पत्रकार डैनियल पर्ल के दोषी आतंकी उमर की सजा पलटने पर पाक से खफा हुआ अमेरिका

daniel pearl
अमेरिकी राजनयिक एलिस वेल्स ने कहा, ‘‘डेनियल पर्ल की हत्या के दोषियों की सजा पलटना आतंकवाद के हर पीड़ित का अपमान करना है।’’ वेल्स ने हालांकि पाकिस्तानी अभियोजक के फैसले के खिलाफ अपील करने के निर्णय का स्वागत भी किया।

वाशिंगटन। अमेरिका ने पाकिस्तान के उस फैसले की आलोचना की है जिसमें अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल की हत्या के मुख्य दोषी की मौत की सजा कैद में बदल दी गई थी। उसने इस फैसले को ‘अपमानजनक’ बताया। दक्षिण एशिया मामलों की शीर्ष अमेरिकी राजनयिक एलिस वेल्स ने कहा, ‘‘डेनियल पर्ल की हत्या के दोषियों की सजा पलटना आतंकवाद के हर पीड़ित का अपमान करना है।’’ वेल्स ने हालांकि पाकिस्तानी अभियोजक के फैसले के खिलाफ अपील करने के निर्णय का स्वागत भी किया। उन्होंने कहा, ‘‘ हम पाकिस्तान के फैसले के खिलाफ अपील करने के निर्णय का स्वागत करते हैं।

इसे भी पढ़ें: कोरोना वारयस के डर के साये में जी रहे हैं शिविरों में रह रहे रोहिंग्या शरणार्थी

डेनियल के अपहरण और हत्या के मामले के आरोपियों को पूरी सजा मिलनी चाहिए।’’ गौरतलब है कि पाकिस्तान की एक अदालत ने 2002 में अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल की हत्या मामले के मुख्य दोषी एवं ब्रिटिश मूल के अलकायदा नेता अहमद उमर सईद शेख की मौत की सजा बृहस्पतिवार को सात साल कैद में बदल दी और साथ ही तीन अन्य को मामले में रिहा कर दिया। ‘द वॉल स्ट्रीट जर्नल’ के दक्षिण एशिया ब्यूरो प्रमुख 38 वर्षीय पर्ल को 2002 में कराची से अगवा कर लिया गया था और उसके बाद उनकी हत्या कर दी गई थी। वह पाकिस्तान की जासूसी एजेंसी आईएसआई और आतंकवादी संगठन अल-कायदा के बीच संबंध की पड़ताल करने वाली एक स्टोरी के सिलसिले में वहां गए थे। वेल्स ने पाकिस्तान के अभियोजकों की ओर से मिले संकेतों का स्वागत किया, जिनके मुताबिक वे शेख की सजा पलटने के खिलाफ अपील करेंगे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़