FIFA World Cup 2022: भारत ने आपत्ति जताई तो कतर ने दी सफाई, जाकिर नाइक को नहीं दिया गया कोई आधिकारिक आमंत्रण

Zakir Naik
Creative Common
अभिनय आकाश । Nov 23, 2022 8:17PM
भगोड़े इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक को दोहा में फीफा विश्व कप के उद्घाटन में शामिल होने के लिए कोई आधिकारिक निमंत्रण नहीं दिया गया था।

कतर के दोहा में फीफा विश्प कप 2022 का आगाज हो चुका है। लेकिन आयोजन के साथ ही खेल आयोजन विवादों में घिर गया। वजह है इस्लामिक कट्टरपंथी जाकिर नाइक का फीफा विश्व  कप के आयोजन में शामिल होना। जिसको लेकर भारत की तरफ से भी आपत्ति जताई गई है। अब इसको लेकर कतर की तरफ से सफाई आई है। इंडिया टुडे ने सूत्रों के हवाले से अपनी रिपोर्ट में कहा है कि भगोड़े इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक को दोहा में फीफा विश्व कप के उद्घाटन में शामिल होने के लिए कोई आधिकारिक निमंत्रण नहीं दिया गया था। सूत्रों के अनुसार, कतर ने पहले की रिपोर्टों को भारत-कतर द्विपक्षीय संबंधों पर प्रतिकूल प्रभाव डालने के लिए जानबूझकर तीसरे देशों द्वारा फैलाई जा रही "गलत सूचना" कहा है।

इसे भी पढ़ें: FIFA World Cup 2022 : कनाडा 36 साल बाद खेलेगा विश्वकप मुकाबला, मजबूत टीम बेल्जियम से मिलेगी चुनौती

यह बयान तब आया जब नई दिल्ली ने दोहा को बताया कि अगर इस्लामवादी जाकिर नाइक को औपचारिक रूप से वीवीआईपी बॉक्स से समारोह का भव्य उद्घाटन देखने के लिए आमंत्रित किया जाता है तो वह फीफा विश्व कप उद्घाटन के लिए उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ की यात्रा को खत्म करने के लिए मजबूर हो जाएगा। विवादास्पद टेलीवेंजेलिस्ट जाकिर नाइक भारत में मनी लॉन्ड्रिंग और अभद्र भाषा के कई मामलों का सामना कर रहे हैं और उनके संगठन इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन को देश में प्रतिबंधित कर दिया गया है। 

इसे भी पढ़ें: लियोनेल मेस्सी ने FIFA World Cup 2022 में नया इतिहास रचा, पेले और रोनाल्डो की बराबरी पर आए

नाइक पर आईआरएफ के अनुयायियों को "विभिन्न धार्मिक समुदायों और समूहों के बीच दुश्मनी, घृणा, या दुर्भावना की भावनाओं को बढ़ावा देने या बढ़ावा देने का प्रयास करने" को प्रोत्साहित करने और सहायता करने का भी आरोप है। नाइक के खिलाफ एक आरोप यह है कि वह जबरन धर्मांतरण में शामिल था। सबूतों के आधार पर उसके खिलाफ दूसरे धर्म के लोगों को इस्लाम कबूल कराने के आरोप में चार्जशीट दाखिल की गई थी। 

अन्य न्यूज़