• हार के बाद बोले कोहली- न्यूजीलैंड जीत का हकदार, हमने 30 से 40 रन कम बनाये

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि, न्यूजीलैंड जीत का हकदार है और हमने 30 से 40 रन कम बनाये है।कोहली ने कहा कि, केन (विलियमसन) और न्यूजीलैंड की पूरी टीम को बधाई। उन्होंने गजब का जज्बा दिखाया और तीन दिन से थोड़े अधिक समय में परिणाम हासिल किया।

साउथम्पटन। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने न्यूजीलैंड को विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल में जीत का हकदार बताया और बुधवार को यहां कहा कि यदि उनकी टीम ने दूसरी पारी में 30 से 40 रन अधिक बनाये होते तो परिणाम भिन्न हो सकता था। भारतीय टीम दूसरी पारी में 170 रन पर आउट हो गयी। न्यूजीलैंड को 139 रन का लक्ष्य मिला जो उसने केन विलियमसन (नाबाद 52) और रोस टेलर (नाबाद 47) के बीच तीसरे विकेट के लिये 96 रन की अटूट साझेदारी से दो विकेट खोकर हासिल कर दिया। कोहली ने कहा, ‘‘केन (विलियमसन) और न्यूजीलैंड की पूरी टीम को बधाई। उन्होंने गजब का जज्बा दिखाया और तीन दिन से थोड़े अधिक समय में परिणाम हासिल किया। उन्होंने हमें दबाव में रखा। वे जीत के हकदार थे। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘न्यूजीलैंड के गेंदबाजों ने अपनी रणनीति पर अच्छी तरह से अमल किया। हमने 30 से 40 रन कम बनाये।

इसे भी पढ़ें: रोजाना नया सबक सिखाती है जिंदगी: ओलंपिक पहचान से आगे निकले मुक्केबाज विजेंदर

भारतीय कप्तान ने कहा कि बारिश के व्यवधान के कारण उनकी टीम की लय गड़बड़ायी। उन्होंने कहा, ‘‘ पहला दिन बारिश से धुल गया, और जब खेल फिर से शुरू हुआ तो लय हासिल करना मुश्किल था। हमने केवल तीन विकेट गंवाए, लेकिन यदि खेल बिना रुकावट के चलता रहा तो हम और रन बना सकते थे।’’ न्यूजीलैंड के कप्तान विलियमसन ने कोहली और भारतीय टीम की प्रशंसा की और चैंपियन बनने का विशेष अहसास करार दिया। विलियमसन ने कहा, ‘‘मैं विराट और भारतीय टीम का आभार व्यक्त करता हूतं। वह एक अविश्वसनीय टीम हैं, हम जानते थे कि यह कितना चुनौतीपूर्ण होगा। मुझे खुशी है कि हमारी टीम जीत दर्ज करने में सफल रही।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह बहुत ही खास अहसास है। पहली बार हमने अपने क्रिकेट इतिहास में विश्व खिताब जीता है। पिछले दो वर्षों में हमारी टीम से जुड़े रहे प्रत्येक खिलाड़ी ने इसमें भूमिका निभायी है। यह एक विशेष उपलब्धि है।’’

इसे भी पढ़ें: एशेज सीरीज में परिवार साथ नहीं ले जाने पर संभावना पर बरसे वॉन और पीटरसन

टेलर ने कहा कि वह इस जीत को ताउम्र याद रखेंगे जो उनके करियर का मुख्य आकर्षण होगी। उन्होंने कहा, ‘‘मैच में बहुत बारिश हुई लेकिन जिस तरह से हमारी टीम ने शुरू में संघर्ष करने के बाद वापसी की और जीत हासिल की उसे मैं कभी नहीं भूल सकता। इसमें कोई दो मत नहीं है कि दबाव काफी था लेकिन हमने उसके अनुसार ही बल्लेबाजी की। ’’ टीम के मुख्य गेंदबाज टिम साउदी ने कहा कि खिलाड़ी दो साल पहले शुरू हुई इस यात्रा का सुखद अंत चाहते थे। भारत की दूसरी पारी में चार विकेट लेने वाले साउदी ने कहा, ‘‘ हमने यह यात्रा दो साल पहले शुरू की थी। यहां बतौर चैंपियन बैठना खास है। इसमें काफी मेहनत लगी है। हमारे पास जो है उसे हासिल करना संतोषजनक है। हमारे दो सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजी क्रीज पर थे इसलिए हम शांतचित थे। हम इस दौरे के सुखद अंत के साथ (वीजे) वॉटलिंग के क्रिकेट करियर का अंत चाहते थे। ’’

इसे भी पढ़ें: मजबूरी! सड़क पर बिस्कुट और चिप्स बेच रही देश की पहली महिला पैरा शूटिंग चैंपियन

वाटलिंग ने पहले ही घोषणा कर दी थी कि डब्ल्यूटीसी फाइनल के बाद वह अपने अंतरराष्ट्रीय करियर को अलविदा कह देंगे। वाटलिंग ने कहा, ‘‘हमारी टीम एक समूह के तौर पर लंबे समय से कड़ी मेहनत कर रही थी और उसका इस तरह से अंत संतोषजनक रहा। मुझे बहुत खुशी है कि मैं चैंपियन बनकर अपने करियर का अंत कर रहा हूं। मैंने कभी इसकी कल्पना नहीं की थी।’’ काइल जैमीसन को उनकी शानदार गेंदबाजी के लिये मैन ऑफ द मैच चुना गया। उन्होंने कहा, ‘‘यह हमारे लिये बहुत बड़ा क्षण है। हम जानते थे कि आज हमारे लिये पहले घंटे का खेल महत्वपूर्ण होगा। हमने सही जगह पर गेंदबाजी की। हम जानते थे कि यदि हम सही लेंथ से गेंदबाजी करते हैं तो इससे हमारी जीत की राह को आसान बनेगी। मुझे अच्छा लग रहा है कि मैंने टीम की जीत में योगदान दिया।