ब्रिटेन, EU ने हुवावेई को कड़ी शर्तो के साथ दी 5G इस्तेमाल करने की मंजूरी,अमेरिका निराश

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 29, 2020   12:06
ब्रिटेन, EU ने हुवावेई को कड़ी शर्तो के साथ दी 5G इस्तेमाल करने की मंजूरी,अमेरिका निराश

ब्रिटेन ने दूरंसचार उपकरण बनाने वाली चीनी कंपनी हुवावेई को कड़ी शर्तों के साथ देश में 5जी नेटवर्क खड़ा करने की मंगलवार को अनुमति दे दी।ब्रिटेन की सरकार ने एक बयान में कहा कि देश में काम कर रही दूरसंचार कंपनियां अपने 5जी नेटवर्क के लिए हुवावेई के उपकरण उपयोग कर सकेंगी।

ब्रसेल्स/लंदन। ब्रिटेन ने दूरंसचार उपकरण बनाने वाली चीनी कंपनी हुवावेई को कड़ी शर्तों के साथ देश में 5जी नेटवर्क खड़ा करने की मंगलवार को अनुमति दे दी। वहीं, यूरोपीय संघ ने किसी भी कंपनी का नाम लिये बिना कहा है कि उसके सख्त नियमों का पालन करने वाली किसी भी कंपनी को अनुमति देने में वह कोई भेदभाव नहीं करेगा। हालांकि, ब्रिटेन और यूरोपीय संघ के इस निर्णय पर अमेरिका ने निराशा व्यक्त की है। सुरक्षा चिंताओं के चलते अमेरिका लंबे समय से चीन की कंपनी हुवावेई के खिलाफ दबाव बनाता रहा था। ब्रिटेन और यूरोपीय संघ ने बीच का रास्ता निकालते हुए हुवावेई को प्रतिबंधित करने की बजाय कड़े नियम बनाने की बात कही है।

इसे भी पढ़ें: चीन में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 132 हुई, करीब 6,000 मामलों की पुष्टि

ब्रिटेन की सरकार ने एक बयान में कहा कि देश में काम कर रही दूरसंचार कंपनियां अपने 5जी नेटवर्क के लिए हुवावेई के उपकरण उपयोग कर सकेंगी। लेकिन हुवावेई को ‘सुरक्षा के लिहाज से संवेदनशील’इलाकों से दूर रखा गया है। बीबीसी की रपट के मुताबिक ब्रेक्जिट के बाद प्रधानमंत्री बॉरिस जॉनसन के लिए यह एक बड़ी परीक्षा मानी जा रही थी, क्योंकि उनकी कंजरवेटिव पार्टी के अंदर ही अमेरिका की शर्तें मानने का भारी दबाव था। जॉनसन ने इस संबंध में शुक्रवार को फोन पर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से भी बातचीत की थी।

खबरों के मुताबिक ट्रंप सरकार के अधिकारी ने ब्रिटेन के इस निर्णय पर निराशा व्यक्त की है। हुवावेई ने ब्रिटेन में आधुनिक पांचवी पीढ़ी के नेटवर्क की स्थापना करने की फिर से प्रतिबद्धता जतायी है। कंपनी के ब्रिटेन के प्रमुख विक्टर झांग ने एक बयान में कहा कि वह ब्रिटेन को दुनिया की सबसे अग्रणी प्रौद्योगिकी उपलब्ध कराएगा और एक प्रतिस्पर्धी बाजार बनाए रखना सुनिश्वित करेगा। मंगलवार को ही यूरोपीय संघ ने कहा कि वह चीन की दूरसंचार उपकरण कंपनी हुवावेई या किसी अन्य कंपनी को यूरोप में आने से नहीं रोकेगा। यूरोपीय संघ सभी सदस्य देशों को इस संबंध में बुधवार को दिशानिर्देश जारी करेगा। 

इसे भी पढ़ें: 2004 में इराक कैंप जेल में हुई थी बगदादी से मुलाकात, 2020 में बन गया ISIS का नया खलीफा

संघ की कार्यकारी इकाई यूरोपीय आयोग के आयुक्त थिएरी ब्रेटन ने यूरोपीय संसद के सदस्यों से कहा कि वह कंपनियों को रोकेगा नहीं बल्कि उनके लिए कड़े नियम बनाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘यह भेदभाव का मामला नहीं है, बल्कि नियमों को लागू करने का सवाल है। यह नियम कड़े होंगे और जो भी सेवाप्रदाता इनको पूरा करेगा हम उन सभी का यूरोप में स्वागत करेंगे।’’ संघ का यह प्रस्ताव उन ‘उपचारात्मक’दिशानिर्देशों का अंग है जो ब्रेक्जिट के बाद 27 देशों के इस संघ में 5जी नेटवर्क को स्थापित करने में अहम भूमिका अदा करेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।