बंदूक के दम पर अफगानिस्तान पर कब्जा करने वाले तालिबान ने रूस को दी ये सलाह

बंदूक के दम पर अफगानिस्तान पर कब्जा करने वाले तालिबान ने रूस को दी ये सलाह

तालिबान का कहना है कि वो हालात पर करीब से नजर बनाए हुए है। तालिबान ने दोनों पक्षों से संयम की अपील भी की है। हद तो तब हो गई जब तालिबान ने सभी पक्षों को ऐसी स्थिति से बचने की सलाह दी है जो हिंसा को बढ़ावा देती है। तालिबान

रूस और यूक्रेन की जंग के बीच एक ऐसी खबर आई है जिसे हजम करना बहुत ही मुश्किल है। जंग के माहौल के बीच अब तालिबान दुनिया को शांति का पाठ पढ़ाने निकला है। रूस और यूक्रेन की जंग में तालिबान शांति की पैरवी करता नजर आ रहा है और दोनों देशों को हिंसा से दूर रहने का ज्ञान भी दे रहा है। यूक्रेन और रूस के बीच युद्ध को लेकर तालिबान की तरफ से बयान जारी किया गया है। तालिबान ने बयान जारी करके शांति की अपील की है। तालीबान ने दोनों देशों से शांति बहाल करने और बातचीत पर जोर देने की अपील की है।

इसे भी पढ़ें: यूक्रेन संकट पर हरीश रावत का बड़ा बयान, बोले- सरकार नीतियों को जनता के सामने रखें

तालिबान का कहना है कि वो हालात पर करीब से नजर बनाए हुए है। तालिबान ने दोनों पक्षों से संयम की अपील भी की है। हद तो तब हो गई जब तालिबान ने सभी पक्षों को ऐसी स्थिति से बचने की सलाह दी है जो हिंसा को बढ़ावा देती है। तालिबान ने सभी संबंधित पक्षों से अपील की है कि वो यूक्रेन में रहने वाले अफगान नागरिकों और प्रवासियों के जीवन की रक्षा करने पर भी ध्यान दें। तालिबान ने दोनों ही देशों से लड़ाई की जगह बातचीत का रास्ता अपनाने के लिए कहा है।

इसे भी पढ़ें: थम सकता है रूस और यूक्रेन के बीच वॉर, जिनपिंग ने पुतिन से की बात, उच्च स्तरीय वार्ता करने को तैयार

गौरतलब है कि ये वही तालिबान है जिसने पिछले साल अगस्त के महीने में बंदूक के दम पर अफगानिस्तान पर कब्जा किया था। इस मुद्दे पर तालिबान का बयान दिखाता है कि वो शांति की बात करके अपनी छवि सुधारने में लगा है। ताकी दुनिया से उसको मान्यता मिल पाए।