गलती से दो भारतीयों ने पाकिस्तान बॉर्डर किया पार, विदेश मंत्रालय ने वापस भेजने की मांग की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 22, 2019   11:07
गलती से दो भारतीयों ने पाकिस्तान बॉर्डर किया पार, विदेश मंत्रालय ने वापस भेजने की मांग की

कुमार ने कहा कि भारत ने लाल के सीमा पार कर जाने के बारे में पिछले साल दिसंबर में पाकिस्तान को सूचित कर दिया था जबकि वेंदम के बारे में मई 2019 में उन्हें बताया गया। उन्होंने कहा कि उसके बाद से हमारे संवाद का कोई जवाब नहीं मिला।

नयी दिल्ली। भारत ने बृहस्पतिवार को पाकिस्तान से अवैध तरीके से घुसने के आरोपों पर गिरफ्तार किए गए दो भारतीयों को वापस करने को कहा और उम्मीद जतायी कि पाकिस्तान के दुष्प्रचार के लिए उनका इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: इंटरनेट स्वतंत्रता के मामले में पाकिस्तान दुनिया के 10 बदतर देशों में से एक

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि दो भारतीयों - प्रशांत वेंदम और धारी लाल को अचानक गिरफ्तार किया जाना भारत के लिए हैरानी की बात है, क्योंकि पाकिस्तान को महीनों पहले सूचित कर दिया गया था कि वे अनजाने में सीमा पार पहुंचे होंगे। उन्होंने बताया कि हमें उम्मीद है कि दोनों भारतीय नागरिकों का इस्तेमाल नहीं होगा या उन्हें पाकिस्तानी दुष्प्रचार का शिकार नहीं बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि गिरफ्तारी के बारे में पाकिस्तानी मीडिया में आयी खबरों के बाद भारत ने पाकिस्तान से संपर्क किया और तुरंत उन तक राजनयिक पहुंच देने का आग्रह किया। उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हमने उनकी सुरक्षा और जल्द वापस भेजने का भी अनुरोध किया है।

इसे भी पढ़ें: अमेरिकी रिपोर्ट में खुलासा, अफगानिस्तान में कमजोर सरकार बनाना चाहता है पाकिस्तान

कुमार ने कहा कि भारत ने लाल के सीमा पार कर जाने के बारे में पिछले साल दिसंबर में पाकिस्तान को सूचित कर दिया था जबकि वेंदम के बारे में मई 2019 में उन्हें बताया गया। उन्होंने कहा कि उसके बाद से हमारे संवाद का कोई जवाब नहीं मिला। मीडिया में इसके बारे में खबरें सामने आने पर हमने उसी दिन पाकिस्तान सरकार से संपर्क साधा और तुरंत उन तक राजनयिक पहुंच देने की मांग की। उन्होंने कहा कि कई भारतीय हैं जो अनजाने में पाकिस्तान की तरफ चले जाते हैं । ऐसी घटनाओं का पता चलने पर हम पाकिस्तान से संपर्क करते हैं। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।