योगा से पहले जरूर करें यह वार्मअप एक्ससाइज, मिलेगा मैक्सिमम बेनिफिट

warm up exercise
मिताली जैन । Aug 17, 2021 3:31PM
योगा एक्सपर्ट के अनुसार, वार्म की शुरूआत आप ऊपर से नीचे या नीचे से ऊपर कर सकते हैं। अगर आप पहले अपने लोअर पार्ट के लिए वार्मअप कर रहे हैं तो सबसे पहले पैरों को स्ट्रेच करें। इसके लिए मैट पर सीधे लेट जाएं। अब आप एक पैर उठाएं और फिर दूसरा।

आज के समय में लोग हेल्दी रहने के लिए खानपान के साथ−साथ व्यायाम पर भी उतना ही ध्यान देते हैं। यूं तो कई तरह से वर्कआउट किया जा सकता है, लेकिन योग एक ऐसा जरिया है, जो आपके तन ही नहीं, मन पर भी सकारात्मक प्रभाव डालता है। साथ ही साथ इसे किसी भी उम्र में आसानी से किया जा सकता है। हालांकि, योगासनों का पर्याप्त लाभ तभी मिलता है, जब इन्हें सही तरह से किया जाए। खासतौर से, योगाभ्यास करने से पहले वार्मअप करना भी उतना ही आवश्यक है। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको उन वार्मअप एक्सरसाइज के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें आप योगासनों के अभ्यास से पहले कर सकते हैं−

इसे भी पढ़ें: यूटरस का ख्याल रखने के लिए रूजुता दिवेकर के बताए गए यह उपाय अपनाएं

पैरों को करें स्ट्रेच

योगा एक्सपर्ट के अनुसार, वार्म की शुरूआत आप ऊपर से नीचे या नीचे से ऊपर कर सकते हैं। अगर आप पहले अपने लोअर पार्ट के लिए वार्मअप कर रहे हैं तो सबसे पहले पैरों को स्ट्रेच करें। इसके लिए मैट पर सीधे लेट जाएं। अब आप एक पैर उठाएं और फिर दूसरा। आप चाहें तो दोनों पैरों को भी एक साथ उठा सकते हैं। इस अभ्यास से आपके पैर स्ट्रेच होंगे।

हाथों की एक्सरसाइज

इसके बाद बारी आती है हाथों की। इसके लिए मैट पर ही बैठ जाए। अब आप अपने हाथों को सामने की ओर लाएं व कोहनी से मोड़ें और एक हाथ को दूसरे में टि्वस्ट करते हुए पकड़ें। इस दौरान पीठ को बिल्कुल सीधा रखें।

इसे भी पढ़ें: लिवर के लिए नुकसानदायक हैं यह 5 फूड्स, आज ही बना लें दूरी

गर्दन की मूवमेंट

जब बात वार्मअप की होती है तो नेक मूवमेंट पर ध्यान दिया जाना बेहद आवश्यक है। इसके लिए आप मैट पर बैठ जाएं और अपने दोनों हाथों को घुटनों पर रखें, जैसा कि आप सुखासन में बैठते हैं। अब आप अपनी गर्दन को पहले क्लॉक वाइज घुमाएं और फिर एंटी−क्लॉक वाइज इसे घुमाएं।

टि्वस्ट एक्ससाइज

योगा एक्सपर्ट के अनुसार, यह एक आसान एक्सरसाइज है, लेकिन इससे आपकी पूरी बॉडी योगासन के लिए तैयार हो जाती है। इसके लिए पहले अपने पैरों को आसान मुद्रा में रखें और अपने बाएं हाथ को अपने दाहिने घुटने पर और दाहिने हाथ को अपनी पीठ के पीछे लाते हुए दाईं ओर मोड़ें। अपनी नजरों को धीरे से अपने दाहिने कंधे पर ले जाएं। फिर बाईं ओर मुड़ें, दाहिने हाथ को अपने बाएं घुटने पर और बाएं हाथ को अपनी पीठ के पीछे लाते हुए, अपने बाएं कंधे को देखें। 

मिताली जैन

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

अन्य न्यूज़