रूस और यूक्रेन के बीच होने वाली है ऐतिहासिक वार्ता, बेलारूस में डेलिगेशन का हो रहा इंतजार

रूस और यूक्रेन के बीच होने वाली है ऐतिहासिक वार्ता, बेलारूस में डेलिगेशन का हो रहा इंतजार
प्रतिरूप फोटो

बेलारूस से विदेश मंत्रालय ने बताया कि रूस-यूक्रेन की वार्ता करवाने के लिए मंच को तैयार किया जा चुका है। अब महज दोनों देशों के डेलिगेशन का इंतजार है। यूक्रेन पर रूसी सैनिकों के हमले का बेलारूस समर्थन कर रहा है। इसके साथ ही अब बेलारूस ने फैसला किया है कि वो रूस की मदद के लिए अपने सैनिक उतारेगा।

मॉस्को। रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध छिड़ा हुआ है। इसी बीच रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने परमाणु बलों को हाई अलर्ट पर रखने का आदेश दिया है। जिसकी वजह से पूर्वी और पश्चिमी देशों के बीच तनाव बढ़ गया है। इसी बीच यूक्रेन और रूस के बीच में ऐतिहासिक वार्ता होने वाली है। यह बातचीत भारतीय समयानुसार 3 बजकर 30 मिनट पर होगी। 

इसे भी पढ़ें: शीत युद्ध के समय आई थ्योरी का पुतिन यूक्रेन युद्ध में करेंगे इस्तेमाल? जानें क्या है Nuclear Deterrent Force जिसे अलर्ट पर रखा गया 

बेलारूस से विदेश मंत्रालय ने बताया कि रूस-यूक्रेन की वार्ता करवाने के लिए मंच को तैयार किया जा चुका है। अब महज दोनों देशों के डेलिगेशन का इंतजार है।

मदद के लिए आगे आया बेलारूस

यूक्रेन पर रूसी सैनिकों के हमले का बेलारूस समर्थन कर रहा है। इसके साथ ही अब बेलारूस ने फैसला किया है कि वो रूस की मदद के लिए अपने सैनिक उतारेगा। इसकी जानकारी अमेरिकी अधिकारियों के हवाले से सामने आई है। अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि रूस के समर्थन में बेलारूस भी अपने सैनिकों को यूक्रेन में उतारने जा रहा है। हालांकि बेलारूस सीधे तौर पर अभी तक रूस के साथ नहीं आया है। 

इसे भी पढ़ें: यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों की निकासी के प्रयास तेज, विशेष दूत बनकर सीमावर्ती देशों का दौरा करेंगे मोदी सरकार के 4 मंत्री 

नाम न उजागर करने की शर्त पर एक अमेरिकी अधिकारी ने बताया कि बेलारूस के रूस की तरफ से युद्ध में शामिल होने का फैसला आने वाले दिनों में रूस और यूक्रेन के बीच होने वाली बातचीत पर निर्भर करेगा। उन्होंने कहा कि रूसी सैनिकों को यूक्रेनी सेना से कड़ी टक्कर मिल रही है।