ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री ने ब्रेक्जिट पर मत विभाजन को लेकर जताया खेद

david-cameron-regreted-about-handling-brexit
कैमरन ने शनिवार को प्रकाशित एक साक्षात्कार में कहा कि वह हर एक दिन ब्रेक्जिट जनमत संग्रह के बारे में सोचते हैं और उन्हें इस बात की गहरी चिंता है कि आगे क्या होगा। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा, मुझे परिणामों को लेकर गहरा खेद है और मैं स्वीकार करता हूं कि मेरा दृष्टिकोण नाकाम रहा

लंदन। ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने ब्रेक्जिट पर मत विभाजन को लेकर खेद जताया है। कैमरन ने ही बेक्र्जिट पर रायशुमारी कराई थी जिसमें लोगों ने ब्रिटेन को यूरोपीय यूनियन से अलग करने के पक्ष में मतदान दिया था। ब्रिटेन के यूरोपीय यूनियन से अलग होने की समयसीमा मार्च 2019 तय की गई थी, लेकिन संसद में मत विभाजन के चलते इस प्रक्रिया को अभी तक पूरा नहीं किया जा सका है। 

इसे भी पढ़ें: बोरिस जॉनसन को एक और झटका, ब्रिटेन की शीर्ष मंत्री ने दिया इस्तीफा

कैमरन ने शनिवार को प्रकाशित एक साक्षात्कार में कहा कि वह  हर एक दिन  ब्रेक्जिट जनमत संग्रह के बारे में सोचते हैं और उन्हें इस बात की गहरी चिंता है कि आगे क्या होगा। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा,  मुझे परिणामों को लेकर गहरा खेद है और मैं स्वीकार करता हूं कि मेरा दृष्टिकोण नाकाम रहा। उन्होंने कहा,  मैंने जो फैसले लिये उन्होंने ही इन नाकामियों में योगदान दिया। मैं नाकाम रहा। 

कैमरन ने स्वीकार किया कि ब्रेक्जिट को लेकर जनमत संग्रह के समय से ही गहराए मत विभाजन को लेकर कई लोग उन्हें दोषी मानते हैं। वह उन्हें माफ नहीं करेंगे, लेकिन उन्होंने अपने फैसले का बचाव किया।

इसे भी पढ़ें: बोरिस जॉनसन बोले, ब्रेक्जिट में देर करने के बजाय मरना पसंद करेंगे

जल्द ही प्रकाशित होने वाले अपने वृत्तांत के प्रचार के मौके पर  द टाइम्स  समाचार पत्र को दिये साक्षात्कार मेंकैमरन ने यह बात कहीं। ब्रिटेन के यूरोपीय यूनियन में बने रहने के पक्षधर कैमरन ने 2016 में हुए ब्रेक्जिट जनमत संग्रह के बाद इस्तीफा दे दिया था। तब से वह चुनाव राजनीति से दूर हैं और ज्यादातर आम लोगों की नजरों से दूर रहते हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़