संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी की रिपोर्ट, लीबिया के तट के पास भूमध्यसागर में 75 शरणार्थी डूबे

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 21, 2021   14:00
संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी की रिपोर्ट, लीबिया के तट के पास भूमध्यसागर में 75 शरणार्थी डूबे

संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी ने कहा कि इस सप्ताह की शुरुआत में नौका से इटली पहुंचने की कोशिश में 75 शरणार्थी उत्तरी लीबिया के तट के पास भूमध्यसागर में डूब गए। ‘इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन फॉर माइग्रेशन’ ने शनिवार को ट्वीट कर यह जानकारी दी।

रोम। संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी ने कहा कि इस सप्ताह की शुरुआत में नौका से इटली पहुंचने की कोशिश में 75 शरणार्थी उत्तरी लीबिया के तट के पास भूमध्यसागर में डूब गए। ‘इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन फॉर माइग्रेशन’ ने शनिवार को ट्वीट कर यह जानकारी दी। उसने बताया कि 15 लोगों को मछुआरों ने बचा लिया और उन्हें उत्तरपश्चिमी लीबिया में जुवारा बंदरगाह तक लाया गया। उसने अभी इस बारे में अधिक जानकारी नहीं दी है। इस बीच, इटली के तटरक्षक बल ने शनिवार को नौकाओं पर सवार 420 से अधिक शरणार्थियों को भूमध्यसागर में खराब मौसम के बीच बचाया, इनमें दर्जनों नाबालिग भी शामिल रहे।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका के शीर्ष एडमिरल ने हैलीफैक्स फोरम में चीन के खतरे से आगाह किया

तटरक्षक बल ने एक वक्तव्य में कहा कि उसकी एक मोटर चालित नौका से 70 शरणार्थियों को सिसिली के दक्षिण में इटली के लैम्पेदुसा द्वीप सुरक्षित लाया गया। इस बीच, तटरक्षक बल का एक अन्य जहाज 350 से अधिक शरणार्थियों को लेकर शनिवार शाम को सिसिली में पोर्तो एम्पेदोस्ली बंदरगाह की ओर रवाना हुआ। इन शरणार्थियों में 40 से अधिक नाबालिग भी शामिल हैं। उन्हें सिसिलियन तट से 115 किलोमीटर दूर मछली पकड़ने वाली एक नौका से सुरक्षित बचाया गया।

इसे भी पढ़ें: चीन ने ताइवान को लेकर लिथुआनिया के साथ संबंधों का स्तर किया कम

तटरक्षक बल ने बताया कि मछली पकड़ने वाली नौका ‘‘समुद्र में खराब मौसम और क्षमता से अधिक लोगों के सवार होने के कारण खतरे में थी।’’ बयान में बड़ी संख्या में शरणार्थियों को बचाए जाने को ‘‘जटिल’’ बताया गया। इसमें कहा गया है कि बचाव अभियान के दौरान ‘‘हवा के असर को खत्म करने के लिए’’ चार मालवाहक जहाजों को काम में लगाया गया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...