यूक्रेन संकट पर हरीश रावत का बड़ा बयान, बोले- सरकार नीतियों को जनता के सामने रखें

यूक्रेन संकट पर हरीश रावत का बड़ा बयान, बोले- सरकार नीतियों को जनता के सामने रखें
प्रतिरूप फोटो

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि केंद्र की सरकार वहां फंसे भारतीयों को लेकर नीतियों को स्पष्ट क्यों नही कर रही है। जब स्थिति खराब थी तभी क्यों नही कदम उठाया गया। प्रधानमंत्री मोदी को सामने आकर जनता को नीतियों के बारे में बताना चाहिए।

वाराणसी। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत काशी में उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर पहुंचे हैं। जहां पर उन्होंने यूक्रेन और रूस के युद्ध को लेकर बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि केंद्र की सरकार वहां फंसे भारतीयों को लेकर नीतियों को स्पष्ट क्यों नही कर रही है। जब स्थिति खराब थी तभी क्यों नही कदम उठाया गया। प्रधानमंत्री मोदी को सामने आकर जनता को नीतियों के बारे में बताना चाहिए। उन्होंने कहा कि युद्ध से आर्थिक स्थिति खराब होने वाली है तो सरकार के क्या कदम होंगे वो बताएं। 

इसे भी पढ़ें: हरीश रावत को उम्मीद, उत्तराखंड में कांग्रेस को इस बार मिलेंगी 45-48 सीटें 

हरीश रावत ने कहा हम यूपी में मजबूती से लड़ रहे हैं।संवैधानिक संस्थाओं को सरकार कुचल रही है। यूपी की जनता महंगाई और बेरोजगारी से परेशान है। सार्वजनिक क्षेत्रों को सरकार लगातार बेच रही हैं। गैरवाजिब टैक्स से जनता त्रस्त है। घरेलू गैस, पेट्रोल और डीजल की कीमतों पर कोई लगाम नही है। खाद्य पदार्थों की कीमतें बढ़ती जा रही है। राहुल गांधी ने बढ़ती समस्या से सरकार को पहले ही आगाह किया था। हाथरस, उन्नाव, लखीमपुर की घटना यूपी के लोगो को याद होगा ही। प्रियंका गांधी लगातर महिलाओं के लिए काम कर रही है। जिसका फायदा दिख भी रहा है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।