस्थान से स्नातक की डिग्री और B.T.C

- न्यूनतम 50% अंकों के साथ स्नातक की डिग्री और भारतीय पुनर्वास परिषद (RCI) से B.Ed / B.Ed विशेष शिक्षा

- इंटरमीडिएट (10 + 2) न्यूनतम 50% अंकों के साथ और मान्यता प्राप्त संस्थान से 4 वर्ष का B.A / B.S.C.Ed / B.Ed से N.C.T.E./ U.G.C 

- प्राथमिक शिक्षा में न्यूनतम 50% अंकों के साथ 10 + 2 इंटरमीडिएट प्रमाणन और 4 साल की डिग्री (B.El.Ed)

- न्यूनतम 45% के साथ स्नातक की डिग्री और बी.एड डिग्री 

आपको प्रमाणपत्र के सत्यापन प्रक्रिया के दौरान अपनी पात्रता को मान्य करने के लिए मूल प्रमाण पत्र को प्रस्तुत करना होगा।

इसे भी पढ़ें: बेहद अनोखा कॅरियर है मिक्सोलॉजी, नौकरी की अपार संभावनाएं

UPTET 2020 आवेदन प्रक्रिया और आवेदन शुल्क

UPTET ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया updeled.gov.in पर ऑनलाइन आयोजित की जाती है। उम्मीदवार, जो यूपीटीईटी पात्रता प्रमाण पत्र प्राप्त करना चाहते हैं, उन्हें उसी के लिए पंजीकरण करने और यूपीटीईटी परीक्षा के लिए उपस्थित होने की आवश्यकता होती है। UPTET के लिए पंजीकरण, आवेदन और परीक्षा शुल्क का भुगतान ऑनलाइन किया जाता है। विस्तृत प्रक्रिया इस प्रकार है:

चरण 1: updeled.gov.in पर जाएं

चरण 2: "UPTET 2020" पर क्लिक करें

चरण 3: आवश्यक विवरण दर्ज करके UPTET के लिए पंजीकरण करें

चरण 4: अब पंजीकरण विवरण का उपयोग करके आवेदन करें

चरण 5: फोटोग्राफ और हस्ताक्षर की स्कैन की गई कॉपियां अपलोड करें

चरण 6: आवेदन शुल्क का भुगतान करें

चरण 7: पुष्टीकरण पृष्ठ को सेव कर लें

यूपीटीईटी पंजीकरण शुल्क सामान्य / ओबीसी और ईडब्ल्यूएस उम्मीदवारों के लिए INR 600, SC / ST श्रेणी के लिए INR 400 और PWD उम्मीदवारों के लिए INR 100 है।  उम्मीदवार आवेदन शुल्क का भुगतान ऑनलाइन मोड में डेबिट या क्रेडिट कार्ड के माध्यम से कर सकते हैं। 

उम्मीदवारों को UPBEB की आधिकारिक वेबसाइट यानी updeled.gov.in पर अपना पंजीकरण कराना आवश्यक है। एक बार ऑनलाइन पंजीकरण पूरा होने के बाद उम्मीदवारों को एक पंजीकरण संख्या प्राप्त होती है। वेबसाइट पर लॉगिन करने के लिए पंजीकरण संख्या और जन्मतिथि का उपयोग करें।

इसे भी पढ़ें: आसान और लाभकारी बिजनेस है मत्स्य पालन, कॅरियर के हैं भरपूर अवसर

UPTET की तैयारी के महत्वपूर्ण टिप्स

किसी भी परीक्षा की तैयारी के लिए 3 Ps रणनीति का पालन करना चाहिए, जो इस प्रकार है -   

1. योजना (Plan): प्लानिंग में समय सारणी बनाने के साथ-साथ प्रत्येक विषय के लिए एक निश्चित समय निर्धारित करके एक कार्यक्रम तैयार करना शामिल है। अपनी क्षमता का विश्लेषण करना भी आवश्यक है।

2. तैयारी करें (Prepare): योजना बनाने के बाद अगला कदम योजना के अनुसार तैयारी करना है। तैयारी प्रत्येक विषय के लिए समय सारणी और दिनों के अनुसार की जानी चाहिए। सप्ताहांत का उपयोग कुछ विषयों के लिए मॉक टेस्ट और अनुभागीय परीक्षणों के लिए किया जा सकता है।

3. अभ्यास (Practice): अभ्यास एक व्यक्ति को परिपूर्ण बनाता है। कुछ विषयों जैसे गणित, व्याकरण, रीजनिंग आदि पर अभ्यास की आवश्यकता होती है। अभ्यास करने से आपका आत्मबल बढ़ेगा और साथ ही परीक्षा का प्रयास करने के लिए आवश्यक आत्मविश्वास भी मिलेगा।

- जे. पी. शुक्ला






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

गुरुकुल

झरोखे से...