दिल्ली में कोरोना के 1550 नए मामले, वैक्सीनेशन को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी

दिल्ली में कोरोना के 1550 नए मामले, वैक्सीनेशन को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी

इन सब के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अमेरिकी कंपनी फाइजर और मॉडर्ना ने दिल्ली सरकार को टीके बेचने से मना कर दिया है क्योंकि वे केंद्र से सीधे तौर पर बात करना चाहती हैं।

दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों में कमी देखी जा रही है। राष्ट्रीय राजधानी में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस के 1550 नए मामले सामने आए हैं। लगभग 2 महीने के बाद संक्रमण में सबसे कम बढ़त देखी जा रही है। हालांकि मौत के मामले अब भी ज्यादा हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार पिछले 24 घंटे में 207 लोगों की मौत हुई है। पिछले 24 घंटे में 4375 लोग रिकवर हुए हैं। दिल्ली में कोरोना वायरस के कुल मामले 14,18,418 है, जबकि कुल रिकवरी 13,70,431 है। अब तक 23,409 लोगों की मृत्यु हुई है और सक्रिय मामलों की संख्या 24578 है।

इन सब के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अमेरिकी कंपनी फाइजर और मॉडर्ना ने दिल्ली सरकार को टीके बेचने से मना कर दिया है क्योंकि वे केंद्र से सीधे तौर पर बात करना चाहती हैं। केजरीवाल ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमने फाइजर और मॉडर्ना के साथ बात की थी। उन्होंने कहा कि वे हमें टीके नहीं देंगे और सीधे केंद्र के साथ वार्ता करेंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं केंद्र सरकार से हाथ जोड़कर अपील करता हूं कि इन कंपनियों के साथ बात कर टीकों का आयात करें और उन्हें राज्यों के बीच वितरित करें।’’ केजरीवाल की टिप्पणी के एक दिन पहले पंजाब के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था कि मॉडर्ना ने सीधे राज्य सरकार को टीके देने से इनकार करते हुए कहा है वह केवल केंद्र के साथ बात करेगी। केजरीवाल ने कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर धीरे-धीरे घट रही है और दिल्ली सरकार तीसरी लहर से निपटने की तैयारी में जुट चुकी है। उन्होंने कहा, ‘‘हमने चीन से 6,000 ऑक्सीजन सिलेंडर आयात किये हैं। तीन डिपो तैयार किए जा रहे हैं, जहां दो-दो हजार सिलेंडर होंगे। तीसरी लहर में इनका इस्तेमाल होगा। विदेश मंत्रालय और बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास ने इसमें बहुत मदद की, वरना यह संभव नहीं होता।’’ 

इसे भी पढ़ें: मनीष सिसोदिया ने की केंद्र से अपील, वैक्सीन निर्माता कंपनी मॉर्डना-फाइजर टीका बनाने की दें मंजूरी

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी कहा कि फाइजर और मॉडर्ना ने टीके सीधे दिल्ली सरकार को बेचने से मना कर दिया है। सिसोदिया ने ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दिल्ली में टीके खत्म होने के बाद 18 से 44 साल आयुवर्ग के लोगों के लिए सभी 400 टीकाकरण केंद्रों को बंद कर दिया गया है। वहीं, 45 साल से अधिक उम्र के लोगों, स्वास्थ्य कर्मियों तथा अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले लोगों के लिए कोवैक्सीन के केंद्रों को भी टीकों की कमी के कारण बंद किया गया है। सिसोदिया ने कहा कि लोगों को कोरोना वायरस से बचाने के लिए इस समय टीकाकरण बहुत जरूरी है और उन्होंने मॉडर्ना, फाइजर तथा जॉनसन एंड जॉनसन कंपनियों से टीकों के लिए बात की है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...