नंदीग्राम में मतदान वाले दिन केंद्रीय बलों की 22 कंपनियां होंगी तैनात

Nandigram
पश्चिम बंगाल में हो रहे विधानसभा चुनाव के लिये प्रदेश के नंदीग्राम में मतदान के लिये केंद्रीय बलों की 22 कंपनियां तैनात की जाएंगी। चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में हो रहे विधानसभा चुनाव के लिये प्रदेश के नंदीग्राम में मतदान के लिये केंद्रीय बलों की 22 कंपनियां तैनात की जाएंगी। चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। प्रदेश के नंदीग्राम विधानसभा सीट पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और भाजपा के शुभेंन्दू अधिकारी चुनाव मैदान में हैं। अधिकारी, बनर्जी के पूर्व सहयोगी रह चुके हैं जो विधानसभा चुनाव के ऐलान से पहले भाजपा में शामिल हो गये थे। इस विधानसभा क्षेत्र में कुल 355 मतदान केंद्र हैं और उनमें से 75 प्रतिशत में वेबकास्टिंग की सुविधा होगी।

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में कोरोना के 2,173 नये मामले, 10 लोगों की मौत

निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने पीटीआई-को बताया चुनाव आयोग ने नंदीग्राम में एक अप्रैल को मतदान वाले दिन 22 कर्मियों वाले त्वरित प्रतिक्रिया दल (क्यूआरटी) को तैनात करने का फैसला किया है। उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग ने अधिकारियों की एक टीम भी गठित की है जो मतदान के दिन नंदीग्राम में कार्यवाही की निगरानी करेगी। अधिकारी ने कहा, ‘‘हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि नंदीग्राम में स्वतंत्र और निष्पक्ष मतदान हो।’’

इसे भी पढ़ें: राहुल सिंह लोधी ने जमा किया दमोह से नामांकन पत्र, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष और मुख्यमंत्री रहे उपस्थित

उन्होंने कहा, ‘‘नंदीग्राम में हम केंद्रीय बलों की 22 कंपनियों को तैनात करेंगे। उनके साथ ही क्यूआरटी के 22 कर्मी होंगे जो किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार होंगे।’’ केंद्रीय बलों की एक कंपनी में 100 कर्मी होते हैं। अधिकारी ने कहा कि कोलकाता में मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय की एक विशेष टीम नंदीग्राम में स्थिति की निगरानी करेगी। उन्होंने कहा, ‘‘वे वहां के सभी मतदान केंद्रों में वेबकास्टिंग पर नजर रखेंगे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़