Google Layoff: टेक कंपनी गूगल में बड़े लेवल पर छटनी, 12 हजार कर्मचारियों को दिखाया बाहर का रास्ता

Google
prabhasakshi
अभिनय आकाश । Jan 20, 2023 5:00PM
पिचाई ने कहा कि ये हमारे ध्यान को तेज करने, हमारे लागत आधार को फिर से तैयार करने और हमारी प्रतिभा और पूंजी को हमारी सर्वोच्च प्राथमिकताओं में निर्देशित करने के लिए महत्वपूर्ण कदम हैं।

दिग्गज टेक कंपनी गूगल में बड़े लेवल पर छटनी की घोषणा की गई है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार कंपनियों में तकनीकी छंटनी तेज होने के कारण गूगल की पैरेंट अल्फाबेट ने 20 जनवरी को घोषणा की कि वह दुनिया भर में लगभग 12,000 नौकरियों या 6 प्रतिशत कर्मचारियों की कटौती करने की योजना बना रहा है। छटनी वैश्विक स्तर पर की जा रही है। इसमें सबसे अधिक अमेरिकी कर्मचारियों पर असर पड़ेगा। कंपनी के सीईओ सुंदर पिचाई ने एक ईमेल के जरिए निकाले गए कर्मचारियों को मदद देने की बात कही है। 

इसे भी पढ़ें: IT rules में प्रस्तावित संशोधन प्रेस को दबाने का हथियार : डिजिपब

पिचाई ने कहा कि ये हमारे ध्यान को तेज करने, हमारे लागत आधार को फिर से तैयार करने और हमारी प्रतिभा और पूंजी को हमारी सर्वोच्च प्राथमिकताओं में निर्देशित करने के लिए महत्वपूर्ण कदम हैं। छंटनी ग्लोबल हैं। छंटनी के साथ गूगल कई अन्य टेक दिग्गजों में शामिल हो गया है, जिन्होंने लड़खड़ाती वैश्विक अर्थव्यवस्था और बढ़ती मुद्रास्फीति के बीच बड़े पैमाने पर कर्माचरियों को कम किया है।

इसे भी पढ़ें: Bank लूटने के इरादे से आए तीन बदमाशों से भिड़ीं दो महिला पुलिसकर्मी, सोशल मीडिया पर जमकर हो रही बहादुरी की तारीफ

माइक्रोसॉफ्ट, मेटा प्लेटफ़ॉर्म, ट्विटर और अमेजॉन सभी ने अपनी रैंक घटा दी है। घोषणा के अनुसार, पिचाई ने कहा कि तकनीकी दिग्गज "कर्मचारियों का समर्थन करेंगे क्योंकि वे अपने अगले अवसर की तलाश में हैं। यूएस में पिचाई ने कहा कि कंपनी कर्मचारियों को पूर्ण अधिसूचना अवधि (न्यूनतम 60 दिन) के दौरान भुगतान करेगी। हाल ही में बाइज्यूस ने लगभग 1, 100 से ज्यादा लोगों को नौकरी से निकाल दिया। इसके अलावा, अनएकेडमी, नेदांतु, लिडो, फ्रंटरोजैसी स्टार्टप एडुटेक कंपनियां भी हजारों कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। 

अन्य न्यूज़