रोहित और विराट की जोड़ी बनाएगी टीम इंडिया को चैंपियन!

rohit-and-virat-will-make-team-india-champions
दीपक मिश्रा । Jun 21, 2019 6:35PM
जाहिर है रोहित शर्मा टीम इंडिया के सबसे बड़ा हथियार है। मैच में उनका अच्छा प्रदर्शन भारत के जीत की गारंटी होता है। वैसे रोहित शर्मा तो टीम इंडिया के लिए अच्छा प्रदर्शन कर ही रहे है। लेकिन कप्तान कोहली के बल्ले से भी बड़ी पारी बस निकलने का इंतजार कर रही है।

वर्ल्ड कप 2019 में रोहित शर्मा का बल्ला जमकर गरज रहा है। यह रोहित ही है जिनके दम पर टीम इंडिया ने अब तक इस टूर्नामेंट में तीन जीत हासिल की है। रोहित हर मैच में मानों ऐसे खेल रहे है जैसे टीम इंडिया को जिताकर ही दम लेंगे। और ऐसा सही भी है आखिर टीम इंडिया का वनडे क्रिकेट में जीत का विजयरथ जारी है उसके असली सारथी तो भारतीय टीम का टॉप आर्डर ही है। टीम इंडिया का टॉप आर्डर इस समय सबसे मजबूत दिखाई देता है और इस वर्ल्ड कप में इसकी सबसे बड़ी ताकत रोहित शर्मा ही है। अगर 2019 वर्ल्ड कप में रोहित के प्रदर्शन पर नजर डाली जाएं तो रोहित ने वर्ल्ड कप 2019 के 3 मैच में 159.50 की औसत से 319 रन बना चुके है। वहीं उनके नाम 2 शतक और 1 अर्धशतक भी शामिल है।

इसे भी पढ़ें: इमरान की बात मानकर क्या इतिहास बनाने में कामयाब हो जाते सरफराज!

रोहित का ये प्रदर्शन दिखाता है कि भारत की जीत के असली सूरमा तो वहीं है। इसके अलावा अपने साथी ओनपर शिखर धवन के चोटिल होने के बाद रोहित शर्मा ने उनकी जिम्मेदारी भी अपने कंधे पर उठा ली है। धवन अब वर्ल्ड कप से बाहर हो चुके है। धवन अंगूठे में चोट के कारण अब वर्ल्ड कप में नहीं खेल पाएंगे। रोहित शर्मा के साथ धवन की शानदार ओपनिंग जोड़ी टीम इंडिया को कई वनडे मुकाबले जिता चुके है। लेकिन इस वर्ल्ड कप में अब यह दुबारा नहीं दिखाई दे पाएगी। इसलिए पाकिस्तान के खिलाफ टीम इंडिया ने केएल राहुल को रोहित शर्मा के साथ आजमाया। भारतीय टीम का यह फैसला अच्छा साबित हुआ और दोनों खिलाड़ियों ने मिलकर पहले विकेट के लिए 136 रन की शानदार साझेदारी भी की। पाकिस्तान के खिलाफ मैच में रोहित ने ना सिर्फ शतक जड़ा बल्कि केएल राहुल जब पिच पर टिकने की कोशिश कर रहे थे उस समय तेजी से रन बनाकर अपने साथी का दबाव भी कम किया। जिसके बाद राहुल ने मैच में अर्धशतक जमाया और टीम इंडिया की जीत में अहम भूमिका निभाई।

जाहिर है रोहित शर्मा टीम इंडिया के सबसे बड़ा हथियार है। मैच में उनका अच्छा प्रदर्शन भारत के जीत की गारंटी होता है। वैसे रोहित शर्मा तो टीम इंडिया के लिए अच्छा प्रदर्शन कर ही रहे है। लेकिन कप्तान कोहली के बल्ले से भी बड़ी पारी बस निकलने का इंतजार कर रही है। कोहली ने टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन किया है। कोहली ने वर्ल्ड कप के 3 मैच में 59.00 की औसत 177 रन बनाएं है और उनके नाम 2 अर्धशतक भी शामिल है। 

इसे भी पढ़ें: क्या आपको धोनी, रोहित और कोहली के बनाए इन अदभुत आंकड़ों की है जानकारी

विराट का ये प्रदर्शन अभी तक उनके क्लास के मुताबिक तो नहीं रहा है। लेकिन टीम इंडिया के जीत में इसने अहम भूमिका निभाई है। वर्ल्ड कप के आने वाले मैचों में विराट भी बड़ी सेंचुरी लगाते हुए दिखाई देंगे जिसका भारतीय फैंस को इंतजार है। अगर टीम इंडिया की सबसे बड़ी ताकत की बात की जाएं तो वो रोहित और विराट की जोड़ी है। ये दोनों विरोधी टीम के लिए एक बुरे सपने की तरह है जो ना सिर्फ मैदान पर रन बनाते है बल्कि सामने वाली टीम के मैच जीतने के हौंसले भी पस्त कर देते है। वर्ल्ड कप में जिस बल्लेबाजी क्रम का सबसे ज्यादा खतरा था वो टीम इंडिया का टॉप आर्डर ही है। इस टॉप आर्डर में धवन, रोहित और विराट की जोड़ी थी। लेकिन अब इसमे से धवन बाहर हो चुके है। अगर इस समय भारतीय टीम को सबसे ज्यादा जरूरत है तो वो रोहित शर्मा और विराट कोहली से ही है। रोहित और विराट को इस वर्ल्ड कप में रनों का अंबार लगाना होगा। क्योंकि इस समय टीम इंडिया का मिडिल आर्डर ज्यादा संयोजित दिखाई नहीं दे रहा है। केएल राहुल के ओपनिंग करने के बाद अब ऋषभ पंत के चौथे नंबर पर खेलने की उम्मीद की जा रही है। ऐसे में रोहित और विराट के कंधे पर जिम्मेदारी है कि वो शुरूआत में भारत के लिए इतने रन बनाएं जिससे टीम के मिडिल आर्डर के खिलाड़ियों की राह आसान हो जाएं। लेकिन इसके साथ टीम के बाकि बल्लेबाजों को भी मौका मिलने पर खराब परिस्थितियों में बेहतर बल्लेबाजी करनी होगी। उम्मीद है इस वर्ल्ड कप में रोहित और विराट का बल्ला जमकर गरजेगा और टीम इंडिया लगातार जीत हासिल करती जाएगी। क्योंकि इस बार विराट कोहली की अगुवाई में पूरा भारत सिर्फ और सिर्फ खिताब चाहता है। 

- दीपक मिश्रा

अन्य न्यूज़