पोषण शक्ति निर्माण’ योजना में 515 करोड़ रूपए के बजट को प्रस्तावित किया

CS Haryana
मुख्य सचिव ने कहा कि विभाग द्वारा ‘प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण’ योजना के लिए अनुमोदित बजट व खर्च में सह-संबंध होना चाहिए। उन्होंने अधिकारियों को कहा कि सरकार का उक्त योजना चलाने का मुख्य उद्देश्य मौलिक शिक्षा में एनरोलमैंट तथा उनकी नियमित उपस्थिति बनाए रखना है, साथ ही उनके शारीरिक पोषण में वृद्घि करना है।

चंडीगढ़ ।  मुख्य सचिव संजीव कौशल ने मौलिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश वे इस बात का अध्ययन करें कि फोर्टिफाइड आटा व तेल उपलब्ध करवाने के बाद स्कूली विद्यार्थियों की सेहत में कितना सकारात्मक असर पड़ा है।

 

कौशल आज वीडियो कान्फ्रैंसिंग के माध्यम से ‘प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण’ (मिड-डे मिल)योजना की ‘स्टेट लेवल स्टेयरिंग-कम-मॉनिटरिंग कमेटी’ की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

मुख्य सचिव ने कहा कि विभाग द्वारा ‘प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण’ योजना के लिए अनुमोदित बजट व खर्च में सह-संबंध होना चाहिए। उन्होंने अधिकारियों को कहा कि सरकार का उक्त योजना चलाने का मुख्य उद्देश्य मौलिक शिक्षा में एनरोलमैंट तथा उनकी नियमित उपस्थिति बनाए रखना है, साथ ही उनके शारीरिक पोषण में वृद्घि करना है।

इसे भी पढ़ें: हरियाणा सरकार ई-व्हीकल पोलिसी जल्द ही ला रही --दुष्यंत चौटाला

संजीव कौशल की अध्यक्षता में उक्त योजना हेतु वर्ष 2022-23 के लिए कुल 515 करोड़ रूपए के बजट को प्रस्तावित किया गया जिसमें से केंद्र सरकार का 194.52 करोड़ तथा राज्य सरकार का 320.48 करोड़ रूपए का हिस्सा होगा।

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने किया लाखों युवाओं से सीधा संवाद

राज्य में कुल 14,441 सरकारी स्कूल हैं जिनमें विद्यार्थियों को गेहूं, चावल व बाजरा पर आधारित व्यंजनों के अलावा दूध आदि दिया जाता है ताकि उनके शरीर को सभी पोषक तत्व मिल सकें। बैठक में जानकारी दी गई कोविड-19 के दौरान पात्र स्कूली विद्यार्थियों को पूरी तरह से सैनेटाइज्ड करके बंद पैकेटों में सूखा राशन उपलब्ध करवाया गया। यही नहीं खाना पकाने के लिए होने वाले खर्च को भी उन विद्यार्थियों के बैंक अकाऊंट में डीबीटी के माध्यम से जमा करवाया गया है। हरियाणा में सप्ताह  में तीन दिन विद्यार्थियों को  मीठा फ्लेवरमिल्क दिया जाता है। मुख्य सचिव की अध्यक्षता में इस बैठक में आगामी आम वित्त बजट में ‘प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण’ योजना के लिए प्रस्तावित बजट पर भी चर्चा की गई।

इस अवसर पर वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री टी.वी.एस.एन प्रसाद,स्कूल शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. महावीर सिंह,हैफेड के एमडी श्री ए. श्रीनिवास, स्कूल शिक्षा विभाग के महानिदेशक श्री जे. गणेशन समेत अन्य वरिष्ठï अधिकारी उपस्थित थे।

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री प्रगतिशील किसान सम्मान’ पुरस्कार के लिए ऑनलाइन आवेदन

चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय, हिसार का स्थापना दिवस 2 फरवरी को धूमधाम से मनाया जाएगा। इस उपलक्ष्य पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर बी.आर. काम्बोज मुख्य अतिथि होंगे। विश्वविद्यालय  के प्रवक्ता ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि 2 व 3 फरवरी,2022 को विश्वविद्यालय के नेहरू पुस्तकालय में पुस्तक प्रदर्शनी, कृषि महाविद्यालय के सब्जी विज्ञान विभाग में स्मार्ट क्लास रूम तथा बायो केमिस्ट्री डिपार्टमेंट में लैब का उद्घाटन, क्रिकेट ग्राउंड व टेनिस कोर्ट का नींव पत्थर, हल्दी प्रोसेसिंग लैब व री-सर्कुलिंग एक्वाकल्चर सिस्टम की आधारशिला रखी जाएगी।

 

विश्वविद्यालय के नेहरू पुस्तकालय में आयोजित पुस्तक प्रदर्शनी में कृषि विज्ञान, सहायक विज्ञान, गृह विज्ञान, खाद्य विज्ञान एवं तकनीकी, नैनो टेक्नोलॉजी, कृषि व्यवसाय, मत्स्य विज्ञान, प्रतियोगी एवं सामान्य ज्ञान की पुस्तकों को प्रदर्शित किया जाएगा। इस पुस्तक प्रदर्शनी में 11 जाने-माने पब्लिशर्स हिस्सा लेंगे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़