उपचुनाव की बैठक के बाद कांग्रेस में देखी गई गुटबाजी, अरुण यादव के बैठक न पहुचंने पर कांग्रेसी नेताओं ने ली चुटकी

उपचुनाव की बैठक के बाद कांग्रेस में देखी गई गुटबाजी, अरुण यादव के बैठक न पहुचंने पर कांग्रेसी नेताओं ने ली चुटकी

अपनी आदतों से मजबूर कांग्रेस की बैठक में एक फिर गुटबाजी देखने को मिली। दरअसल बैठक में खंडवा लोकसभा से प्रबल दावेदार अरुण यादव नहीं पहुंचे थे। जिसके बाद बैठक में मौजूद नेता और विधायक अलग ही तर्क देते हुए नजर आए।

भोपाल। मध्य प्रदेश में उपचुनाव को लेकर कांग्रेस की बड़ी बैठक हुई। बैठक में कमलनाथ ने कार्यकर्ताओं और नेताओं को एकजुट होकर जमीन पर काम करने की नसीहत दी। लेकिन अपनी आदतों से मजबूर कांग्रेस की बैठक में एक फिर गुटबाजी देखने को मिली। दरअसल बैठक में खंडवा लोकसभा से प्रबल दावेदार अरुण यादव नहीं पहुंचे थे। जिसके बाद बैठक में मौजूद नेता और विधायक अलग ही तर्क देते हुए नजर आए। 

इसे भी पढ़ें:मध्य प्रदेश में कांग्रेस की चुनावी तैयारी शुरू, कमलनाथ ने बुलाई महत्वपूर्ण बैठक 

आपको बता दें कि अरुण यादव के नहीं पहुंचने पर कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने तंज कसते हुए कहा कि उनके पास कॉलेज और एक हजार एकड़ जमीन है जहां वे खेती करते है। उन्होंने कहा कि शायद वे उसमें व्यस्त होंगे।

सज्जन सिंह वर्मा ने अरुण यादव को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि उन्हें या तो राजनीति पर ध्यान देना चाहिए या अपनी खेती पर। जानकरी मिली है कि  अरुण यादव भोपाल मे ही थे लेकिन उसके बावजूद भी बैठक में नहीं पहुंचे।

इसे भी पढ़ें:कमलनाथ का फूटा दर्द, बताया चुनाव हारने का कारण 

यह भी बताया जा रहा है कि अरुण यादव निर्दलीय विधायक सुरेन्द्र सिंह शेरा की कमलनाथ से हुई मुलाकात से नाराज हो गए है। दरअसल एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है जहां सुरेन्द्र सिंह शेरा अपनी पत्नी के लिए खंडवा से टिकट की मांग कर रहे हैं। दरअसल सुरेन्द्र सिंह शेरा वो विधायक है जो बीजेपी सरकार को समर्थन दे रहे है लेकिन टिकट कांग्रेस से पत्नी के लिए मांग रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।