किम जोग की तानाशाही जारी, उत्तर कोरिया ने महीने में चौथी बार संदिग्ध मिसाइलों का प्रक्षेपण किया

kim jong un
दक्षिण कोरिया की सेना ने कहा कि अमेरिका के साथ ठप पड़े कूटनीति संबंधों और वैश्विक महामारी के मद्देनजर सीमा बंद होने के बीच अपनी सेना की ताकत प्रदर्शित करने के एकमात्र लक्ष्य के साथ उत्तर कोरिया ने सोमवार को दो संदिग्ध बैलिस्टिक मिसाइलेंसमुद्र में दागी।

सियोल। दक्षिण कोरिया की सेना ने कहा कि अमेरिका के साथ ठप पड़े कूटनीति संबंधों और वैश्विक महामारी के मद्देनजर सीमा बंद होने के बीच अपनी सेना की ताकत प्रदर्शित करने के एकमात्र लक्ष्य के साथ उत्तर कोरिया ने सोमवार को दो संदिग्ध बैलिस्टिक मिसाइलेंसमुद्र में दागी। इस महीने उसके द्वारा किया गया यह चौथा प्रक्षेपण है। दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने कहा कि उत्तर कोरिया ने दो बैलिस्टिक मिसाइलें सुनान में एक स्थान पर दागी, लेकिन मिसाइल कितनी दूर जाकर गिरी इसकी तत्काल कोई जानकारी नहीं दी। सुनान में प्योंगयांग का अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है।

इसे भी पढ़ें: बिरजू महाराज का निधन संपूर्ण कला जगत के लिए अपूरणीय क्षति: प्रधानमंत्री मोदी

जापान के प्रधानमंत्री कार्यालय ने भी कहा कि उसे भी उत्तर कोरिया के एक संभावित बैलिस्टिक मिसाइल प्रक्षेपण करने की जानकारी मिली है, लेकिन फिलहाल इस संबंध में विस्तृत जानकारी नहीं दी। जापान के प्रधानमंत्री फ़ुमिओ किशिदा ने प्रक्षपेण के बारे में जानकारी एकत्रित करने और जहाजों तथा विमानों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपनी सरकार को हर संभव प्रयास करने का निर्देश दिया। जापान के तटरक्षक बल ने जापानी जलक्षेत्र के चारों ओर यात्रा करने वाले पोतों को गिरती वस्तुओं के प्रति सतर्क रहने को लेकर आगाह किया है।

इसे भी पढ़ें: विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस की मणिपुर इकाई के उपाध्यक्ष ने पद से इस्तीफा दिया

अभी किसी तरह के नुकसान की कोई खबर नहीं है। यह प्रक्षेपण उत्तर कोरिया द्वारा 5 जनवरी और 11 जनवरी को एक कथित हाइपरसोनिक मिसाइल के उड़ान परीक्षण और शुक्रवार को एक ट्रेन से बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किए जाने के बाद किया गया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़