ब्रिटिश डॉक्टरों ने दी चेतावनी,अगर बच्चों में दिखे ये लक्षण तो तुरंत करावाएं कोरोना टेस्ट

ब्रिटिश डॉक्टरों ने दी चेतावनी,अगर बच्चों में दिखे ये लक्षण तो तुरंत करावाएं कोरोना टेस्ट

कोरोना वायरस के ऐसे मामले भी सामने आए है जिसमें इंसान में कोरोना के कोई भी लक्षण नही दिखते है लेकिन फिर भी वह कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है। इसी को देखते हुए ब्रिटेन के स्वास्थ्यकर्मियों ने चेतावनी देते हुए कहा कि यह खतरनाक वायरस आगे चलकर और भी विकराल रूप लेने वाला है।

नई दिल्ली। तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस को लेकर पूरी दुनिया की हालत खराब हो चुकी है। अमेरिका से लेकर स्पेन में कोरोना वायरस का कहर जमकर बरपा है। आपको बता दे कि दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते मरने वालों का आंकड़ा 2,06,567 तक पहुंच गया है। दुनियाभर के 193 देशों में अब तक 29,61,540 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं जबकि कम से कम 8,09,400 लोग ठीक हो चुके हैं। कई देशों के वैज्ञानिक कोरोना वायरस की दवा बनाने में जुटे हुए है। लेकिन कोरोना के शरीर पर अलग-अलग प्रभाव से वैज्ञानिकों की कोशिश भी नाकाम होती नजर आ रही है। आपको जानकर हैरानी होगी कि कोरोना के लक्षणों में सिर्फ तेज बुखार आना, सांस लेने में तकलीफ या खांसी अतिरिक्त ही नहीं है। बल्कि इस वायरस के ऐसे मामले भी सामने आए है जिसमें इंसान में कोरोना के कोई भी लक्षण नही दिखते है लेकिन फिर भी वह कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है। इसी को देखते हुए ब्रिटेन के  स्वास्थ्यकर्मियों ने चेतावनी देते हुए कहा कि यह खतरनाक वायरस आगे चलकर और भी विकराल रूप लेने वाला है।  

इसे भी पढ़ें: कोविड-19 के खिलाफ बोरिस जॉनसन ने जीती जंग, स्वस्थ होकर अपने कार्यालय लौटे

ब्रिटेन के बच्चों में दिखे अनोखे कोरोना लक्षण

कोरोना वायरस से बेहाल ब्रिटेन में कुछ ऐसे बच्चे  कोरोना वायरस की चपेट में आए है जिनमें काफी अलग तरीके के लक्षण देखने को मिले है। आमतौर पर कोरोना के लक्षण में तेज बुखार आने से लेकर निमोनिया जैसे लक्षण दिखते है लेकिन इन बच्चों में कोरोना के बिल्कुल अलग और कई तरह के लक्षण देखने को मिले हैं। बड़े से लेकर छोटे उम्र के सभी लोगों में या तो तेज बुखार जैसे आम लक्षण देखने को मिले है तो कई में लो ब्लड प्रेशर, शरीर पर चकत्ते , पेट दर्द, डायरिया और दिल में सूजन जैसे लक्षण दिखाई दे रहे है। 

क्या कहते है एक्सपर्ट

एक्सपर्ट के मुताबिक छोटे बच्चों में ऐसे भयावह लक्षण दिखना काफी चिंताजनक है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि अगर किसी भी बच्चों में ऐसे कोई लक्षण सामने नजर आते है तो वह तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ये पता लगाना काफी असंभव है कि इस तरह के लक्षण पाए जाने वाले कितने बच्चों कोराना से संक्रमित है।

कोरोना पर डॉक्टरों की चेतावनी  

डॉक्टर के मुताबिक अगर शरीर पीला पड़ने लगे या धब्बे आने लगे तो ये एक लक्षण भी हो सकता है। साथ ही ठंड, सांस लेने में दिक्कत बहुत ज्यादा लगे जिससे शरीर काम करना बंद कर दे तो ये भी एक कोरोना के लक्षणों में गिना जाएगा। होंठ के आसपास नीला निशान पड़ रहा हो या शरीर सुन्न पड़ रहा हो या अचानाक रोने लगना, सुस्त पड़ जाना भी कोरोना वायरस के नए लक्षण हो सकते है। अगर कम उम्र के बच्चों में टेस्टीकुलर पेन हो रहा हो तो तुरंत डॉक्टर  के पास जाए। वहीं अगर शरीर पर चकत्ते पड़ने लग जाए तो वो भी एक कोरोना के लक्षण हो सकते है।