स्टीफन फ्लेमिंग ने कहा, रवैये में बदलाव से CSK का भाग्य बदला

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 29, 2021   11:21
स्टीफन फ्लेमिंग ने कहा, रवैये में बदलाव से CSK का भाग्य बदला

चेन्नई सुपर किंग्स के कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने कहा, सीएसके का भाग्य रवैये में बदलाव से आया है। न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान ने कहा कि पिछले सत्र में उनकी फ्रेंचाइजी को कुछ सबक मिले। तब टीम आईपीएल इतिहास में पहली बार प्लेऑफ में जगह नहीं बना पायी थी।

नयी दिल्ली। चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने कहा कि रवैये में बदलाव के कारण पिछले साल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में लचर प्रदर्शन करे वाली उनकी टीम का भाग्य बदला। सीएसके की टीम इस साल बेहतरीन फार्म में है और उसने अब तक छह मैचों में से पांच में जीत दर्ज की है। वह अंकतालिका में शीर्ष पर है। उसने कल रात सनराइजर्स हैदराबाद को हराकर अपनी लगातार पांचवीं जीत दर्ज की। फ्लेमिंग ने कहा, ‘‘यूएई (पिछला आईपीएल) हमारे लिये काफी कड़ा रहा। हमने काफी मैच गंवाये। कई चीजें हमारे खिलाफ गयी और तब हम कुछ खास नहीं कर पाये।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम जो कर रहे थे उसके प्रति हमने अपने रवैये में कुछ बदलाव किये और इसके बाद हम सुनिश्चित थे कि इस वर्ष आईपीएल में हम किस शैली की क्रिकेट खेलेंगे। ’’ फ्लेमिंग ने कहा, ‘‘हमें तेजतर्रार खेल खेलने की जरूरत है। यदि हम चेन्नई में नहीं खेल रहे हैं तो हमें अपने खेल में परिस्थिति के अनुरूप ढालने की आवश्यकता है और हम ऐसा प्रयास कर रहे हैं।’’

इसे भी पढ़ें: खिलाड़ियों के बाद 2 अंपायरों ने भी छोड़ा IPL, जानिए कारण

न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान ने कहा कि पिछले सत्र में उनकी फ्रेंचाइजी को कुछ सबक मिले। तब टीम आईपीएल इतिहास में पहली बार प्लेऑफ में जगह नहीं बना पायी थी। फ्लेमिंग ने कहा, ‘‘जब खेल नहीं हो रहा था तब हम ऐसे खिलाड़ियों पर ध्यान दे रहे थे जो फिट हों और चेन्नई ही नहीं विदेश जैसी परिस्थितियों में भी अपनी भूमिका निभा सकें। रवैया भी बदल गया है।’’ फ्लेमिंग ने आलराउंडर रविंद्र जडेजा की प्रशंसा की जिन्होंने आस्ट्रेलिया में चोटिल होने के बाद आईपीएल में वापसी की। उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पास नेतृत्व समूह नहीं है। वह टीम का प्रमुख सदस्य है। वह निसंदेह अपने कौशल के चरम पर पहुंचने के करीब हैं। वह अब भी कड़ी मेहनत कर रहा है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।