• इंदौर में माफिया के अवैध कब्जों पर कार्रवाई लगातार जारी

दिनेश शुक्ल Nov 21, 2020 22:39

गौरतलब है कि पुलिस और नगर निगम ने पूर्वी और पश्चिमी क्षेत्र के सात-सात ऐसे गुंडे चिह्नित किए हैं, जिन पर कई गंभीर अपराध दर्ज हैं। इससे पहले साजिद चंदनवाला, जीतेंद्र उर्फ नानू तायड़े, अरुण वर्मा, लकी वर्मा, प्यारे मियां और अश्विन सिरोलिया के अवैध निर्माण व अतिक्रमण तोड़े जा चुके हैं। वही आगामी आदेश तक कार्रवाई लगातार चलेगी।

इंदौर।मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में  गुंडों और माफियाओं द्वारा किए गए अवैध कब्जों पर नगर निगम और पुलिस की संयुक्त कार्रवाई शनिवार को भी जारी रही। शुक्रवार को यौन शोषण के आरोपित प्यारे मियां का लालाराम नगर स्थित घर गिराया गया था। वहीं, शनिवार सुबह नगर निगम की टीम ने शेख मुख्तियार के अवैध कब्जे को जमींदोज कर दिया। जिला प्रशासन और पुलिस के साथ मिलकर नगर निगम टीम ने विजय नगर थाना क्षेत्र में शेख मुख्तियार द्वारा किए गए अवैध कब्जों को जमींदोज कर दिया। 

इसे भी पढ़ें: फर्जी दस्तावेजों से लाखों की धोखाधड़ी करने वाले पिता-पुत्र गिरफ्तार

नगर निगम के सूत्रों के अनुसार इस कार्रवाई की तैयारी शुक्रवार रात से ही शुरू कर दी गई थी। निगम के कर्मचारी शनिवार सुबह एलआइजी लिंक रोड चौराहा पर इकट्ठा हुए। उनके साथ तोड़फोड़ के लिए पोकलेन मशीन और बुलडोजर भी थे। सबसे पहले नजदीक ही राधिका कुंज में शेख मुख्तियार के ग्रीन बेल्ट पर बने गोदाम और दुकानों को निगम के बुलडोजर ने ध्वस्त कर दिया। पहले भी निगम मुख्तियार के अवैध कब्जों पर कार्रवाई कर चुका है, लेकिन उसने वहां दोबारा कब्जे कर लिए थे। कार्रवाई के दौरान निगम के अपर आयुक्त देवेंद्र सिंह, उपायुक्त लता अग्रवाल और सहायक रिमूवल अधिकारी बबलू कल्याणे भी पुलिस बल और निगमकर्मियों के साथ मौजूद थे।

इसे भी पढ़ें: प्रेमिका को गोली मारने के बाद होटल में युवक ने की आत्महत्या

गौरतलब है कि पुलिस और नगर निगम ने पूर्वी और पश्चिमी क्षेत्र के सात-सात ऐसे गुंडे चिह्नित किए हैं, जिन पर कई गंभीर अपराध दर्ज हैं। इससे पहले साजिद चंदनवाला, जीतेंद्र उर्फ नानू तायड़े, अरुण वर्मा, लकी वर्मा, प्यारे मियां और अश्विन सिरोलिया के अवैध निर्माण व अतिक्रमण तोड़े जा चुके हैं। वही आगामी आदेश तक कार्रवाई लगातार चलेगी। प्रदेश के भोपाल व ग्वालियर समेत सभी बड़े शहरों में राज्य सरकार के निर्देश पर गुंडों के अवैध निर्माण और अतिक्रमण तोड़ने की मुहिम चलाई जा रही है।